प्रेग्नेंसी के दौरान कान में इंफेक्शन का बढ़ जाता है खतरा, जानें इसका कारण और बचाव के आसान उपाय

प्रेग्नेंसी के दौरान साफ-सफाई का ध्‍यान न रखने के कारण कानों में इंफेक्‍शन हो सकता हे, जानें कानों के इंफेक्‍शन से बचने के उपाय

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Aug 24, 2021 18:12 IST
प्रेग्नेंसी के दौरान कान में इंफेक्शन का बढ़ जाता है खतरा, जानें इसका कारण और बचाव के आसान उपाय

कानों में इंफेक्‍शन कभी भी हो सकता है पर प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले इंफेक्‍शन का इलाज जल्‍द से जल्‍द करना जरूरी होता है क्‍योंक‍ि इस दौरान शरीर की रोग प्रत‍िरोधक क्षमता कम होती है ऐसे में इंफेक्‍शन का इलाज न क‍िया जाए तो संक्रमण बढ़ सकता है। प्रेग्नेंसी के दौरान कानों में इंफेक्‍शन होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे साफ-सफाई पर ध्‍यान न देना, कानों में वैक्‍स जमा होना, आराम के दौरान कानों पर प्रेशर पड़ना आद‍ि। कानों में इंफेक्‍शन के कारण आपको तेज दर्द या सूजन का अहसास हो सकता है इसल‍िए इसका इलाज जल्‍द से जल्‍द करवाएं। इस लेख में हम प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले काने के इंफेक्‍शन का कारण और उपायों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

ear infection

(image source:momjunction)

प्रेग्नेंसी के दौरान कान में इंफेक्‍शन क्‍यों होता है? (Causes of ear infection during pregnancy)

प्रेग्नेंसी के दौरान कान में इंफेक्‍शन होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे- 

  • प्रेग्नेंसी के दौरान साफ-सफाई का ध्‍यान न रखने से कानों में बैक्‍टीर‍िया या वायरस बढ़ने के कारण कानों में इंफेक्‍शन हो सकता है, बैक्‍टीर‍िया और वायरस के कारण आपके कान में दर्द, सूजन जैसा अहसास हो सकता है।
  • कान में वैक्‍स जमने के कारण भी कानों में प्रेशर बनता है। ईयर इंफेक्‍शन बढ़ने के साथ कानों में दर्द भी बढ़ सकता है। कान में ब्‍लॉकेज के कारण भी इंफेक्‍शन हो सकता है इसल‍िए आप समय-समय पर कानों को डॉक्‍टर से क्‍लीन करवाती रहें।
  • जुकाम होने के कारण भी कानों में इंफेक्‍शन हो सकता है क्‍योंक‍ि नाक में तरल पदार्थ भरने के कारण कानों में संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है।
  • कुछ डॉक्‍टर मानते हैं क‍ि प्रेग्नेंसी के दौरान कान के इंफेक्‍शन का कारण हार्मोनल चेंज हो सकता है। हार्मोन्‍स बदलने के कारण शरीर पर बुरा और अच्‍छा प्रभाव पड़ता है प्रेग्नेंसी के दौरान हार्मोनल चेंज के कारण इंफेक्‍शन भी हो सकता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान कान में इंफेक्‍शन के लक्षण (Symptoms of ear infection during pregnancy)

प्रेग्नेंसी के दौरान कान में इंफेक्‍शन के लक्षण एक सामान्‍य व्‍यक्‍ति जैसे ही होते हैं-

  • इंफेक्‍शन होने पर कानों से सुनाई देना कम हो जाता है
  • कानों में घंटी जैसी आवाज सुनाई दे सकती है, स‍िर में तेज दर्द हो सकता है
  • कानों से तरल पदार्थ न‍िकल सकता है
  • कानों में दबाव महसूस हो सकता है
  • कानों के बाहर या अंदर सूजन आ सकती है
  • कान में इंफेक्‍शन होने से स‍िर में तेज दर्द हो सकता है 

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी के दौरान छाछ पीने के फायदे, नुकसान और जरूरी सावधानियां

प्रेग्नेंसी के दौरान कान का इंफेक्‍शन कैसे ठीक करें? (How to cure ear infection during pregnancy)

प्रेग्नेंसी के दौरान कान का इंफेक्‍शन होने पर आप ये नुस्‍खे आजमा सकते हैं- 

1. एप्‍पल साइडर विनेगर (Apple cider vinegar)

apple vinegar

(image source:gqindia.com)

ईयर इंफेक्‍शन दूर करने के ल‍िए आप एप्‍पल साइडर व‍िनेगर का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। एप्‍पल साइडर व‍िनेगर को आप पानी के साथ म‍िक्‍स करें और कान में बाहर की तरफ से कॉटन की मदद से लगाएं तो इंफेक्‍शन दूर होगा। फंगल इंफेक्‍शन दूर करने के ल‍िए एप्‍पल साइडर व‍िनेगर का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। आप इस नुस्‍खे को द‍िन में दो से तीन बार सकती हैं। 

2. नमक (Salt)

salt

(image source:reed.com)

आप नमक की मदद से भी कान में इंफेक्‍शन को ठीक कर सकती है इसके ल‍िए आपको नमक को कढ़ाई में डालकर गरम कर लेना है, फ‍िर उसे एक थैले नुमा बैग में रखना है और पोटली बनाकर नमक का सेक कानों के ऊपर करना है, इससे कानों में मौजूद इंफेक्‍शन ठीक हो सकता है। 

3. ऑल‍िव ऑयल (Olive oil)

आप ऑल‍िव ऑयल की मदद से भी कानों का इंफेक्‍शन दूर सकती हैं, इसके ल‍िए आपको ऑल‍िव ऑयल को कॉटन बॉल की मदद से कानों के आसपास के एर‍िया में लगाना है, फंगल या बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन दूर करने में ऑल‍िव ऑयल फायदेमंद माना जाता है। आप लहसुन का तेल का इस्‍तेमाल कर सकती है, कानों का इंफेक्‍शन दूर करने के ल‍िए लहसुन का तेल भी फायदेमंद माना जाता है।

4. हॉट टॉवल (Hot towel)

hot towel

(image source:bustle.com)

प्रेग्नेंसी के दौरान कान का इंफेक्‍शन दूर करने का सबसे आसान तरीका है गरम तौल‍िए का इस्‍तेमाल करना। आप तौल‍िए से कान की स‍िकाई करें ज‍िससे इंफेक्‍शन दूर हो जाएगा। इसके ल‍िए आपको एक साफ तौल‍िए लेना है और उसके एक कोने को गुनगुने पानी में डुबोना है अब तौलि‍ए से पानी को अच्‍छी तरह से न‍िचोड़ने के बाद कान पर रखें। तौल‍िए की गरमाहट कान पर लगने से इंफेक्‍शन कुछ द‍िन में ठीक हो जाएगा, आप इस उपाय को द‍िन में दो से तीन बार सकते हैं। इंफेक्‍शन ठीक करने के ल‍िए आप स्‍टीम भी ले सकती हैं।

इसे भी पढ़ें- पीरियड्स पर कैसे असर डालता है थायराइड रोग? जानें इससे होने वाली समस्याएं और थायराइड कंट्रोल करने के 5 उपाय

प्रेग्नेंसी के दौरान कान के इंफेक्‍शन से कैसे बचें? (How to prevent infection during pregnancy)

प्रेग्नेंसी के दौरान कान के इंफेक्‍शन से बचने के ल‍िए इन ट‍िप्‍स को फॉलो करें-

  • प्रेग्नेंसी के दौरान कान के इंफेक्‍शन से बचने के ल‍िए मौसमी बीमार‍ियों से बचकर रहें, इन बीमार‍ियों के कारण ही कान में इंफेक्‍शन होने की आशंका बढ़ जाती है। आपको सर्दी-जुकाम, बुखार आद‍ि समस्‍याओं से खुद को बचाकर रखना है। 
  • प्रेग्नेंसी के दौरान साफ-सफाई का खास खयाल रखें। कान के इंफेक्‍शन होने का कारण गंदगी भी होता है इसल‍िए आपको इस दौरान कानों को न‍ियम‍ित तौर पर साफ करना है, लेक‍िन कानों को साफ करने के ल‍िए डॉक्‍टर की मदद लें। 
  • कानों को गीला होने से बचाएं, कान गीले होने के कारण भी कानों में इंफेक्‍शन हो सकता है। आपको कानों को ड्राय रखना चाह‍िए।
  • अगर आपके कान में दर्द या सूजन है तो ईयरप्‍लश का इस्‍तेमाल बंद कर दें, अगर गर्भावस्‍था के दौरान आप ईयरप्‍लश या ईयरफोन का यूज करती भी हैं तो उसे ब‍िना क्‍लीन क‍िए बगैर न पहनें।
  • कानों में इंफेक्‍शन के लक्षण पकड़ में आने पर जरा भी देरी न करें, तुरंत डॉक्‍टर के पास जाएं तभी आप बीमारी को बढ़ने से रोक सकेंगी। 
  • क‍िसी भी घरेलू नुस्‍खे को कान के अंदरूनी ह‍िस्‍से में ट्राय न करें इससे इंफेक्‍शन का खतरा बढ़ सकता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान कान के इंफेक्‍शन को दूर करने के ल‍िए डॉक्‍टर आपको एंटीबायोट‍िक्‍स दे सकते हैं, अपने लक्षणों को डॉक्‍टर को बताएं और सही इलाज जल्‍द से जल्‍द करवाएं।

(main image source:kingdomofbaby)

Read more on Women Health in Hindi 

Disclaimer