कुत्ते के काटने से सिर्फ रेबीज नहीं, हो सकती हैं ये 6 बीमारियां, जानें इनके लक्षण और बचाव के टिप्स

कुत्ते के काटने से कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। इन बीमारियों में रेबीज के अलावा कई अन्य बीमारियां भी शामिल हैं। आइए जानते हैं इस बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: May 24, 2022Updated at: May 24, 2022
कुत्ते के काटने से सिर्फ रेबीज नहीं, हो सकती हैं ये 6 बीमारियां, जानें इनके लक्षण और बचाव के टिप्स

कुत्ते के काटने से रेबीज नामक बीमारी होती है। शायद इस बारे में आप काफी अच्छे से जानते होंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इससे आपको कई अन्य तरह की समस्याएं भी हो सकती हैं। जी हां, कुत्तों के काटने से कई तरह की बैक्टीरियल समस्याएं हो सकती हैं। दरअसल, कुत्तों के मुंह में कई तरह के बैक्टीरिया होते हैं। ऐसे में इनके काटने पर आपको बनने वाले घाव काफी जटिल हो सकते हैं। आज हम इस लेख में कुत्ते के काटने से कौन सी बीमारियां होती हैं के बारे में विस्तार से जानेंगे।

कुत्ते के काटने से कौन सी बीमारी होती है?

कुत्ते के काटने के बाद अगर आप घाव की अच्छी तरह से सफाई नहीं करते हैं, जो इससे आपके शरीर में कई तरह की परेशानी हो सकती है। इसके कारण आपको निम्न बैक्टीरियल समस्याएं हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें -  कुत्ते के काटने पर अब नहीं लगाने होंगे इंजेक्शन, वैज्ञानिकों ने खोजी ये नई दवा

1. सेल्यूलाइटिस (Cellulitis) - यह एक स्किन इंफेक्शन है, जो स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया (Streptococcus Bacteria) से होता है। कुत्ते के बाइट से यह बैक्टीरिया आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है, जिससे आपकी स्किन प्रभावित हो सकती है।

2. मेनिनजाइटिस (Meningitis) - मेनिनजाइटिस एक गंभीर इंफेक्शन है। यह संक्रमण मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के आसपास की सुरक्षात्मक परत को प्रभावित करती है। यह समस्या मेनिंगोकोकल मेनिनजाइटिस (Meningococcal Meningitis), नीसेरिया मेनिंगिटाइडिस (Neisseria meningitidis) बैक्टीरिया के कारण होता है।

3. रेबीज (Rabies) - रेबीज वायरल इंफेक्शन है। यह लायसावायरस की वजह से होता है। यह वायरस कुत्ते के काटने से आपके शरीर में प्रवेश (रेबीज कैसे होता है) करता है। इसके अलावा बिल्ली और बंदर जैसे जानवरों के काटने से प्रवेश यह वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है।

4. लिम्फैन्जाइटिस (Lymphangitis) - लिम्फैंगाइटिस की समस्या लसीका प्रणाली में संक्रमण की वजह से होता है। यह समस्या कुत्तों और अन्य जानवरों के काटने से हो सकता है। इसके अलावा इसके कई अन्य कारण भी हो सकते हैं। 

5. एंडोकार्डिटिस (Endocarditis ) - एंडोकार्डिटिस एक ऐसी समस्या है, जिसकी वजह से दिल के अंदरूनी परत की सूजन आ सकती है। इसे एंडोकार्डियम कहा जाता है। यह बैक्टीरिया की वजह होता है। 

6. टेटनस (Tetanus ) -  कुत्तों को काटने से टेटनस इंफेक्शन भी हो सकता है। इसके अलावा यह लोहे से कटने-छिलने पर भी हो सकता है।  

कुत्ते के काटने के बाद दिखने वाले लक्षण (Dog bite infection Symptoms)

अमेरिकन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स (एएपी) के अनुसार, कुत्ते के काटने से संक्रमण केवल 5% से 15% लोगों में ही फैलता है। इस संक्रमण के फैलने से आपके शरीर में निम्न लक्षण दिख सकते हैं। 

  • सूजन
  • स्किन के आसपास रेडनेस
  • मवाद का विकास
  • बुखार
  • मांसपेशियों या जोड़ों में दर्द
  • सूजी हुई लसीका ग्रंथियां

कुत्ते के काटने के बाद संक्रमण से कैसे करें? (How to Prevent Dog bite infection)

  • कुत्ते के काटने के बाद घाव को खुला न छोड़ें। 
  • प्रभावित हिस्से की अच्छे से सफाई करें और पट्टी बांधें। 
  • इसके अलावा डॉक्टर से तुरंत सलाह लें। ताकि आपको इसकी गंभीरता से बचाव किया जा सके। 

कुत्ते के काटने से न सिर्फ रेबीज होता है। बल्कि कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में कुत्तों से बचकर रहें। पालतू जानवरों या जंगली जानवरों से बचकर रहें।

Disclaimer