COVID-19: क्या आपके मन में भी है कोरोना वायरस से जुड़ी इन बातों को लेकर वहम, जानें इससे जुड़ी सही जानकारी

कोरोना वायरस एसएआरएस (Severe Acute Respiratory Syndrome) का ही एक प्रकार है, जो कि सांस से जुड़ी बीमारियों के लिए जाना जाता है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 05, 2020Updated at: Mar 05, 2020
COVID-19: क्या आपके मन में भी है कोरोना वायरस से जुड़ी इन बातों को लेकर वहम, जानें इससे जुड़ी सही जानकारी

भारत में कोरोना वायरस (COVID-19) की दस्तक ने खलबली मचा रखी है। दिल्ली-एनसीआर में नए मामले सामने आने के बाद केंद्र और तमाम राज्य सरकारों की हरकतें तेज हो गई हैं।भारत में अब तक कुल 29 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके है। ताजा मामला गुड़गांव का है, जहां पेटीएम (Paytm) के एक कर्मचारी को जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। पेटीएम कंपनी ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। कंपनी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि कर्मचारी हाल ही में इटली से छुट्टियां बिताकर लौटा था, जो कोरोनो वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है। कंपनी के बयान की मानें, तो पेटीएम ने अपने सभी कर्मचारियों को अगले कुछ दिनों के लिए घर से काम करने की सलाह दी है, जबकि कंपनी की गुड़गांव इकाई की सफाई की जा रही है। वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली स्थित ITBP के क्वारैन्टाइन सेंटर में 21 इटैलियन पर्यटकों में से 15 के कोरोनावायरस से ग्रस्त होने की पुष्टि की है। यानी फिलहाल देश में जो लोग कोरोना वायरस से पीड़ित उनमें 16 विदेशी और 13 भारतीय हैं।

inside_COVID-19virus

कोरोना वायरस (COVID-19),जिस तरह के फैल रहा है, उसे लेकर लोगों के मन में डर बैठ गया है। वहीं स्वास्थ्य से जुड़ा कोई भी डर या भ्रम स्थिति को और खराब कर सकता है। कोरोना वायरस संक्रामक बीमारी है, पर आपको इससे जुड़ी कुछ चीजों को लेकर स्पष्ट होने की कोशिश करनी चाहिए। ऐसे में सबसे बड़ा प्रश्न, जो इस बीमारी को लेकर लोगों के मन में है कि ये बीमारी इतनी तेजी से फैल कैसे रहा है और हम इस संक्रमण से कैसे बच सकते हैं। तो आज हम आपको कोरोना वायरस के संक्रमण से जुड़े तमाम पहलुओं को बताते हुए स्थियों को स्पष्ट करने की कोशिश करेंगे।

बीमार व्यक्ति के साथ चलना या पास में खड़े होना भी हमें संक्रमित कर सकता है?

उदाहरण के तौर पर जैसे अगर आप एक स्थानीय किराने की दुकान पर जाते हैं और वहीं आए एक ग्राहक को कोरोन वायरस है, तो यह आपको संक्रमित होने का खतरा पैदा करता है। लेकिन, यह कई कारकों पर भी निर्भर करता है जैसे:

  • -आप संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में कितने करीब आते हैं?
  • - संक्रमित व्यक्ति के साथ हमने कितना समय बिताया है?
  • -आप उनके सांस या छींक या वायरस के किसी भी प्रकार के ड्रोपलेट के संपर्क में तो नहीं आए हैं?
  • -क्या आपने संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद अपना चेहरा छूआ है? 
  • - साथ ही साथ कोरोना वायरस का संक्रमण आपकी उम्र पर भी निर्भर करता है। जैसे बच्चों और बुजुर्गों को ऐसे संक्रमणों का खतरा अधिक होता है।
inside_COVID-19whatyouneedtodo

इसे भी पढ़ें : भारत में कोरोना वायरस की स्थिति क्या है? जानें दिल्ली, यूपी सहित किस राज्य में कितने मामले और कैसे बचें

वायरल ड्रोपलेट (Viral Droplet) क्या है?  

कॉर्नेल यूनिवर्सिटी ऑफ वेटरनरी मेडिसिन (Cornell University of Veterinary Medicine) में वायरोलॉजी के प्रोफेसर गैरी व्हिटकेकर के अनुसार, वायरल ड्रोपलेट छोटे रोगाणु हैं, जो खुद को एक कोशिका (सेल्स) से जोड़ते हैं और गुणा यानी कि मल्टीप्लाई होने लगते हैं और इस तरह ये संक्रमण का ये सिलसिला आगे बढ़ता जाता है। जब हम छींकते हैं, खांसते हैं, हंसते हैं, बात करते हैं या सांस लेते हैं, तो वायरस नाक और मुंह से निकले वाले बलगम और लार के अंदर मौजूद होते हैं। जब वे किसी अन्य व्यक्ति के संपर्क में नहीं आते हैं, तो यह आमतौर पर फर्श या जमीन पर पड़ता है। वहीं अगर एक किसी व्यक्ति के संपर्क में आ जाता है, तो उसे ये संक्रमित कर सकता है। वहीं वन-टू-वन बात करना या खाना शेयर करना भी इस खतरे को बढ़ा सकता है। पर विशेषज्ञों का मानना है कि छींकने और खांसी संचरण के प्राथमिक रूप हैं।

संक्रमित व्यक्ति के साथ आपको कितनी दूरी बनाए रखने की आवश्यकता है?

डब्ल्यूएचओ के प्रवक्ता क्रिस्टीन लिंडमियर के अनुसार, आपको एक बीमार व्यक्ति से कम से कम तीन फीट की दूरी बनाए रखनी चाहिए। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ने इस संक्रमण को रोकने के लिए 6 फीट की दूरी बनाए रखने के लिए कहा है। पर आप कोशिश करें कि किसी भी संक्रमित व्यक्ति से दूर ही रहें।

Watch Video: कोरोना वायरस से बचाव के बारे में जानें एक्सपर्ट टिप्स और जरूरी बातें

कैसे पता चलेगा कि कोई व्यक्ति संक्रमित या बीमार है?

अक्सर लोगों को पता भी नहीं चलता है कि उनके आसपास के व्यक्ति किसी बीमारी से पीड़ित हैं या संक्रमित है। ऐसे में सामान्य लक्षणों पर ध्यान देक कर ही बचा जा सकता है। सामान्य लक्षणों की बात करें, तो इनमें सर्दी, खांसी और फ्लू शामिल हैं। हालांकि, कोरोना वायरस के मामने में बिना लक्षणों वाले लोगों ने भी दूसरों को संक्रमित किया है। डब्ल्यूएचओ के लिंडमीयर के अनुसार, कोरोनोवायरस फैलाने वाले अधिकांश लोग संचरण (transmission)के दौरान बीमार थे।

क्या वायरस टच स्क्रीन, बस में, पोल पर या अन्य ठोस सतहों पर रह सकता है?

हां, हांगकांग में एक बौद्ध मंदिर में भाग लेने वाले कई लोग बीमार पड़ गए। शहर के सेंटर फॉर हेल्थ प्रोटेक्शन ने साइट से नमूने एकत्र किए हैं। एक अध्ययन के अनुसार, कोरोना वायरस दो घंटे से लेकर नौ दिनों तक कांच, धातु और प्लास्टिक पर रहता है। एहतियाती उपाय के बीच, हमेशा अपने चेहरे को छूने से पहले अपने हाथों को साबुन / सेनिटाइजर्स (sanitisers) से धोते रहें। आप तब तक संक्रमण से बचे रह सकते हैं जब तक वायरल बूंदें आपकी त्वचा तक नहीं पहुंच पाती।

inside_COVID-19

इसे भी पढ़ें : Coronavirus: कोरोना वायरस से जुड़ी ये 6 बातें हैं अफवाह, कहीं आपने तो यकीन नहीं कर लिया इनपर?

इसके अलावा इन चीजों का खास ख्याल रखें-

  • -सुनिश्चित करें कि आप रेलिंग को न छूएं क्योंकि यह संक्रमित होने का एक प्राकृतिक तरीका है।
  • - ऑफिस और सहकर्मी के मामले में, आपको सर्दी-जुकाम से पीड़ित लोगों से दूर रहना चाहिए।

क्या रोमांस के दौरान कोरोनावायरस फैल सकता है?

विशेषज्ञों का मानना है किस करना और गले लगना या रोमांस करना निश्चित रूप से COVID -19 वायरस फैला सकता है। पर इस पर अभी WHO द्वारा और अधिक विवरणों पर शोध किया जा रहा है।

खाने को संक्रमित होने से कैसे बचाएं?

अगर कोई व्यक्ति बीमार है, तो आपको एक दूरी बनाए रखनी चाहिए और उसके भोजन-पानी का सेवन करने से भी बचना चाहिए। वहीं भोजन को गर्म करके वायरस को मारा जा सकता है। 

क्या हमारे पालतू जानवरों में भी ये फैल सकता है?

वायरोलॉजी के प्रोफेसर गैरी व्हिटकेकर के अनुसार फिलहाल ऐसा कोई सबूत नहीं है कि कोई संक्रमित व्यक्ति उनके पालतू जानवरों के लिए खतरा हो सकता है या नहीं। फिलहाल इस विषय पर और शोध जारी है।

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer