बाइक चलाने वालों को ज्यादा होती हैं ये 8 समस्याएं, डॉक्टर से जानें इनसे बचाव के तरीके

ज्यादा बाइक चलाने से पीठ, गर्दन, कमर दर्द सहित होती है कई परेशानी। ऑर्थोपेडिक सर्जन से जानें कैसे करें बचाव। एक्सपर्ट से योगाआ के बारे में भी जानें।

Satish Singh
Written by: Satish SinghPublished at: Aug 27, 2021Updated at: Aug 27, 2021
बाइक चलाने वालों को ज्यादा होती हैं ये 8 समस्याएं, डॉक्टर से जानें इनसे बचाव के तरीके

अगर आप रोजाना ज्यादा बाइक चला रहे हैं, तो आपको कई गंभीर बीमारी हो सकती है। इसका कारण देर तक एक पुजिशन में बैठे रहना होता है। इसी में साइटिका दर्द की भी समस्या शामिल है। इसमें असहनीय दर्द होता है। अधिक बाइक चलाने से सायटिव नर्व पर दबाव पड़ता है। यह दबाव 35 से 50 उम्र के लोगों में ज्यादा होती है। ठंड के मौसम इसकी समस्या होती है। जमशेदपुर के एमजीएम ऑर्थोपेडिक सर्जन डॉ. नवीन कुमार ने बताया साइटिका बचने के लिए आप बाइक चलाना तो नहीं छोड़ सकते हैं, क्योंकि वह आपकी रूटीन और काम के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है। लेकिन अगर कुछ बातों का ध्यान रखेंगे तो साइटिका के दर्द को कम किया जा सकता है।

बाइक चलाने वालों को होती है यह परेशानी

एक्सपर्ट बताते हैं कि जो लोग ज्यादा बाइक चलाते हैं उन्हें कई तरह की परेशानी होती है। ज्यादातर दिक्कत का मुख्य कारण ज्यादा देर तक और लंबे समय तक गाड़ी चलाना है। वहीं भारत में रोड की स्थिति से तो सब वाकिफ हैं, ऐसे में जो लोग खराब सड़क पर ज्यादा ट्रैवल करते हैं उन्हें इस प्रकार की बीमारी होने की संभावना भी ज्यादा रहती है। वहीं कुछ लोगों को यह समस्या बाइक में शॉकर की समस्या के कारण होता है। शॉकर ठीक नहीं होने से पीठ दर्द व अन्य समस्या शुरू होने लगती है। ज्यादा देर तक बाइक चलाने से होती है यह समस्या;

Back Pain

1. पीठ दर्द है आम समस्या

डॉक्टर बताते हैं कि जो लोग ज्यादा देर तक बाइक चलाते हैं उन्हें सबसे पहली समस्या पीठ दर्द की होती है। क्योंकि एक ही पुजिशन में घंटों देर तक बैठे रहने के कारण पीठ अकड़ जाती है। ऐसे में डॉक्टर यह सलाह देते हैं कि यदि आप लांग ड्राइव पर निकलें तो एक-एक घंटे के अंतराल पर रुकें। पानी पीएं, हाथों व पैरों को स्ट्रेचिंग करें फिर आगे बढ़ें। पीठ में यदि नियमित दर्द हो और आपको बाइक चलाना ही है तो उस स्थिति में डॉक्टरी सलाह लें। उनके सुझाव के अनुसार ही मेडिकल बेल्ट आता है उसे पहनें, जिससे बॉडी पुजिशन ठीक होती है। 

2. गैस की समस्या

वैसे लोग जो ज्यादा बाइक चलाते हैं उन्हें गैस की समस्या होती है। इसी गैस की वजह से बदन दर्द सहित शरीर के कई हिस्सों में दर्द होता है। अक्सर कुछ लोग इस प्रकार की शिकायतों को लेकर डॉक्टर के पास जाते हैं। यदि आप ज्यादा बाइक चलाते हैं तो अपने फिटनेस पर काफी ध्यान देना होगा। नियमित तौर पर योगासन व एक्सरसाइज कर बीमारी से बचाव कर सकते हैं। 

3. घंटों बाइक चलाने से हो सकता है डिप्रेशन, डायबिटीज

डॉ. नवीन बताते हैं कि अगर आप लंबे समय तक बाइक लगातार चला रहे हैं तो यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इससे डिप्रेशन, डायबिटीज ज्यादा देर तक नींद न आने की समस्या हो सकता है। लंबे सफर में हम डिप्रेशन वाली बातों को याद करते हैं और इसे सोच कर परेशान होते हैं। डिप्रेशन के कारण दुर्घटना भी होती है। ज्यादा देर तक बाइक चलाने से बीपी, प्री डायबिटीज व डायबिटीज हो सकता है। लंबे सफर में लोगों को नींद आती है और झपकी लेने की कोशिश करते हैं। इससे दुर्घटना हो सकती है।

3. कमर दर्द का होना है आम बात

बाइक की सीट काफी अच्छी भी क्यों न हो यदि कोई उसपर लंबे समय पर बैठे रहे तो कमर दर्द का होना लाजमी है। युवाओं में इस प्रकार की समस्या कम देखने को मिलती है। लेकिन 35 साल से ऊपर के उम्र के लोगों में इस प्रकार की समस्या सामान्य है। वैसे लोगों को डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए व अपने फिटनेस पर ध्यान देना चाहिए।

Joint pain

4. कलाइयों में दर्द की समस्या

घंटों हैंडिल को पकड़े रहने के कारण व काफी देर तक गाड़ी चलाने की वजह से आपको कलाइयों के दर्द की समस्या हो सकती है। एक्सपर्ट बताते हैं कि इस दर्द से बचाव के लिए नियमित अंतराल पर ब्रेक लेना चाहिए। हाथों को रिलेक्स करने के साथ हाथों की एक्सरसाइज करना चाहिए। जिसमें कलाइयों को क्लाक वाइज व एंटी क्लाक वाइज घुमाकर एक्सरसाइज करना फायदेमंद होता है। हाथ को झटके से छोड़ना भी फायदेमंद होता है। इसके अलावा, बाइक राइडर्स के लिए बाजार में मौजूद ग्लव्स पहनकर बाइक चलाने से उनको काफी सहुलियत मिलती है। 

5. हाथ की स्किन का मोटा होना 

यदि किसी का मार्गेकिंग का ही जॉब है और वो रोजाना 50 से 100 किलोमीटर का सफर करता है तो उन लोगों के हाथ की स्किन अक्सर सख्त हो जाती है। इसके लिए कोशिश करनी चाहिए कि ग्लव्स पहनकर बाइक चलाएं। वहीं किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर डॉक्टरी सलाह लें।

इन एहतियात को भी अपनाना चाहिए

डॉक्टर बताते हैं कि आप ऐसा खाना खाएं जो हल्का हो। शरीर के किसी अंग में दर्द हो तो गुनगुने पानी से नहाएं, किसी खास जगह जैसे एड़ी, ज्वाइंट आदि में दर्द हो तो गर्म पानी से सेंक दें। ठंड में गर्म कपड़े पहनें। धूप में रहें। सुबह शाम एक्सरसाइज करें और सैर पर जाएं। ज्यादा देर तक किसी स्थान पर नहीं बैठें। इसके अलावा भी ज्यादा बाइक चलाने से  कई समस्या का सामना पड़ता है। 

इसे भी पढ़ें : साइकिल चलाते समय ये 5 गलतियां सेहत पर पड़ सकती हैं भारी, पीठ, रीढ़ की हड्डी और घुटनों को हो सकता है नुकसान

आंखों की सुरक्षा का रखें ख्याल

बाइक चलाने से कई हानिकारक तत्व का सामना पड़ता है। शरीर को धूल, मिट्टी का सामना पड़ता है। इसके कारण आप बीमार पड़ सकते हैं। आंखों को इससे सबसे ज्यादा बुरा असर पड़ता है। इसलिए बाइक चलाते समय हमेशा हेलमेट और चश्मे का इस्तेमाल करें। बाइक चलाने के बाद आंख को अच्छी तरह से ठंडे पानी से धो लें। इससे आंख सुरक्षित रहती है।

Sitting posture

बाइक चलाते समय सीधे बैठें

बाइक चलाते समय झुककर बैठने से रीढ़ की हड्डी में दर्द की समस्या हो सकती है। इसलिए बाइक चलाते समय हमेशा सीधा बैठें। अगर बाइक पर बैठें तो पुजिशन का ध्यान रखें। बाइक चलाते समय पीछे की ओर होकर नहीं बैठें। कोशिश करें कमर को जितना हो सीधा करके बैठें।

इसे भी पढ़ें : कंधे और पीठ के दर्द का कारण खराब ड्राइविंग पोश्चर तो नहीं? जानें ड्राइविंग करने का सही पोश्चर

मास्क लगाकर निकलें

अभी पॉल्यूशन लेवल काफी बढ़ गया है। इसलिए हमेशा मास्क लगाकर बाइक चलाए। क्योंकि हवा में कई जहरीले पदार्थ रहते हैं, जो मुंह और नाक से शरीर में प्रवेश कर उसे नुकसान पहुंचाते है। घर से मास्क लगाकर निकलें। 

ब्रेकर्स और गड्ढों पर सावधानी से गाड़ी को पार करें

बाइक चलाते समय ब्रेकर और गड्ढे में बाइक स्लो कर पार करें। अगर स्पीड में बाइक ब्रेकर और गड्ढों से पार करेंगे तो कमर में झटका लगेगा। इससे कारण जीवनभर कमर दर्द, स्लिप डिस्क की समस्या हो सकती है।

परेशानी होने पर लें डॉक्टरी सलाह

यदि आप भी रोजाना बाइक चलाते हैं और आपको अभी से ही पीठ दर्द सहित कई तरह की दिक्कतें हो रही हैं तो ऐसे में जरूरी है कि आप डॉक्टरी सलाह लें। यदि आप अपनी समस्या का तुरंत इलाज नहीं करवाएंगे तो बीमारी बढ़ते ही जाएगी। इसलिए जरूरी है कि समय रहते डॉक्टरी सलाह लेकर बीमारी से बचाव कर सकें। 

Read More Articles On Miscellaneous

Disclaimer