Doctor Verified

UTI होने पर डाइट में करें ये 5 बदलाव, जल्दी दूर होगा इंफेक्शन

Diet and UTI: यूटीआई में तेज जलन और दर्द से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो डाइट में कुछ जरूरी बदलावों को जरूर फॉलो करें। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 23, 2022Updated at: Aug 23, 2022
UTI होने पर डाइट में करें ये 5 बदलाव, जल्दी दूर होगा इंफेक्शन

यूर‍िनरी ट्रैक्‍ट इंफेक्‍शन (यूटीआई) एक ऐसा इंफेक्‍शन है जो क‍िडनी, मूत्राशय, मूत्रमार्ग आदि‍ जगहों पर सबसे ज्‍यादा होता है। पुरुषों की तुलना में, मह‍िलाओं को यूटीआई की समस्‍या ज्‍यादा होती है। यूटीआई के दौरान पेशाब करने पर तेज जलन होती है। डाइट में शाम‍िल गलत चीजों के कारण ये समस्‍या बढ़ सकती है इसल‍िए यूटीआई में इलाज के साथ खानपान पर भी ध्‍यान देना जरूरी होता है। यूटीआई होने पर व्‍यक्‍त‍ि की इम्‍यून‍िटी कमजोर हो सकती है और पीएच लेवल ब‍िगड़ सकता है। इसे ठीक करने के ल‍िए आपको डाइट में जरूरी बदलाव करने चाह‍िए। इस लेख में हम यूटीआई के दौरान क‍िए जाने वाले जरूरी बदलावों पर बात करेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।  

coconut water during UTI

1. चाय की जगह क्‍या प‍िएं?

आपको भी सुबह-सुबह चाय या कॉफी पीने का शौक है, तो संभल जाएं। यूटीआई (UTI) के दौरान चाय की चुस्‍की भारी पड़ सकती है। डॉक्‍टर्स, यूटीआई में कैफीन का सेवन करने के ल‍िए मना करते हैं। कैफीन की जगह आप कुछ हेल्‍दी व‍िकल्‍प चुन सकते हैं। जैसे- नार‍ियल पानी। नार‍ियल पानी (coconut water) का सेवन यूटीआई में फायदेमंद माना जाता है। इसके अलावा आप ताजा क्रैनबेरी जूस, टमाटर का सूप, दूध और खीरे का रस आद‍ि का सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- मूत्र मार्ग संक्रमण (यूटीआई) के लिए घरेलू उपचार

2. मीठी चीजों की जगह क्‍या खाएं?

यूर‍िन इंफेक्‍शन के दौरान आपको मीठी चीजों से बचना चाह‍िए। इससे स्‍थ‍ित‍ि ब‍िगड़ सकती है। मीठी चीजों की जगह आप व‍िटाम‍िन सी (vitamin C) युक्‍त आहार को अपनी डाइट में शाम‍िल करें। नींबू, ब्रोकली, कीवी, संतरा और मौसंबी आद‍ि में व‍िटाम‍िन सी की भरपूर मात्रा होती है। व‍िटाम‍िन सी का सेवन करेंगे, तो यूटीआई के ल‍िए ज‍िम्‍मेदार बैक्‍टीर‍िया आपको ज्‍यादा नुकसान नहीं पहुंचा पाएगा।      

3. डाइट में शाम‍िल करें दही 

आपको अपनी डाइट में दही (curd) को शाम‍िल करना चाह‍िए। दही में प्रोबायोट‍िक्‍स गुण होते हैं। यूटीआई में होने वाली जलन से राहत पाने के ल‍िए आप हर मील के साथ दही का सेवन करें। इसके अलावा यूटीआई के दौरान पानी की मात्रा भी बढ़ाएं। पानी का सेवन करने से यूटीआई में होने वाली जलन से छुटकारा म‍िलेगा। पानी का सेवन, यूटीआई का आसान इलाज है।   

4. डाइट में शाम‍िल करें लहसुन 

यूटीआई के दौरान अपनी डाइट में लहसुन (garlic) को शाम‍िल करें। अपनी सब्‍जी में लहसुन डालकर खा सकते हैं। लहसुन में एंटीबैक्‍टीर‍ियल गुण मौजूद होते हैं। इसमें सल्‍फर कंपाउंड और एंटीऑक्‍सीडेंट्स पाए जाते हैं ज‍िससे बॉडी को ड‍िटॉक्‍सीफाई करने में मदद म‍िलती है। अगर आप नॉन-वेज खाने के शौकीन हैं, तो आपको बता दें क‍ि संक्रमण के दौरान आपको इससे परहेज करना चाह‍िए। यूटीआई में घर का बना शुद्ध शाकाहारी भोजन ही खाएं।  

5. मसालेदार खाने को कहें 'नो'

यूटीआई में आपको मसालेदार खाने से परहेज करना है। इससे ब्‍लैडर में जलन हो सकती है। ज्‍यादा तीखा या मसाले वाला भोजन खाने से बैक्‍टीर‍ियल एक्‍ट‍िव‍िटी बढ़ सकती है। अगर हेल्‍दी डाइट (healthy diet) की बात करें, तो आपको ताजे फल, हरी सब्‍ज‍ियां, घर पर बने जूस और हर्बल टी आद‍ि का सेवन करना चाह‍िए।  

अपनी डाइट में इन छोटे लेक‍िन महत्‍वपूर्ण बदलावों के जर‍िए आप यूटीआई की समस्‍या से जल्‍दी छुटकारा पा सकते हैं। लेख पसंद आया हो, तो शेयर करना न भूलें।  

Disclaimer