Covid-19: 'आंखों के जरिये' कैसे फैल सकता है 'कोरोनावायरस'? जानें एक्सपर्ट से कारण और बचाव के तरीके

क्या है कोरोनावायरस का आंखों से संबंध? क्या कोरोनावायरस (Covid-19) आंखों के जरिये फैल सकता है? एक्सपर्ट ने बताएं इन सवालों के जवाब...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: May 18, 2021
Covid-19: 'आंखों के जरिये' कैसे फैल सकता है 'कोरोनावायरस'? जानें एक्सपर्ट से कारण और बचाव के तरीके

कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसे में सरकार ने राज्यों में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन का सहारा लिया है। लोग भी घरों में रहकर इस लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। दूसरी तरफ सरकार कोरोना से बचने के लिए समय-समय पर हाथ धोना, सैनिटाइजर और मास्क लगाने की सलाह दे रही है। ये तो हम सभी जानते हैं कि कोरोना थूकने, छींकने, खांसने आदि से फैल रहा है लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि कोरोनावायरस आंखों के माध्यम से भी फैल सकता है? जी हां, आज का हमारा लेख इसी विषय पर हैं। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि कोरोनावायरस (Covid-19) का आंखों को कैसे प्रभावित कर सकता है? और कोरोनावायरस कैसे आंखों के जरिये शरीर में प्रवेश (How can covid-19 spread through the eyes) कर सकता है? पढ़ते हैं आगे...

 

आंखों के जरिए कैसे फैल रहा है कोरोनावायरस?

  • - आई क्लीनिक प्लस, शास्त्री नगर, गाजियाबाद कि आई स्पेशलिस्ट डॉ रित्विजा दीक्षित (Dr. Ritvija Dixit) का कहना है कि आंखों के जरिए कोरोनावायरस (Coronavirus in India) आसानी से प्रवेश कर सकता है। सबसे पहला और सरल तरीका है आंखों को अपने हाथों से छूना या रगड़ना। उदहारण के तौर पर जैसे हम आंखों में कोई ड्रॉप डालते हैं तो वह 5 मिनट बाद हमारे गले में महसूस होती है ऐसा इसीलिए क्योंकि आंख और गले का रास्ता एक ही होता है। वैसे ही अगर कोरोनावायरस आपके हाथों में चिपक गया है और आप उन हाथों से अपनी आंखों को स्पर्श करते हैं तो कोरोनावायरस कुछ ही मिनटों में आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है।
  • - दूसरा तरीका है किसी कोरोना मरीज का छींकना। अक्सर व्यक्ति जब भी छींकता है तो उसके कण हवा में घूमना शुरू कर देते हैं। इसे ऐसे समझें कि छींकने से यह वायरस 20 फुट की दूरी तक हवा के जरिये पहुंच सकता है। दूसरी तरफ छींकने या सामान्य बातचीत के दौरान भी 40,000 बूंदे मुंह से निकल सकती हैं और ये बूंदे एक मीटर से लेकर 100 मीटर तक अपना रास्ता बना सकती हैं। ऐसे में यदि कोई व्यक्ति जिसने मास्क या गलव्स पहने हुए है तो वह कण उसकी आंखों में प्रवेश कर सकते हैं और थोड़ी देर में वह गले से होते हुए फेफड़ों तक पहुंच जाते हैं। इसीलिए जब भी व्यक्ति आपके आसपास छींके तो अपनी नाक, मुंह के साथ अपनी आंखों को भी कवर करें।
  • - शरणम आई सेंटर एंड लेजर सर्विस (रेटिना सेंटर), राज नगर, गाजियाबाद के आई स्पेशलिस्ट डॉक्टर पुनीत गुप्ता (Dr. Puneet Gupta) ने बताया कि इन दिनों हमारे पास कंजेक्टिवाइटिस के पेशेंट आ रहे हैं। जिनमें से कुछ पेशेंट कुछ दिनों बाद कोरोनावायरस (Covid-19 in India) के शिकार हो गए हैं। ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि संक्रमण इंफेक्शन के संपर्क में जल्दी आ सकता है। इसके लक्षणों में आंखों का लाल होना, आंखों में सूजन आना, चिपचिपा द्रव निकलना आदि आते हैं। हालांकि आंकड़ों की बात की जाए तो आंखों के जरिए केवल 1 से 2% लोग ही कोरोनावायरस की चपेट में आते हुए देखा गया है। 
अमेरिकन एकेडमी ऑफ ऑप्थैल्मोलॉजी के अध्ययन के मुताबिक कोरोनावयररस आंखों के जरिये शरीर में फैल सकता है।  अध्ययन का सोर्स जानने के लिए यहां क्लिक करें...

कोविड कैसे आंखों को प्रभावित कर सकता है?

वहीं अगर किसी व्यक्ति को कोरोनावायरस हो गया है तो उसकी आंखों के पर्दे पर जिसे रेटिना कहा जाता है वहां खून के दौरे में रुकावट पाई गई है। इसके अलावा डायबिटीज के मरीजों को अगर कोरोनावायरस होता है और शुगर का असर आंखों पर आता है तो कोरोना के कारण मरीज की आंखें नकारात्मक रूप से और प्रभावित हो रही है। 

इसे भी पढ़ें- Covid-19: कोरोना से बचने के लिए बार-बार गर्म पानी का सेवन कितना सुरक्षित? एक्सपर्ट ने बताया जल सकती हैं टांगें

फैलने से कैसे रोकें कोरोनावायरस को आंखों के माध्यम से

1 - अपनी आंखों को छूने से पहले हमेशा अपने हाथों को धोएं।

2 - जब भी बाहर से घर पर आएं तो अपनी आंखों को भी जरूर धोएं।

3 - अगर आपको किसी भी प्रकार का इंफेक्शन है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि इंफेक्शन के कारण संक्रमण जल्दी शरीर में प्रवेश कर सकता है।

4 - जब भी किसी कोरोना मरीज के संपर्क में आएं तो आंखों में प्लास्टिक ग्लास का भी इस्तेमाल करें।

5 - अपनी आंखों को रगड़ने से बचें।

6 - किसी भी व्यक्ति से 20 से 30 फुट की दूरी बनाकर रखें।

7 - चेहरे पर शील्ड लगाकर बाहर निकलें।

नोट - ऊपर बताए गए वीडियो से पता चलता है कि आंखों को छूने से पहले ऊपर बताएं गई सावधानियों का पालन करना जरूरी है। हालांकि इस समस्या के ज्यादा मामले सामने नहीं आए हैं। पर हमारे एक्सपर्ट्स का कहना है कि हाल की स्थिति में अपनी आंखों को सुरक्षित रखना भी हमारी ही जिम्मेदारी है।

Read More Articles on miscellaneous in hindi

Disclaimer