Dental Care Tips: दांतों को कमजोर बनाती हैं ये 5 चीजें, लंबे समय तक झेलने पड़ सकते हैं परिणाम

मुस्कुराहट भी तभी अच्छी लगती है जब दांत साफ और चमकदार हो। आज हम कुछ ऐसी हरकतें बता रहे हैं जिन्हें दोहराने से आपके दांत कमजोर हो सकते हैं।

सम्‍पादकीय विभाग
अन्य़ बीमारियांWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jun 19, 2020
Dental Care Tips: दांतों को कमजोर बनाती हैं ये 5 चीजें, लंबे समय तक झेलने पड़ सकते हैं परिणाम

ज्यादातर लोगों को यह पता ही नहीं होता है कि उनके दांतों को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए क्या जरूरी होता है। सिर्फ मीठा, ठंडा और खट्टा ही नहीं बल्कि कुछ ऐसी हरकतें भी होती हैं जो दांतों को कमजोर बनाती है। अगर आप भी लंबे समय तक अपनी मुस्कुराहट को जिंदादिली बनाना चाहते हैं तो आज हम आपको बातें बता रहे हैं उन्हें भूलकर भी न करें।

दांतों को दबाकर सोना

जो लोग तनाव में होते हैं वे अक्सर सोते वक्त दांतों को दबाकर या पीसकर सोते हैं। हालांकि जिन लोगों को नींद की बीमारी होती है या किसी बात से परेशान होते हैं तब भी वह दांतों को पीसकर सोते हैं। लेकिन ऐसा करने से आपके दांत कमजोर हो सकते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो अपनी इस आदात को बदल लें, नहीं तो भविष्य में आपके दांत खराब हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में आप अपने डेंटिस्ट से भी सलाह ले सकते हैं वह इसके एवज में आपको नाइट गार्ड की सलाह दे सकते हैं।

 dental-care

जरूरत से ज्यादा माउथवॉश करना

दिन में कई बार माउथवॉश करने से आपको साफ और चमकदार दांत तो मिल सकते हैं लेकिन यह आपके दांतों के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इससे आपके दांत सेंसटिव हो सकते हैं, जिससे आपके दांतो में ठंडा-गर्म लग सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि कुछ माउथवॉश में एसिड होता है जो आपके दांतों की मिडिल लेयर को खराब कर सकता है।

ज्यादा एक्सरसाइज करना

कई अध्ययनों में यह साफ हो चुका है कि जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करने और वर्कआउट करने से दांत कमजोर होते हैं। वर्कआउट शेड्यूल जितने लंबे होते हैं, उतनी ही दांतों में कैविटी होने की संभावना होती है। हालांकि वैज्ञानिक इस विषय पर एकमत नहीं है ऐसा कहा जाता है कि इससे मुंह में लार कम बनती है जो दांतो को प्रभावित करती है।

इसे भी पढ़ें: इन 10 टिप्‍स से दांतों की चमक हमेशा रहेगी बरकरार

जब जबड़ा जाम हो जाए

आपका टेम्पोरोमैंडिबुलर ज्वॉइंट (TMJ) आपके निचले जबड़े को आपकी खोपड़ी से जोड़ता है। जब आपके टीएमजे का कोई भी हिस्सा चोट, गठिया या किसी अन्य चीज़ के कारण काम नहीं कर पाता है तो यह आपके सीने में और जबड़े में दर्द सहित कई अन्य लक्षणों का कारण बन सकता है।

नर्व का डैमेज होना

हालांकि यह आम नहीं है लेकिन ट्राइजेमिनल न्यूराल्जिया नामक एक स्थिति आपके दांत की समस्या की जड़ में हो सकती है। यह आपके सिर में नसों में से एक में पुराने तंत्रिका दर्द का कारण बनती है। इस स्थिति में दर्द अक्सर अपने ब्रश करने वक्त, खाना खाते वक्त या फिर कुछ पीते वक्त होता है। इसलिए समय रहते किसी अच्छे डेंटिस्ट से अपनी जांच करवा लें।

इसे भी पढ़ें: अपने दांतों का ख्याल कैसे रखना चाहिए, जानें दांतों के स्वास्थ्य से जुड़ी सभी बातें विस्तार से

दिल की बीमारी

शरीर के ऊपरी हिस्से में दर्द, दिल का दौरा पड़ने का लक्षण हो सकता है। ऐसी स्थिति में आप अपने कंधों, गर्दन, जबड़े या दांतों में दर्द महसूस कर सकते हैं। ध्यान रखें यदि आप अपने मुंह के दर्द के साथ-साथ अन्य चीजों जैसे पसीना, दिल की धड़कन, मतली, सीने में दर्द, या सांस की तकलीफ का सामना कर रहे हैं तो आपकी स्थिति और भी ज्यादा भयावह हो सकती है।

Read More Articles On Other Diseases In Hindi
Disclaimer