अगर आप को भी है ग्लूटेन से एलर्जी तो ये 3 स्थितियां बढ़ा सकती हैं आपकी परेशानी

जिन लोगों में ग्लूटेन संवेदनशीलता या ग्लूटेन एलर्जी की समस्या होती है उन्हें इन तीन स्थितियों से बड़ा खतरा होता है, जानें इनके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Oct 06, 2021
अगर आप को भी है ग्लूटेन से एलर्जी तो ये 3 स्थितियां बढ़ा सकती हैं आपकी परेशानी

तमाम लोगों को किसी न किसी खाद्य पदार्थ के सेवन से एलर्जी या संवेदनशीलता होती है। यह एक ऐसी समस्या है जिसे जड़ से ठीक नहीं किया जा सकता है। हमारा डाइजेस्ट सिस्टम इन खाद्य पदार्थों के प्रति संवेदनशील होता है और इनके सेवन से एलर्जी हो सकती है। शरीर में खाद्य पदार्थों के सेवन से लेकर होने वाली एक एलर्जी का नाम है ग्लूटेन एलर्जी। ग्लूटेन एलर्जी होने पर आपको बचपन से ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से दिक्कत होती है। ग्लूटेन के प्रति संवेदनशीलता के लक्षण कई अन्य समस्याओं के जैसे ही होते हैं, जिसके चलते इन्हें आसानी से पहचान पाना मुश्किल होता है। कभी-कभी इसके लक्षण भोजन के बाद दिखाई देते हैं और लंबे समय तक नहीं रहते हैं। लेकिन कुछ मामलों में इसके लक्षण लंबे समय तक देखने को मिल सकते हैं। पाचन तंत्र को प्रभावित करने वाले कई कारणों की वजह से आपको ग्लूटेन एलर्जी हो सकती है। अगर आपको ग्लूटेन एलर्जी या ग्लूटेन संवेदनशीलता है तो ये तीन स्थितियां आपकी परेशानी को और बढ़ा सकती हैं। आइये जानते हैं इनके बारे में।

ये तीन स्थितियां ग्लूटेन सेंसिटिविटी में बढ़ा सकती हैं परेशानी (Conditions That Affect Gluten Sensitivity)

Conditions-That-Affect-Gluten-Sensitivity

(image source - shutterstock.com)

हमारा शरीर कई बार कुछ विशेष खाद्य पदार्थों के सेवन को लेकर बेहद संवेदनशील हो जाता है। इन पदार्थों का सेवन करते ही शरीर प्रतिक्रिया देने लगता है। इस बीमारी को सीलिएक एलर्जी कहते हैं, सीलिएक छोटी आंत की बीमारी है, जिसे गेहूं या अन्य साबुत अनाजों से होने वाली एलर्जी भी कहा जाता है। यह बीमारी शरीर द्वारा ग्लूटेन नामक प्रोटीन अवशोषित नहीं कर पाने की वजह से होती है। इस बीमारी का पता लगाने के लिए ब्लड टेस्ट किया जाता है। बीमारी होने की पुष्टि हो जाने के बाद प्रभावित व्यक्ति को जीवनभर ग्लूटेन फ्री डाइट लेनी होती है। दवाइयों या अन्य किसी तरीके से इसका इलाज नहीं किया जा सकता है। अगर आपको ग्लूटेन एलर्जी है तो ये तीन स्थितियां आपकी समस्या को बढ़ा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : Gluten Free Breakfast: ग्लूटेन फ्री ब्रेकफास्ट के लिए अपनाएं ये खास तरीके, जानें क्यों है ये जरूरी

1. सीलिएक रोग

शरीर में ग्लूटेन एलर्जी का मुख्य कारण सिलिएक रोग को माना जाता है। यह एक ऑटोइम्यून बीमारी है जो शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पर असर पहुंचाती है। सेलिएक रोग से पीड़ित व्यक्ति की छोटी आंत पर इसका गहरा असर होता है और इसकी वजह से मरीज को उल्टी, दस्त, सूजन और पेट दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। सिलिएक रोग के कारण लोगों में लंबे समय तक ग्लूटेन एलर्जी की समस्या बनी रह सकती है। सिलिएक रोगों के कारण ग्लूटेन एलर्जी से पीड़ित व्यक्ति में ये स्थितियां हो सकती हैं।

  • बोन डेंसिटी में कमी
  • आयरन की कमी
  • खून की कमी 
  • वजन घटना
  • मांसपेशियों की कमजोरी
Conditions-That-Affect-Gluten-Sensitivity
(image source - freepik.com)

2. व्हीट एलर्जी 

कुछ लोगों को गेहूं में मौजूद प्रोटीन से एलर्जी की समस्या होती है। ऐसे लोगों को गेहूं के सेवन से कई दिक्कतें हो सकती हैं। ग्लूटेन में भी गेहूं में पाए जाने वाले प्रोटीन मौजूद होते हैं ऐसी परिस्थिति में लोगों में गेहूं से एलर्जी होने के कारण ग्लूटेन से भी एलर्जी हो सकती है। बच्चों में गेहूं से एलर्जी की समस्या सबसे आम है। कई बार बच्चों में गेहूं या इससे बनी चीजों के सेवन से दिक्कतें होती हैं। ऐसी स्थिति में एलर्जी के प्रति उनके शरीर में प्रतिरक्षा प्रक्रिया तेजी से काम करने लगती है जिसकी वजह से संवेदनशीलता पैदा हो सकती है। यही समस्या आगे चलकर ग्लूटेन एलर्जी में बदल जाती है और लोगों में लंबे समय तक बनी रह सकती है। 

3. नॉन सिलिएक ग्लूटेन एलर्जी

नॉन सिलिएक ग्लूटेन एलर्जी वह स्थिति होती है जिसमें व्यक्ति को सिलिएक रोग नहीं होता है लेकिन फिर भी उस व्यक्ति को ग्लूटेन एलर्जी की समस्या होती है। जिन लोगों को गेहूं या अन्य चीजों के सेवन से संवेदनशीलता या एलर्जी होती है वे नॉन सिलिएक ग्लूटेन एलर्जी की केटेगरी में आते हैं। आज के समय में नॉन सिलिएक ग्लूटेन एलर्जी लोगों में ग्लूटेन एलर्जी का सबसे आम कारण बन गया है। विशेष रूप से महिलाएं इस समस्या से ग्रसित होती हैं। इन स्थिति में मरीजों को ये दिक्कतें हो सकती हैं।

Conditions-That-Affect-Gluten-Sensitivity
(image source - freepik.com)

ग्लूटेन फ्री डाइट का सेवन करने से इन स्थितियों में और ग्लूटेन एलर्जी की समस्या में सुधार हो सकता है। नॉन-सीलिएक ग्लूटेन संवेदनशीलता आमतौर पर शरीर की ऑटोइम्यून प्रतिक्रिया के कारण विकसित होती है। हालांकि, ग्लूटेन प्रोटीन पर प्रतिक्रिया करने वाली ऑटोइम्यून प्रतिक्रिया का कारण अभी भी पता नहीं चला है। आप ऐसी स्थितियों में चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

(main image source - sodelicious.recipes)

Disclaimer