Doctor Verified

क्या होम्योपैथी में है थायराइड का जड़ से इलाज? जाने क्या है एक्सपर्ट की राय

Homeopathy and Thyroid Treatment: थायराइड का होम्योपैथिक में इलाज किया जा सकता है या नहीं, अगर आप इस बात से कंफ्यूज हैं तो आइए जानते हैं इस बारे में-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 27, 2022Updated at: Jul 27, 2022
क्या होम्योपैथी में है थायराइड का जड़ से इलाज? जाने क्या है एक्सपर्ट की राय

अक्सर आपने सुना होगा कि थायराइड का जड़ से इलाज नहीं किया जा सकता है। थायराइड मरीज को जिंदगी भर दवाई खानी पड़ती है। क्या आप भी ऐसा सोचते हैं? एलोपैथी में भले ही थायराइड का जड़ से इलाज न हो, लेकिन होम्योपैथी इसके जड़ से इलाज का दावा करती है। इस विषय पर जानकारी के लिए हमने नोएडा स्थिति होम्योपैथिक क्लीनिक के होम्योपैथिक डॉक्टर अभिजीत बनर्जी से बातचीत की। आइए जानते हैं क्या कहते हैं डॉक्टर? Thyroid Treatment

क्या होम्योपैथिक में है थायराइड का जड़ से इलाज -  Can Homeopathy cure permanently

डॉक्टर अभिजीत बनर्जी का कहना है कि होम्योपैथिक में थायराइड (थायराइड को जड़ से खत्म कैसे करें) का जड़ से इलाज किया जा सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि केस ज्यादा पुराना (10 साल के ऊपर ) न हो। अगर आपको 5 से 6 साल से थायराइड की परेशानी है, तो आप किसी अच्छे होम्योपैथिक डॉक्टर से कंसल्ट करके थायराइड का इलाज करवा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - थायराइड में इन 5 फलों का करें सेवन, कई समस्याएं रहेंगी दूर

डॉक्टर का कहना है कि ज्यादा पुराने मामले में मरीज की बॉडी दवाई खाने की आदी हो जाती है, इसलिए इसका इलाज करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। हालांकि, अगर आपको 5 से 6 साल से थायराइड है, तो आप इसका इलाज करवा सकते हैं।

कैसे होता है ट्रीटमेंट?

डॉक्टर का कहना है कि किसी भी बीमारी का इलाज होम्योपैथी में दो तरीके (Is thyroid curable in homeopathic medicine) से किया जाता है। पहले तरीके में मरीज के मेंटल और फिजिकल लक्षणों के बारे में जाना जाता है। इसके बाद मरीज के कारणों और लक्षणों के आधार उन्हें दवा दी जाती है। इसे क्लासिकल ट्रीटमेंट का नाम दिया गया है। 

दूसरे में स्पेसिफिक दवाइयां दी जाती हैं, जैसे- अगर किसी को थायराइड है, तो उन्हें थायराइड की तरह-तरह की 7-8 दवाइयां दी जाती हैं। इस स्थिति में मरीज को जो दवा सूट हो जाती है, उसे लॉन्ग टर्म तक दिया जाता है। हालांकि, यह ट्रीटमेंट उतना ज्यादा प्रभावी नहीं होता है। इसमें शुरुआती अवस्था में आपको फायदा हो सकता है, लेकिन लंबे समय तक यह उतना प्रभावी इलाज नहीं माना जाता है। इसलिए थायराइड के मरीजों के इलाज के लिए पहला तरीका बेस्ट माना जाता है। 

टीएसएच 400 क्रॉस हो तो क्या करें?

डॉक्टर अभिजीत का कहना है कि सामान्यतः ब्लड में टीएसएच स्तर 400 क्रॉस होना मुश्किल है, लेकिन अगर ऐसी स्थिति बन रही है तो यह थायराइड ग्लैंड की नहीं, बल्कि पिट्यूटरी ग्लैंड की समस्या हो सकती है। इस स्थिति में मरीज को तुरंत किसी अच्छे हॉस्पिटल या चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए। डॉ. अभिजीत बनर्जी बताते हैं कि दिल्ली स्थित होम्योपैथिक सेंटर डीआरडीओ (इंस्टिट्यूट ऑफ़ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड एलाइड साइंसेज) में थायराइड के एडवांस लेवल मरीजों के इलाज की सुविधाएं मौजूद हैं। 

कब हो सकता है थायराइड का इलाज

  • अगर आपको 4-5 साल से थायराइड है, तो इस स्थिति में आप होम्योपैथिक दवा ले सकते हैं। 
  • थायराइड में अगर टीएसएच का स्तर 200 के नीचे है, तो आप इस स्थिति में किसी भी अच्छे होम्योपैथिक डॉक्टर से इलाज करवा सकते हैं।

क्या पूरी जिंदगी खानी पड़ती है थायराइड की दवा

डॉक्टर का कहना है कि अगर आप समय पर होम्योपैथिक ट्रीटमेंट लेते हैं, तो आपको पूरी जिंदगी थायराइड की दवा लेने की जरूरत नहीं पड़ती है। कुछ समय तक इलाज के बाद सभी तरह की दवाएं बंद की जा सकती हैं। हालांकि, एलोपैथिक ट्रीटमेंट में आपको पूरी जिंदगी दवा खाने की आवश्यकता पड़ सकती है। 

 
Disclaimer