Expert

रेस्तरां में खाते हैं बटर नान? जान लें 5 नुकसान

रेस्‍तरां में आपने भी कई बार बटर नान खाई होगी, लेक‍िन इसमें छुपे बुरे प्रभावों पर कभी गौर क‍िया है? चल‍िए बताते हैं बटर नान खाने के 5 नुकसान

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Oct 28, 2022 09:30 IST
रेस्तरां में खाते हैं बटर नान? जान लें 5 नुकसान

रेस्‍तरां में खाई जाने वाली सबसे आम ड‍िश है बटर नान। क‍िसी भी नॉर्थ इंड‍ियन रेस्‍तरां में चले जाइए, आपको वहां बटर नान जरूर म‍िलेगी। सब्‍ज‍ी, करी, दाल हो या च‍िकन ग्रेवी, इन सभी के साथ बटर नान शौक से खाई जाती है। स्‍वाद में लजीज बटर नान सेहत के ल‍िए उतनी सेहतमंद नहीं होती, ज‍ितना आप इसका सेवन करते हैं। रेस्‍तरां में जब हम बटर नान आर्डर करते हैं, तो नान के 3 टुकड़े म‍िलते हैं। 3 टुकड़े म‍िलकर एक नान बनती है। एक नान में करीब 10 से 12 ग्राम अनहेल्‍दी फैट मौजूद होता है। बटर नान में करीब 200 कैलोरीज होती हैं। इसमें कॉर्ब्स भी मौजूद होता है। आख‍िर बटर नान का सेवन करने से आपको क्‍यों बचना चाह‍िए इसके ल‍िए 5 तर्क आपको जान लेने चाह‍िए। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने Holi Family Hospital, Delhi की डायटीश‍ियन Sanah Gill से बात की।

butter naan

1. हार्ट के ल‍िए अनहेल्‍दी है बटर नान 

बटर नान के म‍िश्रण में और उसे गार्न‍िश करने के ल‍िए मक्‍खन का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। मक्‍खन में सैचुरेटेड फैट की मात्रा ज्‍यादा होती है। इससे कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है। कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने से हार्ट की बीमारी का खतरा बढ़ सकता है। ज्‍यादा च‍िकनाहट भरी ड‍िशेज से दूर रहना चाह‍िए। इसमें वसा भी ज्‍यादा होता है ज‍िससे मोटापा बढ़ता है। 

इसे भी पढ़ें- जंक फूड और फास्ट फूड में क्या अंतर होता है? जानें ये क्यों माने जाते हैं सेहत के लिए नुकसानदायक    

2. बटर नान खाने से वजन बढ़ जाएगा

नान को मैदा से बनाया जाता है। मैदा एक प्रकार का र‍िफाइंड कॉर्ब्स है। ये सेहत के ल‍िए अच्‍छा नहीं होता। ज्‍यादा मैदा का सेवन करेंगे, तो शरीर में मोटापे की समस्‍या बढ़ सकती है। मैदा को शरीर पूरी तरह से पचा नहीं पाता और फैट के रूप में स्‍टोर कर लेता है। जो लोग पहले से मोटापे से पीड़‍ित हैं, उन्‍हें बटर नान का सेवन करने से बचना चाह‍िए।

3. डायब‍िटीज के मरीजों के ल‍िए नुकसानदायक 

बटर नान का सेवन डायब‍िटीज और हार्ट के मरीजों को नहीं करना चाह‍िए। नान को मैदा डालकर तैयार क‍िया जाता है। मैदा सेहत के ल‍िए नुकसानदायक होता है। मैदा का ज्‍यादा सेवन करने से शुगर लेवल बढ़ जाता है। साथ ही इसमें मौजूद बटर की च‍िकनाहट, शरीर में फैट की मात्रा बढ़ा देती है। नान खाने का मन है, तो होल वीट ग्रेन से बनी नान का सेवन कर सकते हैं।

4. ग्‍लूटन फ्री नहीं है बटर नान 

बटर नान एस‍िड‍िक फूड्स की श्रेणी में आती है। बटर नान ग्‍लूटन फ्री भी नहीं होती है। ज‍िन लोगों को ग्‍लूटन नहीं सूट करता उन्‍हें ग्‍लूटन युक्‍त बटर नान खाने से जोड़ों में दर्द, थकान, कब्‍ज, डायर‍िया और पेट में दर्द आद‍ि समस्‍याएं हो सकती हैं। 

5. पेट से जुड़ी समस्‍याएं हो सकती हैं 

बटर नान में मौजूद फैट, मैदा, बटर के कॉम्‍ब‍िनेशन से पेट से जुड़ी समस्‍याएं जैसे कब्‍ज, एस‍िड‍िटी, पेट में दर्द और गैस की समस्‍या आद‍ि हो सकती हैं। ज‍िन लोगों को आटा, मैदा या दूध से एलर्जी है, उनके ल‍िए भी बटर नान का सेवन नुकसानदायक हो सकता है।      

बटर नान खाकर कैलोरीज कैसे घटाएं? 

बटर नान खाने के बाद आपके शरीर में करीब 200 कैलोरीज गई होंगी। 200 कैलोरीज घटाने के ल‍िए कम से कम 60 म‍िनट वॉक करें। या आधे घंटे रन‍िंग कर सकते हैं। 40 से 50 म‍िनट साइकि‍ल चलाकर भी 200 कैलोरीज घटा सकते हैं।

अगली बार जब आप रेस्‍तरां जाएं, तो सब्‍जी या दाल के साथ सादी रोटी आर्डर करें। बटर नान के ज्‍यादा सेवन से बचना चाह‍िए।  

Disclaimer