Expert

दूध से है एलर्जी? ट्राई करें ये 5 वीगन मिल्क, जानें इसके फायदे

नूट्रिशनिस्ट का कहना है कि जो लोग पशुओं से मिलने वाले दूध का सेवन नहीं कर सकते हैं उन्हें प्लांट बेस्ड मिल्क या वीगन मिल्क का सेवन करना चाहिए।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Aug 08, 2022Updated at: Aug 08, 2022
दूध से है एलर्जी? ट्राई करें ये 5 वीगन मिल्क, जानें इसके फायदे

बच्चे, बड़े और बुजुर्ग डॉक्टर हर किसी को दूध पीने की सलाह देते हैं। दूध कैल्शियम और प्रोटीन का बेस्ट सोर्स माना जाता है। नियमित तौर पर दूध का सेवन करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने, दांतों को हेल्दी बनाए रखने, स्ट्रेस को दूर करने और स्किन को ग्लोइंग बनाने में मदद मिलती है। वजन बढ़ाने के लिए दूध में शहद और किशमिश मिलाकर पीने की सलाह दी जाती है। हालांकि ज्यादातर लोगों को दूध का टेस्ट पसंद नहीं आता है। बदलते लाइफस्टाइल में कई लोगों में दूध से एलर्जी की भी समस्या देखी जा रही है। ऐसे में सवाल उठता है कि जो लोग दूध का सेवन नहीं कर सकते हैं या नहीं करना चाहते हैं वो कैल्शियम की कमी को कैसे पूरा करें। नूट्रिशनिस्ट प्रियांशी भटनागर का कहना है कि जो लोग पशुओं से मिलने वाले दूध का सेवन नहीं कर सकते हैं उन्हें प्लांट बेस्ड मिल्क या वीगन मिल्क का सेवन करना चाहिए। नूट्रिशनिस्ट का कहना है कि वीगन मिल्क लैक्टोज मुक्त होता है इसलिए इसके साइड इफेक्ट नहीं होते हैं। आइए जानते हैं कौन से हैं वीगन मिल्क, जिसे गाय और भैंस के दूध की जगह पर ट्राई किया जा सकता है।

 इसे भी पढ़ेंः Raksha Bandhan 2022: रक्षाबंधन से पहले ऐसे करें फेस क्लीनअप, बढ़ेगा चेहरे का ग्लो

1. बादाम का दूध  (Almond Milk)

बादाम का दूध पोषक तत्वों से भरपूर होता है। बादाम के दूध में बहुत कम कैलोरी पाई जाती है, जो शरीर का वजन मैनेज करने में मददगार साबित होता है। बादाम के दूध में गाय के दूध जितना ही कैल्शियम पाया जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो कैंसर और हार्ट प्रॉब्लम से राहत दिलाने में मददगार साबित होते हैं।

2. सोया मिल्क (Soya Milk)

सोया मिल्क में नॉर्मल दूध के समान ही पर्याप्त मात्रा में पोषण और कैल्शियम पाया जाता है। सोया मिल्क में आइसोफ्लेवोंस और फाइटोस्टेरॉल नामक यौगिक होते हैं, जो कैंसर, हार्ट और ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम करने में मददगार साबित होते हैं। आप सोया मिल्क को कॉफी, चाय और स्वीट डिश में भी शामिल कर सकते हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक सोया मिल्क का सेवन करने से वजन को नियंत्रित रखने में भी मदद मिलती है।

Coconut_milk_For_weight_loss

3. कोकोनट मिल्क  (Coconut Milk)

कोकोनट मिल्क यानी की नारियल का दूध। आमतौर पर कोकोनट मिल्क का इस्तेमाल खाने को पकाने के लिए किया जाता है। नारियल के दूध में विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन बी-1, विटामिन बी-3, विटामिन बी-5 और विटामिन बी-6 के साथ-साथ लोहा, सेलेनियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम पाया जाता है। नियमित तौर पर कोकोनट मिल्क का सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती हैं। गाय या भैंस के दूध की तरह आप कोकोनट मिल्क को चाय और कॉफी में शामिल कर सकते हैं। करी, सब्जी, सूप, स्मूदी, चिया सीड पुडिंग और केक में भी आप कोकोनट मिल्क का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः आंखों के पास मस्से होने पर आजमाएं ये घरेलू उपाय, मिलेगा छुटकारा

4.कैश्यू मिल्क  (Cashew Milk)

काजू से बनने वाले इस खास दूध के बारे में आज भी ज्यादा लोगों को जानकारी नहीं हैं। काजू के दूध का न सिर्फ स्वाद अनोखा होता है, बल्कि इसमें हल्दी मिठास पाई जाती है। डायबिटीज और हार्ट के मरीजों के लिए काजू के दूध का सेवन करना काफी फायदेमंद माना जाता है। काजू के दूध में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है।

Oats_milk_Health_Benefits

5. ओट्स मिल्क (Oats Milk)

आजकल हेल्दी रहने के लिए ओट्स के सेवन का ट्रेंड काफी बढ़ गया है। ओट्स की तरह ओट्स मिल्क भी सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है। ओट्स मिल्क में एक नैचुरल मिठास पाई जाती है, जिसे चाय और दूध में बिना किसी अतिरिक्त कैलोरीज के इस्तेमाल किया जा सकता है।

Disclaimer