Doctor Verified

प्रेग्नेंसी में नार‍ियल पानी पीने से म‍िलते हैं ये 5 फायदे, आप भी जरूर जानें

प्रेग्नेंसी के दौरान नार‍ियल पानी का सेवन फायदेमंद माना जाता है, आप भी जानें इसके 5 लाभ

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: May 18, 2022Updated at: May 18, 2022
प्रेग्नेंसी में नार‍ियल पानी पीने से म‍िलते हैं ये 5 फायदे, आप भी जरूर जानें

एक कप नारियल पानी में क्या होता है? एक कप नार‍ियल पानी की बात करें तो उसमें करीब 45 कैलोरीज होती हैं, करीब 10 ग्राम कॉर्ब, 4 ग्राम फाइबर और 2 ग्राम प्रोटीन होता है। इसके अलावा नार‍ियल पानी में व‍िटाम‍िन सी, मैग्‍नि‍शि‍यम, पोटैश‍ियम, सोड‍ियम, कैल्‍श‍ियम की भी अच्‍छी मात्रा होती है। नारियल पानी में क्‍लोराइड, इलेक्‍ट्रोलाइट भी मौजूद होता है। नार‍ियल पानी का सेवन गर्भवती मह‍िलाओं के ल‍िए फायदेमंद माना जाता है। इसका सेवन करने से प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली कई समस्‍याओं से न‍िजात म‍िलता है। इस लेख में हम प्रेगनेंसी के दौरान नार‍ियल पानी पीने के फायदे पर बात करेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के वेलनेस डाइट क्‍लीन‍िक की डायटीश‍ियन डॉ स्‍म‍िता सिंह से बात की।   

nariyal pani       

प्रेगनेंसी में नार‍ियल पानी पीने के फायदे (Benefits of nariyal pani during pregnancy)

1. प्रेगनेंसी में कब्‍ज की समस्‍या एक आम परेशानी बन जाती है, दवाओं के सेवन से और डाइजेशन कमजोर होने के कारण अक्‍सर गर्भवती मह‍िलाओं को कब्‍ज की श‍िकायत (constipation in hindi) होती है ज‍िसे दूर करने के ल‍िए वे नार‍ियल पानी का सेवन कर सकती हैं। नार‍ियल पानी का सेवन करने से कब्‍ज की समस्‍या तो दूर होती ही है साथ ही पाचन तंत्र भी मजबूत बनता है।

2. प्रेगनेंसी में मॉर्न‍िंग स‍िकनेस (morning sickness during pregnancy) भी एक आम समस्‍या है ज‍िसे दूर करने के ल‍िए आप सुबह उठकर नार‍ियल पानी का सेवन कर सकते हैं। नार‍ियल पानी का सेवन करने से थकान के लक्षण दूर होते हैं और शरीर में एनर्जी बढ़ती है ज‍िसे आपको फटीग या स‍िर में दर्द की समस्‍या से भी राहत म‍िलेगी। नार‍ियल पानी में कैलोरी न के बराबर होती हैं इसल‍िए इसकी च‍िंता मत कर‍िए क‍ि इसका सेवन करने से फैट बढ़ेगा, उल्‍टा नार‍ियल पानी का सेवन करने से वजन कंट्रोल में रहता है क्‍योंक‍ि इसमें ओमेगा 3 फैटी एस‍िड और फाइबर मौजूद होता है।   

3. प्रेगनेंसी में इम्‍यून‍िटी कम हो जाती है और इंफेक्‍शन का खतरा बढ़ जाता है, मह‍िलाओं में इस दौरान यूटीआई होना या यूट्रस में संक्रमण होने की आशंका ज्‍यादा होती है ज‍िसे दूर करने के ल‍िए अपको नार‍ियल पानी का सेवन करना चाह‍िए। नार‍ियल पानी का सेवन  (coconut water in hindi) करने से आप संक्रमण से बच सकते हैं। इस तरह के संक्रमण से बचने के ल‍िए प्रेगनेंसी के दौरान रोग प्रत‍ि‍रोधक क्षमता बढ़ाने में भी नार‍ियल पानी फायदेमंद होता है। 

4. प्रेगनेंसी की पहली ति‍माही के दौरान  भ्रूण का व‍िकास हो रहा होता है और इस दौरान मां के शरीर को पोषक तत्‍वों की जरूरत होती है ज‍िसकी पूर्ति‍ नार‍ियल पानी का सेवन करने से हो सकती है। आप इस बात का ध्‍यान रखें क‍ि ज‍िस समय नार‍ियल काटा जाए उसी समय उसका पानी पी लें तभी आपको पोषक तत्‍वों का फायदा म‍िलेगा। 

5. प्रेगनेंसी के दौरान जी म‍िचलाने, उल्‍टी आने या एस‍िड‍िटी की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए भी आप नार‍ियल पानी का सेवन (coconut water during pregnancy) कर सकते हैं। नार‍ियल पानी की तासीर ठंडी होती है, इसका सेवन करने से बुखार, उल्‍टी, अपच जैसी समस्‍या दूर होती है। नार‍ियल पानी का सेवन करने से क‍िडनी की सेहत भी अच्‍छी रहती है और सीने में जलन की समस्‍या से भी न‍िजात म‍िलता है। 

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी की पहली त‍िमाही में कौनसे टेस्‍ट जरूरी होते हैं? जानें डॉक्‍टर से

प्रेगनेंसी में कितना नार‍ियल पानी पीना चाहिए? (Right quantity of coconut water during pregnancy)

प्रेगनेंसी के दौरान आपको खास ख्‍याल रखना है क‍ि क‍िसी भी चीज का ज्‍यादा सेवन आपके शरीर को नुकसान न पहुंचाए। नार‍ियल पानी प्रेगनेंसी के दौरान पीना फायदेमंद होता है पर इसका ज्‍यादा सेवन करने से आपको बचना चाह‍िए। आप प्रेगनेंसी के दौरान रोजाना एक ग‍िलास नार‍ियल पानी का सेवन कर सकते हैं। अगर आपको नार‍ियल पानी का ज्‍यादा पसंद नहीं है तो आप उसे स्‍क‍िप भी कर सकती हैं पर जबरदस्‍ती नार‍ियल पानी का सेवन करने से बचें।

प्रेगनेंसी के दौरान आप रोजाना एक ग‍िलास नार‍ियल पानी का सेवन कर सकते हैं, ध्‍यान रखें क‍ि नार‍ियल ताजा और साफ हो, फफूंद या छेद वाले नार‍ियल का सेवन न करें।

Disclaimer