कुटज के पौधे से दूर होती हैं स्किन की कई समस्याएं, जानें इसके फायदे और प्रयोग

कुटज की मदद से स्‍क‍िन से जुड़े रोग, सूजन, जलन, खुजली और अन्‍य समस्‍याओं से न‍िजात म‍िलता है, जानें कैसे करें इस्‍तेमाल

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 26, 2021
कुटज के पौधे से दूर होती हैं स्किन की कई समस्याएं, जानें इसके फायदे और प्रयोग

कुटज में एंटी-फंगल गुण होते हैं। आयुर्वेद में स्‍क‍िन से जुड़ी कई समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए कुटज का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। कुटज को कई क्रीम कंपनी अपने प्रोडक्‍ट में इस्तेमाल करती हैं। कुटज में हील‍िंग गुण होते हैं, इससे त्‍वचा संबंधी श‍िकायतें या घाव ठीक हो जाता है। कई हील‍िंग क्रीम में भी कुटज का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। कुटज की छाल या पत्‍ते का स्‍वाद कड़वा होता है। कुटज की जड़, तना, पत्‍ते और फूल सभी फायदेमंद होते हैं। आप कुटज का रस, पेस्‍ट, काढ़ा, लेप आद‍ि बनाकर इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में हम कुटज के फायदे और स्‍क‍िन समस्‍याओं में कुटज के इस्‍तेमाल पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

kutaj  

1. एक्‍ज‍िमा में इस्‍तेमाल करें कुटज (Kutaj helps to cure eczema)

अगर आपको स्‍क‍िन रोग एक्‍ज‍िमा है तो आप कुटज का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। एक्‍ज‍िमा क्‍या होता है? एक्‍ज‍िमा होने पर आपकी त्‍वचा में लालपन, खुजली, खुरदुरी त्‍वचा हो जाती है। कुछ लोगों में फफोले की समस्‍या भी होती है। एक्‍जिमा होने पर आप कुटज के फूल का रस या दूध इफेक्‍टेड एर‍िया पर लगा लें या छाल का पेस्‍ट भी इंफेक्‍शन वाले ह‍िस्‍से में लगा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- कॉफी से बना ये साबुन हर तरह की स्किन के लिए है फायदेमंद, जानें इसे बनाने का तरीका और 6 फायदे

2. स्‍क‍िन इंफेक्‍शन में फायदेमंद है कुटज का इस्‍तेमाल (Kutaj can cure skin infection)

त्‍वचा रोग होने पर आप कुटज की छाल से काढ़ा बनाकर प‍िएं इससे स्‍क‍िन अंदर से हील होगी। अगर आपको बार-बार स्‍क‍िन इंफेक्‍शन की समस्‍या रहती है तो ये काढ़ा आपके ल‍िए फायदेमंद होगा। आप कुटज की छाल का पाउडर काढ़े में इस्‍तेमाल कर रहे हैं तो 2 से 5 ग्राम से ज्‍यादा इस्‍तेमाल न करें। अगर छाल का जूस बना रहे हैं तो भी आपको 7 से 8 ग्राम से ज्‍यादा इस्‍तेमाल नहीं करना चाह‍िए। 

3. फफोला हो जाए तो इस्‍तेमाल करें कुटज (Use kutaj to cure blisters)

blister in leg

अगर आपकी स्‍क‍िन में फफोला हो जाए तो कुटज की छाल को पीस लें और उसे चावल के पानी में म‍िलाकर फफोले पर लगा लें। इससे आपकी स्‍क‍िन ठीक हो जाएगी। फुंसी हो जाने पर भी आप इस नुस्‍खे को आजमा सकते हैं। कुटज के इस्‍तेमाल से जलन और दर्द से भी राहत म‍िलती है। अक्‍सर इंफेक्‍शन या फुंसी हो जाने पर दर्द होता है आप कुटज का इस्‍तेमाल करेंगे तो दर्द की समस्‍या दूर होगी। 

4. त्‍वचा में सूजन हो तो लगाएं कुटज की छाल का पेस्‍ट (Kutaj helps to cure skin swelling)

अगर त्‍वचा में खुजली या सूजन है तो भी आप कुटज की छाल का पेस्‍ट लगा सकते हैं, इससे स्‍क‍िन में होने वाली सूजन या खुजली से न‍िजात म‍िलता है। कीड़ा काटने पर कुटज के बीजों का पाउडर लगाया जाता है ज‍िससे जख्‍म या इंफेक्‍शन जल्‍दी ठीक हो जाता है। डॉ मनीष ने बताया क‍ि अगर आप स्‍तनपान करवाती हैं या गर्भवती हैं तो कुटज का इस्तेमाल न करें। इसके अलावा अगर आप क‍िसी दवा का सेवन करते हैं तो भी आपको डॉक्‍टर की सलाह पर ही कुटज का सेवन करना चाह‍िए।

इसे भी पढ़ें- मुलेठी से बनाएं ये बेहतरीन फेसपैक, लगाते ही चेहरे पर आएगी ताजगी और त्वचा लंबे समय तक दिखेगी जवां

5. स्‍क‍िन में घाव है तो इस्‍तेमाल करें कुटज (Kutaj helps in healing wound)

kutaj benefits

अगर आपकी स्‍क‍िन में घाव है तो भी आप कुटज की छाल का इस्तेमाल करें। कुटज की छाल से बने पेस्‍ट को घाव पर लगाएंगे तो घाव जल्‍दी भर जाएगा। घाव को इंफेक्‍शन से बचाने के ल‍िए आप कुटज के बीज का पेस्‍ट बनाकर घाव पर लगाएं तो इंफेक्‍शन नहीं होगा।

स्‍क‍िन इंफेक्‍शन के अलावा कुटज कॉन्‍सट‍िपेशन, वर्ट‍िगो, जी म‍िचलाना, सर्दी लगने जैसी समस्‍याओं में भी फायदेमंद माना जाता है। अगर आपको कोई मेड‍िकल कंडीशन हो या अन्‍य समस्‍याएं हों तो डॉक्‍टर की सलाह पर ही इसका इस्‍तेमाल करें।

Read more on Skin Care in Hindi 

Disclaimer