प्रेगनेंसी में शतावरी (सतावर) खाने के फायदे, नुकसान और जरूरी सावधानियां

प्रेगनेंसी में कई चीजाें से परहेज करने काे कहा जाता है। क्या प्रेगनेंसी में शतावरी का सेवन करना चाहिए? जानें इसके फायदे-नुकसान-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Aug 09, 2021 10:11 IST
प्रेगनेंसी में शतावरी (सतावर) खाने के फायदे, नुकसान और जरूरी सावधानियां

गर्भावस्था किसी भी महिला का एक सबसे बड़ा सपना हाेता है। इस दौरान महिलाओं काे अपने साथ ही अपने शिशु का भी ख्याल रखना हाेता है। प्रेगनेंसी में महिलाएं अपने स्वास्थ्य काे बेहतर बनाने के लिए अच्छी डाइट फॉलाे करती हैं। लेकिन कई चीजाें में वे कंफ्यूज हाे जाती हैं कि उन्हें इनका सेवन करना चाहिए या नहीं? इन्हीं में से एक है शतावरी यानी सतावर। शतावरी पाेषण तत्वाें से भरपूर हाेता है। लेकिन क्या प्रेगनेंसी में महिलाओं काे इसका सेवन करना चाहिए? चलिए जानते हैं गर्भावस्था में शतावरी खाने के फायदे और नुकसान (Benefits and Side Effects of Eating Shatavari in Pregnancy)-

शतावरी में पाेषक तत्व (Nutrients in Shatavari )

  • विटामिन ए (Vitamin A)
  • विटामिन सी (Vitamin C)
  • विटामिन के (Vitamin K)
  • बी-6 फॉलिक एसिड (B-6 Folic Acid)
  • एंटी ऑक्सीडेंट (Anti Oxidants)
  • कैल्शियम (Calcium)
  • प्राेटीन (Protein)
  • फाइबर  (Fiber)

प्रेगनेंसी में शतावरी खाने के फायदे (Benefits of Eating Shatavari in Pregnancy)

शतावरी पाेषक तत्वाें से भरपूर हाेता है। इसलिए इसका सेवन किसी भी स्थिति में किया जा सकता है। लेकिन प्रेगनेंसी में शतावरी का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। तभी आपकाे इसके पूरे लाभ मिल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - कर रही हैं मां बनने की प्लानिंग? डॉक्टर से जानें प्रेगनेंसी के पहले मन में उठने वाले सभी सवालों के जवाब

1. भ्रूण के लिए फायदेमंद

प्रेगनेंसी में शतावरी खाने से महिलाओं के साथ ही भ्रूण के लिए भी फायदेमंद हाेता है। दाेनाें काे इसके सेवन से लाभ मिलते हैं। शतावरी में मौजूद फाेलेट भ्रूण के लिए लाभकारी हाेता है। यह भ्रूण के स्वास्थ्य काे बेहतर बनाता है और जन्मजात से जुड़ी समस्याओं काे दूर करता है।

2. राेग प्रतिराेधक क्षमता बढ़ाए

शतावरी में विटामिन सी के साथ ही अन्य कई पाेषक तत्व भी हाेते हैं, जाे शरीर की राेग प्रतिराेधक क्षमता बढ़ाने में मददगार हाेते हैं। प्रेगनेंसी के समय महिलाओं काे अपना इम्यून सिस्टम मजबूत रखना बहुत जरूरी हाेता है, ऐसे में आप चाहें ताे शतावरी का सेवन कर सकते हैं। इससे महिला स्वस्थ रहती है, ताे भ्रूण भी स्वस्थ रहता है।

3. हड्डियां मजबूत बनाए 

शतावरी में कैल्शियम काफी अच्छी मात्रा में हाेता है। प्रेगनेंसी में अकसर महिलाएं जाेड़ाें या हड्डियाें में दर्द की शिकायत करती हैं, ऐसे में शतावरी का सेवन लाभकारी हाे सकता है। इससे शरीर में कैल्शियम की पूर्ति हाेती है और शरीर स्वस्थ रहता है। इससे आप हड्डियां मजबूत बना सकती हैं। 

4. दूध का उत्पादन बढ़ाए

शतावरी प्रेगनेंसी के साथ ही स्तनपान वाली महिलाओं के लिए भी लाभकारी हाेता है। स्तनपान के दौरान शतावरी का सेवन करने से महिलाओं में दूध का उत्पादन भी बढ़ाता है। 

प्रेगनेंसी में शतावरी खाने के नुकसान (Side Effects of Eating Shatavari in Pregnancy)

  • प्रेगनेंसी में शतावरी खाने के फायदे ही नहीं नुकसान भी हाे सकते हैं। इसलिए इसे खाने से पहले आपकाे डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
  • शतावरी का सेवन करने से शिशु काे नुकसान हाे सकता है। इसलिए इसका सेवन हमेशा डॉक्टर की सलाह पर ही करें।
  • इसके अत्याधिक मात्रा में सेवन से शिशु के विकास में भी बाधा उत्पन्न हाे सकती है।
  • शतावरी का अधिक मात्रा में सेवन से पैराें में सूजन आ सकती है। 

प्रेगनेंसी में शतावरी खाते वक्त सावधानियां 

  • शतावरी का सेवन सीमित मात्रा में करें। डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें।
  • अगर गर्भावस्था के दौरान काेई जटिलता महसूस हाे ताे इसका सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के न करें।
  • कई महिलाओं काे इससे एलर्जी हाे सकती है। इसलिए इसका ध्यान जरूर रखें।

अगर आप भी प्रेगनेंट हैं, ताे डॉक्टर की सलाह पर शतावरी का सेवन कर सकती हैं। बिना डॉक्टर की सलाह का इसका सेवन करना नुकसानदायक भी हाे सकता है।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer