बरगद का फल होता है कई रोगों में फायदेमंद, जानें इसके 7 औषधीय उपयोग

आयुर्वेद में अत्यंत लाभकारी औषधि के रूप में इस्तेमाल किये जाने वाले बरगद के फल का सेवन कर आप इन 7 समस्याओं में फायदा पा सकते हैं।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 12, 2021Updated at: Jul 12, 2021
बरगद का फल होता है कई रोगों में फायदेमंद, जानें इसके 7 औषधीय उपयोग

हिंदू संस्कृति में बरगद को पवित्र और धार्मिक वृक्ष माना जाता है। उत्तर भारत समेत कई जगहों पर इसकी पूजा भी की जाती है। आयुर्वेद और पारंपरिक चिकित्सा की दृष्टि से भी बरगद का बड़ा महत्व है। हमारी सेहत के लिए बरगद का पेड़ बहुत फायदेमंद होता है। बरगद में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को संतुलित करने में फायदेमंद होते हैं। आयुर्वेद में बरगद के तने, पत्तियों और फलों का इस्तेमाल तमाम प्रकार की बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है। बरगद के फलों में मौजूद खनिज, एंटीऑक्सीडेंट और एनाल्जेसिक गुण कई समस्याओं में फायदेमंद होते है। आईये जानते हैं बरगद के फल (Banyan Fruit) में मौजूद गुण और इसके फायदे (Banyan Fruit Health Benefits) के बारे में।

बरगद के फल में मौजूद गुण (Banyan Fruit Nutrition)

बरगद के फलों का इस्तेमाल प्राचीन काल से ही चिकित्सकीय कार्यों में किया जाता रहा है। बरगद के फल के अलावा इसके पत्ते, छाल, दूध और बीज को भी आयुर्वेदिक तरीके से कई बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। बरगद के फलों में एंटीएंटीऑक्सिडेंट , एनाल्जेसिक, गुण होते हैं, जो शरीर में कई रोगों के इलाज में फायदेमंद (Banyan Fruit Health Benefits) होते हैं। इसके अलावा बरगद के फलों में कार्बोहाइड्रेट, शुगर, फाइबर, प्रोटीन, कैलोरी, विटामिन, ओमेगा 3-6 और  कैल्शियम व फास्फोरस भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। आयुर्वेद में इसके तमाम इस्तेमाल के बारे में बताया गया है। आज इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं बरगद के फलों के 7 औषधीय उपयोग के बारे में। आइये जानते है बरगद के फलों के 7 औषधीय उपयोग।

Banyan-Fruit-Health-Benefits

बरगद के फलों के 7 औषधीय उपयोग (7 Medicinal Uses of Banyan Fruits)

1. हार्ट से जुड़ी समस्याओं में बरगद के फलों का उपयोग (Banyan Fruit Prevents Heart Disease)

दिल से जुड़ी बीमारियों और समस्याओं में बरगद के फल का इस्तेमाल बेहद फायदेमंद माना जाता है। सोडियम और फैट की अधिकता या कई अन्य कारणों से दिल की धमनियां ब्लाक हो जाती हैं जिसकी वजह से हार्ट फेलियर का खतरा बढ़ता है। इस समस्या से बचने के लिए बरगद के फलों का सेवन बहुत उपयोगी होता है। चूंकि बरगद के फल में पोटैशियम की पर्याप्त मात्रा पायी जाती है जिसका सेवन शरीर में सोडियम की मात्रा को संतुलित रखने का काम करता है। इसके अलावा बरगद के फलों में मौजूद तमाम पोषक तत्व जैसे मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, ओमेगा 3 व 6 और पॉलीफेनॉल आदि हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में फायदेमंद होते हैं और दिल से जुड़ी कई समस्याओं के खतरे को कम करने में फायदेमंद माने जाते हैं। दिल से जुड़ी बीमारियों और समस्याओं से बचने के लिए रोजाना बरगद के फल का सेवन करना फायदेमंद होता है।

इसे भी पढ़ें : बरगद के पेड़ का दूध पीने से शरीर को मिलते हैं ये 4 फायदे

2. दांतों की सड़न और मसूड़ों की बीमारियों से बचाता है (Prevents Tooth Decay and Gum Disease)

बरगद के फल का इस्तेमाल दांतों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसके इस्तेमाल से दांतों में होने वाली सड़न और मसूढ़ों की बीमारियों से बचा जा सकता है। बरगद की जड़ों का इस्तेमाल प्राचीन काल से दांत साफ करने के लिए किया जाता रहा है। लोग इसे प्राकृतिक टूथपेस्ट के रूप में बहुत दिनों से इस्तेमाल करते आ रहे हैं। बरगद के फलों में जीवाणुरोधी और कसैले गुण होते हैं जो दांतों के साथ-साथ संपूर्ण ओरल हेल्थ के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। आप रोजाना बरगद के फलों को चबाकर खाएं, इससे दांतों और मसूढ़ों से जुड़ी समस्या में तो फायदा मिलेगी ही इसके साथ आपको मुहं से जुड़ी कई समस्याओं में भी फायदा मिलेगा।

Banyan-Fruit-Health-Benefits

इसे भी पढ़ें : पिंपल्‍स ही नहीं दूसरी समस्‍याओं में भी फायदेमंद है बरगद का पेड़

3. डायरिया में बरगद के फलों का इस्तेमाल (Banyan Fruit usase in Diarrhea)

आयुर्वेद के अनुसार दस्त की समस्या में बरगद को एक प्रभावी औषधि माना जाता है। डायरिया की समस्या किसी भी कारण से हो रही हो इसमें बरगद के फलों का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है और इसके इस्तेमाल से तुरंत राहत भी मिलती है। बरगद के फलों को सुखाकर उनका चूर्ण बनाकर इसका इस्तेमाल डायरिया की समस्या में किया जाता है। अगर आप डायरिया की समस्या से ग्रसित हैं तो बरगद के फलों को लेकर उन्हें छाया में सुखा लें। सूख जाने के बाद इनका चूर्ण बनाकर तैयार कर लें। अब बरगद के फलों के चूर्ण को पानी या दूध में मिलकर भोजन के बाद इसका सेवन करें। ऐसा करने से आपको डायरिया की समस्या में फायदा मिलेगा।

4. डायबिटीज की समस्या में बरगद के फलों का इस्तेमाल (Banyan Fruit for Diabetes)

डायबिटीज की समस्या में बरगद के फलों का इस्तेमाल रामबाण माना जाता है। शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा बढ़ने पर इसका इस्तेमाल किया जाता है। बरगद के फलों के चूर्ण का इस्तेमाल मधुमेह या डायबिटीज की समस्या में फायदेमंद होता है। अगर आप हाई ब्लड शुगर की समस्या से ग्रसित हैं तो 10 से 20 ग्राम बरगद के फलों के चूर्ण का सेवन करें। 

इसे भी पढ़ें : अविपत्तिकर चूर्ण से सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें इसे घर पर बनाने और सेवन करने का सही तरीका

Banyan-Fruit-Health-Benefits

5. गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन) में फायदेमंद (Banyan Fruit Cures Kidney Stones)

बरगद के फलों का इस्तेमाल गुर्दे की पथरी यानि किडनी स्टोन की समस्या में बहुत फायदेमंद होता है। गुर्दे में पथरी होने की समस्या से बरगद के फलों के इस्तेमाल से इसे बाहर कर सकते हैं। आयुर्वेद के मुताबिक मरीज को रोजाना बरगद के फल का पानी पीने चाहिए। बरगद के फलों में मूत्रवर्धक तत्व पाए जाते हैं जो किडनी स्टोन की समस्या में फायदेमंद माने जाते हैं। इसलिए अगर आप गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन की समस्या से जूझ रहे हैं तो रोजाना बरगद के फलों का पानी पिएं, इससे कुछ ही दिनों में पथरी पेशाब के रस्ते से बाहर निकल जाएगी।

इसे भी पढ़ें : गर्भ ठहरने के लिए आयुर्वेदिक दवा है शतावरी (shatavari), जानें इसके 4 फायदे

6. इम्यूनिटी बढ़ाने के बरगद के फलों का इस्तेमाल (Banyan Fruits Helps to Boost Immunity)

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता या इम्यूनिटी को बढ़ाने में बरगद के फलों का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। बरगद के फलों में एंटीएंटीऑक्सिडेंट, कार्बोहाइड्रेट, शुगर, फाइबर, प्रोटीन, कैलोरी, विटामिन, ओमेगा 3-6 और  कैल्शियम व फास्फोरस भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसका रोजाना सेवन करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

7. डिप्रेशन और मानसिक तनाव की समस्या में बरगद के फल का इस्तेमाल (Banyan Fruit to Deal With Depression)

एनसीबीआई में छपे एक शोध के मुताबिक मानसिक तनाव और डिप्रेशन की समस्या में बरगद के फलों का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है। बरगद के फल में कुछ ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो मानसिक तनाव की समस्या और डिप्रेशन में बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। अगर आप मानसिक तनाव, डिप्रेशन या चिंता जैसी समस्या से जूझ रहे हैं तो रोजाना बरगद के फलों का सेवन करें। इससे दिमाग शांत होगा और चिंता या डिप्रेशन की समस्या में फायदा मिलेगा।

Banyan-Fruit-Health-Benefits

इसे भी पढ़ें : क्या च्यवनप्राश खाने से घटता है वजन? जानें एक्सपर्ट से

ऊपर बताये सभी बरगद के फलों के औषधीय इस्तेमाल चिकित्सक की सलाह और देखरेख में ही किया जाना चाहिए। बरगद के फलों में मौजूद तत्व इन समस्याओ में बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। लेकिन अगर आप इसका इस्तेमाल पहली बार करने जा रहे हैं तो इससे पहले अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer