लगातार खांसी, सीने में दर्द हो सकता है अस्थमा फ्लेयर अप का लक्षण, जानें कारण और बचाव

Asthma Flare Up in Hindi: अस्थमा की समस्या गंभीर होने पर अस्थमा फ्लेयर अप की स्थिति पैदा होती है, जानें इसके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Oct 18, 2022 17:15 IST
लगातार खांसी, सीने में दर्द हो सकता है अस्थमा फ्लेयर अप का लक्षण, जानें कारण और बचाव

Asthma Flare Up in Hindi: अस्थमा सांस से जुड़ी एक गंभीर बीमारी है। इस समस्या में सही इलाज और सावधानियों का ध्यान नहीं रखने पर आपकी परेशानियां बढ़ सकती हैं। अस्थमा की बीमारी में आपके फेफड़ों तक जाने वाले वायुमार्ग में सूजन आ सकती है। इसकी वजह से मरीज को सांस लेने में गंभीर परेशानी का सामना करना पड़ता है। अस्थमा मरीजों की समस्याएं जब बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं और मरीज को सांस लेने के अलावा कई अन्य परेशानियों का सामना करना पड़ता है तो इस स्थिति को अस्थमा फ्लेयर अप (Asthama Flare Up in Hindi) कहा जाता है। आइये विस्तार से जानते हैं अस्थमा फ्लेयर अप की समस्या के बारे में।

अस्थमा फ्लेयर अप के लक्षण- Asthma Flare Up Symptoms in Hindi

अस्थमा फ्लेयर अप वह स्थिति है जिसमें अस्थमा के मरीजों की परेशानियां बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं और इसकी वजह से सांस लेने में परेशानी के अलावा छाती में तेज दर्द और कई अन्य समस्याएं होती हैं। हर व्यक्ति में अस्थमा फ्लेयर अप के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं। इस समस्या में दिखने वाले प्रमुख लक्षण इस तरह से हैं-

  • सांस लेने में गंभीर परेशानी
  • सीने या छाती में गंभीर दर्द
  • सीने में जकड़न
  • बोलते समय सीटी निकलना
  • गले में घरघराहट
  • लगातार खांसी
Asthma Flare Up in Hindi
 

अस्थमा फ्लेयर अप के कारण- Asthma Flare Up Causes in Hindi

अस्थमा फ्लेयर अप की समस्या में आपके फेफड़ों में मौजूद हवा के रास्ते में ब्लॉकेज हो जाता है। फेफड़ों को जाने वाली हवा की नली में सूजन आने की वजह से आपको अस्थमा फ्लेयर अप की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसकी वजह से आपको सांस लेने में परेशानी के साथ-साथ अन्य समस्याएं होती हैं। कई बार यह समस्या बहुत ज्यादा कफ या बलगम बनने की वजह से भी होती है। सही ढंग से हवा का प्रवाह न होने के कारण आपकी सांसे अटकने लगती हैं और परेशानियां बढ़ जाती हैं।

अस्थमा फ्लेयर अप से बचने के टिप्स- Asthma Flare Up Prevention Tips in Hindi

अस्थमा फ्लेयर अप की समस्या से बचने के लिए मरीज को विशेष सावधानियों का ध्यान रखना चाहिए। अस्थमा के मरीजों को ठंड के मौसम में विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस समस्या से बचने के लिए ऐसी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए जिनका सेवन करने से आपकी समस्या ट्रिगर हो सकती है। इसके अलावा धूल, मिट्टी, प्रदूषण और धुआं से दूर रहना चाहिए। अस्थमा फ्लेयर अप की समस्या पालतू जानवरों के बाल और तंबाकू के धुंए से भी ट्रिगर हो सकती है, इसलिए इस समस्या की चपेट में आने से बचने के लिए स्मोकिंग से दूर बनानी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: जोर-जोर से सांस लेने की आदत हो सकती है अस्थमा का संकेत, जानें इसके क्या है कारण और लक्षण

इसके अलावा अस्थमा फ्लेयर अप की समस्या में मरीज को अपने पास दवाएं और इन्हेलर आदि रखने चाहिए। डॉक्टर की सलाह लेकर सही समय पर दवाओं का सेवन और इन्हेलर का इस्तेमाल करने से आप इस समस्या में होने वाली परेशानियों से बच सकते हैं। तनाव और स्ट्रेस की वजह से भी आपको अस्थमा फ्लेयर अप की समस्या हो सकती है।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer