कटिचक्रासन सहित इन 4 योगासनों को अपने डेली रूटीन में शामिल कर पाएं कमर दर्द से छुटकारा

अगर कमर दर्द ने आपको भी परेशान कर रखा है तो घबराएं नहीं। नीचे दिए गए इन 5 योगासनों का अभ्यास कर आप कमर दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Mar 27, 2021
कटिचक्रासन सहित इन 4 योगासनों को अपने डेली रूटीन में शामिल कर पाएं कमर दर्द से छुटकारा

कमर दर्द (Back Pain) की समस्या आजकल आम बात बन चुकी है। इस समस्या से ग्रस्त लोगों की समस्या लगातार बढ़ रही है। यह समस्या पहले बुढ़ापे के साथ दस्तक देती थी, लेकिन अब 20 से 35 साल की उम्र वाले युवा भी इससे पीड़ित हैं। इसका शिकार अमूमन महिलाएं होती हैं। कमर दर्द ऐसी स्थिति है, जिसमें आप कोई भी कार्य ठीक तरह से नहीं कर पाते हैं। वैसे तो कमर दर्द भारी वजन उठाने, देर तक एक ही स्थिति में बैठने या सोने, बैठने के गलत तरीके (Sitting Posture) और कुछ गलत आसनों को करने से भी हो सकता है। जो वैसे तो काफी सामान्य समस्या है, लेकिन इसपर ध्यान न देने पर यह गंभीर रूप भी ले सकती है। कई बार युवाओं में कमर दर्द होने के बाद स्पॉंन्डिलाइटिस (Spondylitis) की भी समस्या देखी गई है, लेकिन ऐसा भी नहीं है कि इसका कोई समाधान नहीं है। सदियों से चले आ रहे योग और व्यायाम में कुछ ऐसे आसन मौजूद हैं, जिनका निरंतर अभ्यास कर आप कमर दर्द की समस्या से निजात पा सकते हैं। अगर आप भी कमर दर्द से परेशान हैं तो यह लेख आप ही के लिए है। नीचे दिए गए इन आसनों को अपने डेली रूटीन में शामिल करें।

कटिचक्रासन (Kati Chakrasana)

kati chakrasana

कटिचक्रासन बेहद ही कामगार आसन है, जो मोटापे को कम करने से लेकर डायबिटीज में भी आपकी मदद करता है। इस आसन को करने की विधि सुनने में थोड़ी अलग लगती है, लेकिन इसे करना बेहद सरल है। कटिचक्रासन करने के लिए सबसे पहले आप अपने पैरों के बीच कम से कम एक फिट का गैप देकर सीधे खड़े हो जाएं। अब अपने दाएं हाथ को बाएं हाथ के कंधे पर रख लें और बाएं हाथ को अपनी कमर के पिछले हिस्से पर ले जाएं। ध्यान रहे कि इस दौरान आपके हाथ आपके कंधों की सीध में ही होने चाहिए। इस आसन को करते समय आपको दोनों तरफ करवट लेनी है। सांस भरते हुए पहले एक तरफ मुड़कर कुछ सेकेंड तक इसी स्थिति में रहें फिर दूसरी ओर भी यही चीज दोहराएं। इस प्रकार की स्थिति बनने से कमर की हड्डियों पर खिंचाव आता है, जो आपके दर्द के लिए काफी मददगार है।

इसे भी पढ़ें: ऑफिस से आने के बाद कमर, गर्दन, पैर, हाथ में होता रहता है दर्द, तो घर पर करें ये 3 आसान योगासन

भुजंगासन (Bhujangasana)

bhujangasana

यह एक ऐसा आसन है, जिसमें आप कमर के खिंचाव को महसूस कर सकते हैं। फीजियोथेरेपिस्ट (Physiotherapist) भी भुजंगासन करने की सलाह देते हैं। इस आसन को आप बहुत ही आसानी से कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले किसी समतल जगह पर उल्टे होकर लेट जाएं, अपने दोनों पैरों को मिला लें। अपनी नाभि से उपर के हिस्से को उपर की ओर उठाएं। इस दौरान आपको सांस भरते हुए अपनी ध्वजा को उपर ले जाना है, लेकिन उतना ही जितने में आपको दर्द महसूस न करें। इस दौरान आपको अपने हाथों को छाती की सीध में ही रखना है। यदि आप अपनी शरीर को उपर की ओर ले जाने में असमर्थ हैं या आपको ज्यादा दर्द हो रहा है तो इस आसन को जबरदस्ती बिलकुल न करें। ऐसा करने से आपको नुकसान भी हो सकता है।   

मर्कटआसन (Markatasana)

markatasana

मर्कटआसन (Markatasana) सभी आसनों में श्रेष्ठ है, जो आपकी कमर और पीठ के दर्द में राहत देता है। इस आसन को करने से आपकी रीढ़ की हड्डी में भी लचीलापन (Flexibility) आता है। इस आसन को करने का तरीका भुजंगासन से थोड़ा विपरीत है। इस आसन को करने के लिए आप किसी फर्श पर लेट जाएं, अपने हाथों को अपनी कमर के नीचे दबा लें। अब लंबी गहरी सांस भरकर अपनी कमर के नीचे के हिस्से को एक तरफ मोड़ें और दोनों हाथों को फैलाकर खुला छोड़ दें। ऐसी स्थिति में आपके घुटने मुड़े हों और सिर विपरीत दिशा में होना चाहिए। आप चाहें तो आसन करते समय अपना एक पैर मोड़ सकते हैं और दूसरा सीधा भी कर सकते हैं। यह आसन आपको दोनों ओर मुड़कर करना है। मर्कटासन आपको कूल्हों के दर्द, हड्डी के विकार की समस्या और अपच आदि में भी आपकी मदद करता है।

ताड़ासन (Tadasana)

tadasana

ताड़ासन करने में बहुत ही सरल है। यह आसन आपकी लंबाई को भी खींचने या बढ़ाने में मदद कर सकता है। इसे करने से शरीर में रक्त का संचार भी सुधारता है। ताड़ासन को करने के लिए आप बिलकुल सीधे खड़े हो जाएं। इसमें आप दोनों हाथों को सिर के उपर उठाकर सीधा रखेंगे और उंगलियां आपस में फंसा लेंगे। इसके बाद अपने पैर के पंजों को धीरे-धीरे उपर की ओर लाएं और कंधों में थोड़ा खिंचाव बनाएं। अपने पंजों को कुछ समय के लिए 3 से 4 बार उपर नीचे करें। ध्यान रहे कि आपको पंजे उपर की ओर ले जाते समय लंबी सांस भरनी है और नीचे आते हुए सांस छोड़नी है। यदि आप इसे सटीक तरीके से करेंगे तो यह आपके दर्द को नियंत्रित करने में मदद करेगा।

इसे भी पढ़ें: साइटिका के दर्द में आराम दिलाएंगे ये 5 योगासन, जानें इनके फायदे और करने का तरीका

कंधरासन (Kandharasana)

kandharasana

इस आसन को बच्चों से लेकर बुजग तक सभी कर सकते हैं। इसका निरंतर अभ्यास आपके कमर दर्द को बिलकुल ठीक कर देगा। कंधरासन करने के लिए आपको फर्श पर सीधा लेटना होगा। अपना दोनों हाथों को बिलकुल सीधी अवस्था में रखें। दोनों पैरों को मोड़ लें। अपने पैर के पंजों को चिपकाकर रखें और धीरे-धीरे अपने सिर के नीचे की ध्वजा को यानि कमर के हिस्से को उपर उठाने का प्रयास करें। जितना हो सके उपर की ओर ले जाएं। लगभग 10 से 15 सेकेंड तक आपको ऐसी स्थिति में रहना है। इससे आपका वजन भी नियंत्रित रहेगा और आप कमर के दर्द से खुद को मुक्त पाएंगे। 

इस लेख में दिए गए 5 आसनों का अभ्यास लगातार करने से आपका कमर दर्द निश्चित तौर पर ठीक हो जाएगा। ध्यान रहे कि कोई भी आसन की अधूरी जानकारी होने पर उसे न करें। ऐसे में अपने फीजियोथेरेपिस्ट या चिकित्सक की सलाह लें।

Read More Articles on Yoga in Hindi

Disclaimer