दिल की सेहत के लिए नुकसानदेह है जवानी में किए गए ये 5 काम, जानें क्या हैं ये और कैसे रखें अपने दिल को दुरुस्त

जवानी में अक्सर हम अपने सपनों के पीछे इतने पागल होते हैं कि सेहत को नजरअंदाज कर देते हैं। आगे चल कर यही आदत हम पर भारी पड़ती है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 29, 2020
दिल की सेहत के लिए नुकसानदेह है जवानी में किए गए ये 5 काम,  जानें क्या हैं ये और कैसे रखें अपने दिल को दुरुस्त

शरीर में दिल वो अंग है, जिसके काम काज में थोड़ी सी भी गड़बड़ी का होना आपके पूरे शरीर को प्रभावित कर सकता है। दिल को सेहतमंद रखने के लिए सबसे जरूरी है अपने रूटीन और खान-पान को ठीक रखना। वहीं बचपन से लेकर जवानी तक किए गए काम और हेल्दी रूटीन भी इसे सेहतमंद रखने में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं। जी हां, सेहत एक दिन की बात नहीं है। ये लंबे समय तक की जाने वाले सतत प्रक्रिया है यानी कि आपके जवानी की गलतियां आपको भविष्य में परेशान करने का काम कर सकती है।  यही चीज दिल की सेहत से भी जुड़ी हुई है। दरअसल अगल आप 20 से 30 साल की उम्र में एक खराब लाइफस्टाइल और डाइट को फॉलो करते हैं, तो आगे चलकर ये आपको धमियों से जुड़े विकार, सीने में दर्द या यहां तक कि हार्ट अटैक का शिकार बना सकते हैं। तो आज हम आपको ऐसी ही 5 चीजों के बारे में बताएंगे, जिसे आपको जवानी में  (habits that harm the heart) करने से बचना चाहिए।

insidehearthealthtips

जवानी में न करें ये 5 काम

1. बैठे रखना और शारीरिक कामों को कम करना

आपने कई बार अपने बड़े-बूढ़ों से सुना होगा कि जवानी में बैठे रहना बुढ़ापे में परेशानी का सबब बन जाता है। ये कथन सेहत के लिहाज से भी सही है। दरअसल जो लोग ज्यादा समय बैठे रह कर गुजारते हैं, उन्हें दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा ज्यादा होता है। दरअसल बैठे रहने से हमारा ब्लड सर्कुलेशन खराब हो जाता है और धमनियां सिकुड़ने लगती हैं, जिससे दिल पर दबाव पड़ता है। एनल्स ऑफ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित 2015 के एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि लंबे समय तक बैठे रहने से हृदय रोग का खतरा 14 प्रतिशत तक बढ़ सकता है। इसलिए कोशिश करें कि अगर आपकी डेस्क जॉब भी है, तो बाकी समय चलने-फिरने वाली गतिविधियों (physical activity and heart)में ज्यादा से ज्यादा भाग लें।

इसे भी पढ़ें : कितना खतरनाक हो सकता है सीने में दर्द उठना? एक्सपर्ट से जानें कारण और बचाव

2. खराब ओरल केयर

आपको जान कर ये हैरानी होगी कि पर आपका डेंटल केयर आपके दिल की सेहत से जुड़ा हुआ है। जी हां, दरअसल जो लोग फ्लॉसिंग से बचते उनमें पीरियडोंटल बीमारियां बढ़ती हैं। दरअसल मसूड़ों की बीमारी वाले लोगों में दिल के दौरे, स्ट्रोक और हृदय संबंधी घटनाओं का खतरा अधिक होता है। दरअसल पीरियडोंटल बीमारी आपके शरीर में सूजन और आपके रक्तप्रवाह में सूजन के मार्करों को बढ़ाती है, जो हृदय रोग के प्रमुख कारण बन जाते हैं। इसलिए अपने दिल की सेहत के लिए जल्दी-जल्दी ब्रश न करें और फ्लॉसिंग को न भूलें।

3. खाने में फलों और सब्जियों को नजरअंदाज करना

अगर आप कोई ऐसे व्यक्ति हैं जो फल और सब्जी को बहुत कम खाते हैं, तो समझ लें कि आपने कई सारे बीमारियों को बुलावा दे दिया है।  2014 के एक मेटा-विश्लेषण में पाया गया कि दिन में सिर्फ पांच सर्विंग फल और सब्जी खाने से दिल की बीमारी से मरने का खतरा 20 प्रतिशत तक कम हो सकता है। वहीं जो लोग अपने खाने में फलों और सब्जियों को कम रखते हैं उन्हें मोटापा और ब्लड प्रेशर से जुड़ी बीमारियों आसानी से पकड़ती हैं, जो कि दिल की बीमारियों को ट्रिगर करने काम करती हैं।

insidefoodsforhealthheart

4.ज्यादा स्ट्रेस लेना

नौकरी और करियर को लेकर जवानी के दिनों में अक्सर संघर्ष लगा ही रहता है। पर अभी से ज्यादा स्ट्रेस लेना आपको बीमार कर सकता है। वहीं ये हाई ब्लड प्रेशर और बहुत ज्यादा गुस्से आने से जुड़ी परेशानियों को पैदा कर सकता है। खासकर जब आप इसे समय के साथ बढ़ने देते हैं। दरअसल लंबे समय तक तनाव से कोर्टिसोल का उच्च स्तर आपके रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर को बढ़ाकर हृदय रोग के जोखिम को बढ़ा सकता है। ऐसे में आपको स्ट्रेस मैनेजमेंट सीखना चाहिए। योग करना चाहिए और दिमाग को शांत रखने की कोशिश करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : रक्तचाप और हृदय स्वास्थ्य में क्या है संबंध? डॉ. डोरा से जानें ब्लड प्रशेर क्यों है हमारे लिए महत्वपूर्ण

5. स्मोक करना और  कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेना

स्मोकिंग हमेशा से ही दिल की सेहत के लिए नुकसानदेह रहा है। ऐसे में जरूरी ये है कि आप अपने स्मोकिंग की आदत को छोड़ दें। चाहे बात शरीब पीने की हो या सिगरेचट पीने की ये हर तरह से दिल की सेहत के लिए सही नहीं है। ये हार्ट अटैक के खतरे को तेजी से बढ़ाता है। वहीं महिलाओं द्वारा कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेना भी दिल की सेहत के साथ छेड़छाड़ करने की अनुमति देता है। दरअसल ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेना आपके रक्तचाप को बढ़ा सकते हैं और यहां कर कि ये कई लोगों में मोटापे को भी ट्रिगर कर सकता है। इसलिए कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने से बचें।

इन तमाम चीजों के अलावा अगर आपको अपने दिल को दुरुस्त रखना है, तो सबसे पहले एक्सरसाइज करना शुरू करें। आप दिल को स्वस्थ रखने के लिए कार्डियो एक्सरसाइज की भी मदद ले सकते हैं, जो कि आपके ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। वहीं इससे आपका स्ट्रेस भी कम हो जाता है। दूसरा ये कि खाने में चीनी, नमक और अनहेल्दी फैट को कम करें, जो कि कोलेस्ट्रोल को प्रभावित करते हैं। साथ ही खूब सारे विटामिन और फाइबर वाली चीजों को अपनी डाइट में सम्मित करें।

Read more articles on Heart-Diseases in Hindi

Disclaimer