डॉक्टर के मुताबिक आपके हार्ट के लिए बहुत बुरी साबित हो सकती हैं ये 5 आदतें, युवा हैं ज्यादा शिकार

युवावस्था की कुछ गलत आदतें अंजाने में ही आपको अधेड़ उम्र तक हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारी की तरफ ले जाती हैं। इन्हें जानें और आज ही बदलें।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Mar 16, 2021Updated at: Mar 16, 2021
डॉक्टर के मुताबिक आपके हार्ट के लिए बहुत बुरी साबित हो सकती हैं ये 5 आदतें, युवा हैं ज्यादा शिकार

बचपन और जवानी में की गई कुछ गलतियां हमें आगे चलकर बड़े नुकसान पहुंचा सकती हैं। अक्सर युवा अवस्था (Young Age) में लोग भूल कर देते हैं जिसका खामियाजा उन्हें आगे चलकर भुगतना पड़ता है। ऐसे ही युवाओं में कुछ बुरी आदतें हैं जो उनकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकती हैं। क्या आप भी उन्हीं युवाओं की श्रेणी में शामिल हैं जो अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाह हैं। अगर हां, तो आपको शायद यह नहीं पता होगा कि 20 से 30 साल की उम्र में आप कुछ एसी गलतियां करते हैं जिनका संबंध सीधा आपके दिल से होता है। यह बुरी आदतें 50 वर्ष की उम्र के बाद आपको दिल की बीमारियां दे सकती हैं। आजकल तो युवा अवस्था में भी लोग हार्ट की बीमारियों की गिरफ्त में आने लगे हैं। इसी संदर्भ में आज हमने बात की पुणे के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. केदार कुलकरनी से। जानिए क्या हैं वो बुरी आदतें जो आपके दिल को बीमार कर सकती हैं।

ज्यादा स्ट्रेस (Stress)

युवा अवस्था में लोग अक्सर अपने भविष्य को लेकर या अन्य कई चीजों को लेकर चिंतित रहते हैं। लेकिन आप यह नहीं जानते होंगे कि लंबे समय तक तनाव में रहने से आप डिप्रेशन (Depression) से तो ग्रसित होते ही हैं साथ ही हार्ट अटैक के भी शिकार हो सकते हैं। तनाव में गुस्सा आना स्वाभाविक है, जिससे आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है। कोर्टिसोल (Cortisol) का हाई लेवल आपके कोलेस्ट्रोल (Cholestrol) के स्तर के साथ ही आपके रक्तचाप को भी बढ़ाता है, जिससे शरीर में दिल संबंधी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। ऐसे में युवा अवस्था में ही खुद को सचेत कर लेना एक बेहतर विकल्प है। कोशिश करें कि स्ट्रैस पैदा करने वाली गतिविधियों में शामिल न हों। स्ट्रैस को दूर और मैनेज करने के लिए योग अपनाएं। खुद को शांति पहुंचाने वाले व्यायामों (Yoga For Peace) में शामिल करें।

स्मोकिंग (Smoking)

डॉ. केदार के अनुसार स्मोकिंग युवाओं की सबसे बुरी आदत में से एक है। अमूमन युवा यह सोचकर स्मोकिंग करते हैं कि सिगरेट में पाया जाने वाला निकोटीन (Nicotine) उन्हें स्ट्रैस से राहत देता है। क्या आप जानते हैं कि सिगरेट और शराब हमेशा से ही दिल के दुश्मन रहे हैं। स्मोकिंग से केवल हार्ट की समस्या ही नहीं बल्कि फेफड़ों का कैंसर (Lung Cancer), डिमेंशिया, प्रजनन क्षमता कम होने आदि तक की समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए बेहतर है कि समय रहते इस बुरी और बीमार बना देने वाली आदत को छोड़ दिया जाए। स्मोकिंग आप धीरे-धीरे करकर छोड़ सकते हैं। इसके लिए योग भी बेहतर विकल्प है।

फलों और सब्जियों का सेवन नहीं करना (Ignoring Vegetables)

युवाओं में यह भी बुरी आदत होती है कि वे घर में बनी सब्जियों का सेवन करने की बजाय बाहर के जंक फूड की ओर ज्यादा आकर्षित होते हैं। शरीर में भरपूर मात्रा में सभी पोषक तत्व (Nutrients) नहीं पहुंचने से शरीर में तत्वों की कमी होने लगती है, जिससे आप बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। एक शोध के अनुसार समुचित मात्रा में सब्जियां खाने वाले लोगों में सब्जियों को नजरअंदाज करने वाले लोगों की तुलना में हार्ट का खतरा और कैंसर का खतरा कम रहता है। आयरन (Iron), फाइबर (Fibre), पोटैशियम (Pottassium), मैग्नीशियम (Magnesium), विटामिन के साथ ही सभी जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर सब्जियों और फलों में कुछ ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिनसे आपके दिल की सेहत बेहतर रहती है।

इसे भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन लगवाने की सोच रहे हैं तो नींद पर ध्यान दें, जानें खराब नींद कैसे कम कर सकती है वैक्सीन का असर

जंक फूड खाना (Junk Food)

इस बात का शायद ही प्रमाण देने की जरूरत होगी कि जंक फूड आपके सेहत और दिल के लिए कितना हानिकारक है। युवाओं ने फास्ट फूड को आज के समय में लाइफस्टाइल (Lifestyle) का अहम हिस्सा बना लिया है। फास्ट फूड (Fast Food) का सेवन आपके रक्तचाप को बढ़ाने के साथ ही शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा में भी इजाफा करता है। यह आपके दिल को बुरी तरह से क्षति पहुंचा सकता है। कोलेस्ट्रोल बढ़ने से आपको हार्ट अटैक की भी समस्या से गुजरना पड़ सकता है। हालांकि यह हो सकता है कि फास्ट फूड धीरे-धीरे आपके दिल को नुकसान पहुंचाए, जिसका पता शायद आपको युवा अवस्था निकल जाने के बाद लगे। फास्ट फूड में पोषक तत्वों की बहुत कमी होती है। इसके सेवन से आपको बहुत जल्दी थकान भी महसूस होती है। जितना हो सके जंक फूड से दूरी बना लेनी चाहिए क्योंकि इसका बैड कोलेस्ट्रोल (Bad Cholesterol) सीधा आपके दिल पर वार करता है।

इसे भी पढ़ें- गर्मी में मास्क पहनने से हो रही है परेशानी? जानें इस पसीने वाले मौसम में लंबे समय तक मास्क कैसे पहनें मास्क

शारीरिक श्रम का अभाव (Lack of Physical Effort)

हमारी शरीर को पोषक तत्वों की जितनी आवश्यकता है उतनी ही शारीरिक श्रम की भी आवश्यकता है। शरीर में शारीरिक श्रम का आभाव हो जाने से बहुत सी बीमारियां घर कर सकती हैं। शारीरिक श्रम न करना आलसी लोगों के लिए घातक साबित हो सकता है। ऐसे लोग जो अपना ज्यादातर समय खाली बैठकर या लेटकर गुजार देते हैं उन्हें दिल की बीमारियों का खतरा अधिक रहता है। डेस्क पर लंबे समय तक एक ही पोस्चर में बैठकर काम कर रहे युवा भी तेजी से इसके शिकार हो सकते हैं। दरअसल, ज्यादा समय तक बैठे रहने से ब्लड सर्कुलेशन (Blood Circulation) का संतुलन बिगड़ जाता है ऐसे में धमनियां सिकुड़ने लगती हैं और इसका प्रभाव दिल पर दबाव डालता है, जिससे आपमें दिल संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में युवाओं के लिए किसी भी तरह की फीजिकल एक्टिविटी (Physical Activity) जैसे साइकिलिंग, स्वीमिंग, स्पोर्ट्स आदि में शामिल होना बहुत जरूरी है।

यह लेख केवल आपको जानकारी देने के लिए नहीं बल्कि आपको सचेत कर आपकी बुरी आदतों को छुड़वाने के लिए भी है। इस लेख में दी गई सभी बातें कार्डियोलॉजिस्ट द्वारा प्रमाणित हैं। आज से ही इन बुरी आदतों से दूरी बनाना शुरू करें, जिससे आपका दिल सेहतमंद रह सके।

Read More Articles on miscellaneous in hindi

Disclaimer