काम का तनाव खराब कर सकता है आपकी लव-लाइफ, ये 4 टिप्स करेंगे आपकी मदद

यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन, दोनों को अलग रखें ताकि एक संतुलन बना रहे।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Mar 18, 2020 15:04 IST
काम का तनाव खराब कर सकता है आपकी लव-लाइफ, ये 4 टिप्स करेंगे आपकी मदद

किसी को भी अपने काम के तनाव को घर लाना पसंद नहीं होता। लेकिन कभी-कभी, अनजाने में न चाहते हुए भी काम का तनाव घर आ ही जाता है। इसके कारण एक तरफ जहां घर का माहौल खराब हो जाता है, वहीं दूसरी तरह उनके व्यक्तिगत संबंधों, विशेष रूप से उनके लव लाइफ पर इसका एक नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वहीं कई बार आपके तनावपूर्ण जीवन का असर आपसे ज्यादा आपके साथी पर होता है। वहीं आपका पूरी परिवार भी इसका खामियाजा भुगतता है। भले ही आप कोशिश करें कि काम के दबाव के आगे आप न झुकें लेकिन, तनाव आपके लिए घर पर स्वस्थ संबंधों को बनाए रखना मुश्किल बना सकता है, जिससे आपके मानसिक स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता है। ऐसे में उन संकेतों को समझना जरूरी है, जिसकी वजह से आपकी लव लाइफ खराब हो रही है। आइए जानते हैं उन संकेतों के बारे में।

insideworkstress

किसी चीज के लिए ऊर्जा न होना

किसी व्यक्ति के लिए एक थके हुए दिन के बाद फैमिली के साथ वक्त बिताना थोड़ा मुश्किल लगता है। पर अगर आप हमेशा थका हुआ महसूस कर रहे हैं, तो ये धीरे -धीरे आपको अकेला करेगा और आपकी इस सुस्ती का असर आपके रिश्ते पर भी नजर आ सकता है। ऐसे में भले ही आपका साथी आपके लिए कोई योजना बना रहा हो पर आप उसमें भाग लेने में अनिच्छा दिखाएंगे। वहीं आपका सड़ा मूड रिश्ते को और खराब कर सकता है। ऐसे में आपको जब भी ऐसा महसूस हो तो एक अच्छी नींद सोएं और अच्छे से तैयार हो कर अपने साथी के साथ बाहर जाएं।

इसे भी पढ़ें: इन 3 सीक्रेट टिप्स से जानें कोई लड़की आपके साथ फ्लर्ट कर रही है या नहीं?

चिढ़चिढ़ाहट

तनाव केवल आपका व्यक्तिगत जीवन नहीं है प्रभावित करता है, बल्कि आपका व्यक्तित्व भी इससे प्रभावित होता है। आपका साथी आपको एक चिड़चिड़ा और मूडी व्यक्ति के रूप में देखना शुरू कर सकता है। निकट और प्रिय लोग यह भी सोच सकते हैं कि आप आस-पास होने के लिए अप्रिय हैं, मुख्यतः क्योंकि आपकी मन: स्थिति और भावनाएं आपको सूखा और अलग कर सकती हैं। यह और भी अधिक परिवर्तन होकर आपको एक निराश व्यक्ति बना सकता है। इसलिए अपने चिढ़चिढ़ाहट पर थोड़ा काबू पाएं। ज्यादा हो तो योग और ध्यान की मदद लें।

insidepersonallife

ज्यादा बातचीत न करना

आपकी मानसिक स्थिति आपको अपने साथी के साथ बात करने से रोक सकती है। लेकिन, यह मान लेना अनुचित है कि वे सब कुछ जानते होंगे। यह आवश्यक है कि आप उनके लिए खुलें, और उन्हें यह बताएं कि आप क्या कर रहे हैं और किसलिए परेशान हो रहे हैं। अपनी भावनाओं को बोतलबंद करने के बजाय, आप अपने साथी को सब कुछ बताएं। अगर आपको स्थिति से निपटने के लिए खुद को कुछ समय देने की जरूरत है तो ये बात भी अपने साथी को बताएं। ज्यादा हो तो एक-दूसरे को ब्रेक दें।

इसे भी पढ़ें: लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में मुश्किल हो कमिटेड रहना, तो अपनाएं ये 5 खास टिप्स

आत्म अलगाव

काम का तनाव और यह तथ्य कि आप किसी को नहीं बता रहे हैं कि आपके साथ क्या हो रहा है, आपको अकेला कर सकता है और स्वयं को अलग कर सकता है। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने प्रियजनों में विश्वास करें और उनकी सहायता लें। लोगों से अपनी बात शेयर करने से आपका मन हल्का हो जाएगा और शायद चीजें थोड़ी बेहतर हो जाएं। आत्म अलगाव की स्थिति में आपका साथी ही आपकी ज्यादा से ज्यादा मदद कर सकता है। वहीं हम सभी को हर कोशिश करनी चाहिए कि व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन को अलग रखें और इसका एक संतुलन हो। अगर आप देखते हैं कि आपका संघर्ष या आपका तनाव आपके प्रेम जीवन में संकट पैदा कर रहा है, तो कोशिश करें कि साथी से दूर जाने और अकेले छोड़ने की बजाय ज्यादा से ज्यादा उसका साथ निभाएं।

Read more articles on Dating-Tips in Hindi

Disclaimer