इन 4 तरह के लोगों को ज्यादा रहता है डेंगू का खतरा, जानें कैसे करें बचाव

Dengue Risk Factors: मानसून में डेंगू का जोखिम बढ़ जाता है। इसके अलावा भी डेंगू के कुछ रिस्क फैक्टर्स हो सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jul 13, 2022Updated at: Jul 13, 2022
इन 4 तरह के लोगों को ज्यादा रहता है डेंगू का खतरा, जानें कैसे करें बचाव

Dengue Risk Factors in Hindi: मानसून में मच्छर जनित बीमारियां होने की संभावना कई गुणा बढ़ जाती है। डेंगू मानसून में होने वाली सबसे आम और गंभीर बीमारी है। अधिकतर लोगों को मानसून में डेंगू बुखार का सामना करना पड़ता है। तेज बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, थकान, कमजोरी और उल्टी आना डेंगू के मुख्य लक्षण माने जाते हैं। डेंगू बुखार एडिज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है। इसलिए यह डेंगू किसी भी व्यक्ति को आसानी से हो सकता है। लेकिन कुछ लोगों में डेंगू होने की संभावना अधिक रहती है। 

तो चलिए इस लेख के माध्यम से जानते हैं किन-किन लोगों को डेंगू का जोखिम अधिक (Dengue Risk Factors in Hindi) रहता है।

1. डेंगू बुखार

अगर आपको पहले कभी डेंगू बुखार हो चुका है, तो आपको डेंगू होने की अधिक संभावना रहती है। दोबारा होने वाला डेंगू बुखार पिछले संक्रमण से अधिक गंभीर हो सकता है। इसलिए जिन लोगों को पहले डेंगू हो चुका है, उन्हें अधिक सर्तक रहने की जरूरत होती है।

2. एरिया

डेंगू बुखार एरिया या क्षेत्र पर भी निर्भर करता है। उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों में डेंगू बुखार होने का खतरा अधिक रहता है। 

इसे भी पढ़ें- डेंगू मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है हरसिंगार का काढ़ा, जानें इसे बनाने का तरीका

3. घर या आस-पास पानी जमा होना

डेंगू का मच्छर रुके हुए पानी में पैदा होता है। ऐसे में अगर आपके घर या उसके आस-पास अकसर ही पानी जमा रहता है, तो आपको डेंगू का जोखिम अधिक हो सकता है। 

4. इम्यूनिटी कमजोर होना

डेंगू का मच्छर वैसे तो किसी को भी काट सकता है। लेकिन जिन लोगों की इम्यूनिटी तेज होती है, उनमें इसके लक्षण कम नजर आते हैं। वहीं जिन लोगों की इम्यूनिटी कमजोर होती है, उन्हें डेंगू अधिक प्रभावित कर सकता है। ऐसे लोगों में डेंगू गंभीर रूप ले सकता है।

डेंगू से बचाव के तरीके

  • डेंगू से बचाव के लिए सबसे जरूरी है घर और उसके आस-पास सफाई रखना।
  • कूलर, फ्लावर पॉट आदि में पानी जमा न होने देना।
  • डेंगू से बचने के लिए इम्यूनिटी का मजबूत होना भी बहुत जरूरी होता है।
  • डेंगू से बचाव के लिए दरवाजों और खिड़कियों को सुबह और शाम बंद रखना।
  • इसके अलावा डेंगू से बचने के लिए फुल स्लीव्स के कपड़े पहनना भी जरूरी होता है।

डेंगू के कुछ जोखिम कारक हो सकते हैं, लेकिन अगर आप अपनी हेल्थ और साफ-सफाई का पूरी ख्याल रखते हैं तो इससे काफी हद तक बचाव किया जा सकता है। अगर आपको डेंगू का कोई भी लक्षण महसूस हो तो इस स्थिति में डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

Disclaimer