Doctor Verified

क्‍या होता है फायर एंड आइस फेश‍ियल? जानें इसके फायदे और नुकसान

स्‍क‍िन में एक्‍ने, र‍िंकल्‍स, ड्राइनेस आद‍ि समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए फायर एंड आइस फेश‍ियल क‍िया जाता है, आप भी जानें इससे जुड़ी पूरी जानकारी   

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 01, 2022Updated at: Jul 01, 2022
क्‍या होता है फायर एंड आइस फेश‍ियल? जानें इसके फायदे और नुकसान

आज के समय में प्रदूषण और अनहेल्‍दी आदतों के कारण स्‍क‍िन जल्‍दी बीमार पड़ जाती है। बीमार स्‍क‍िन में ड्राइनेस, एज‍िंग साइन्‍स, एक्‍ने की समस्‍या, त्‍वचा में असमान रंगत आद‍ि लक्षण नजर आने लगते हैं। इन समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए कुछ लोग नैचुरल उपाय अपनाते हैं, तो कुछ फेश‍ियल का सहारा लेते हैं। ऐसे ही एक क्‍लीन‍िकल फेश‍ियल के बारे में हम जानेंगे, ज‍िसे फायर एंड आइस फेश‍ियल के नाम से जाना जाता है। इस लेख में हम इस फेश‍ियल के स्‍टेप्‍स, फायदे, नुकसान और जरूरी सावधान‍ियों पर बात करेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की।   

fire ice facial  

फायर एंड आइस फेश‍ियल क्या होता है? (What is Fire And Ice Facial)

फायर एंड आइस फेश‍ियल क्‍लीन‍िकल फेश‍ियल है, ज‍िसमें दो फेस पैक अप्‍लाई क‍िए जाते हैं। पहले फेस पैक को लगाने से स्‍क‍िन को गरमाहट महसूस होती है, तो दूसरा अप्‍लाई करने पर स्‍क‍िन को ठंडक म‍िलती है। ऐसा फेस पैक में मौजूद केम‍िकल्‍स के कारण होता है। इसी सेंसेशन के आधार पर इस फेश‍ियल का नाम फायर एंड आइस रखा गया है। फायर एंड आइस फेश‍ियल स्‍क‍िन को हाइड्रेट और स्‍क्रब दोनों करता है। इसकी मदद से फाइन लाइन्‍स, र‍िंकल्‍स, एक्‍ने आद‍ि की समस्‍या दूर होती है। 

इसे भी पढ़ें- फेशियल कराने के बाद ना करें ये गलतियां, जानिए फेशियल के बाद चेहरे पर क्या करना और क्या नहीं करना है सही?

फायर एंड आइस फेश‍ियल कैसे क‍िया जाता है? (Steps Involved in Fire And Ice Facial)

  • फायर एंड आइस फेश‍ियल में सबसे पहले 5 म‍िनट का फेस मास्‍क लगाया जाता है।
  • इस फेस मास्‍क में स्‍क‍िन के ल‍िए जरूरी तत्‍वों जैसे व‍िटाम‍िन बी3, व‍िटाम‍िन ए, एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स, स‍िट्र‍िक एस‍िड, ग्‍लाइकोल‍िक एस‍िड आद‍ि का म‍िश्रण होता है।     
  • इस फेस पैक को लगाने के 2 से 3 म‍िनट तक हल्‍की गरमाहट महसूस होती है।
  • केम‍िकल्‍स अप्‍लाई करने के कारण होने वाली सेंसेशन कुछ देर में ठीक हो जाएगी।
  • फ‍िर अगले स्‍टेप में इस मास्‍क को हटाकर आपकी स्‍क‍िन पर हाइड्रेट‍िंंग मास्‍क लगाया जाता है।
  • इस मास्‍क को लगाने से आपको चेहरे की स्‍क‍िन में ठंडक महसूस होगी।  
  • हाइड्रेट‍िंग मास्‍क में ज्‍यादातर हाइलूरोन‍िक एस‍िड, ग्रेप सीड्स, रोजमेरी, एलोवेरा आद‍ि मौजूद होते हैं।  

फायर एंड आइस फेश‍ियल के फायदे (Benefits of Fire And Ice Facial) 

फायर एंड आइस फेश‍ियल करने से स्‍क‍िन को कई फायदे म‍िलते हैं जैसे-

1. स्‍क‍िन र‍िपेयर होती है (Repairs Skin)

फायर एंड आइस फेश‍ियल की मदद से आप अपनी स्‍क‍िन को र‍िपेयर कर सकते हैं। गलत स्‍क‍िन प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल करने से कई बार स्‍क‍िन पर दाने, रैशेज, काले धब्‍बे नजर आने लगते हैं। ऐसी स्‍क‍िन को र‍िपेयर करने के ल‍िए इस फेश‍ियल की मदद ली जा सकती है। 

2. स्‍क‍िन हाइड्रेट रहती है (Hydrates Skin)

आपको अपनी स्‍क‍िन को हेल्‍दी रखना है तो उसे हाइड्रेट रखना जरूरी है। साथ ही स्‍क‍िन को समय-समय पर स्‍क्रब भी करना जरूरी है, ताक‍ि स्‍क‍िन में मौजूद डेड सेल्‍स को न‍िकाला जा सके। स्‍क‍िन को हाइड्रेट रखने और स्‍क्रब करने के ल‍िए आप इस फेश‍ियल को ट्राई कर सकते हैं। 

3. यूवी रेज से प्रोटेक्‍शन म‍िलता है (Protect Skin from UV Rays)

जो लोग धूप में ज्‍यादा देर तक रहते हैं, उनकी स्‍क‍िन यूवी रेज की चपेट में आकर डैमेज हो जाती है। स्‍क‍िन को डैमेज होने से बचाने के ल‍िए आप फायर एंड आइस फेश‍ियल को अपना सकते हैं। 

इन बातों का ध्‍यान रखें 

  • इन फेश‍ियल को करने के बाद सीधे धूप में जाने से बचें।
  • अगर स्‍क‍िन में पहले से रेडनेस है या स्‍क‍िन सेंस‍िट‍िव है, तो आप इस फेश‍ियल को न करवाएं।
  • इस फेश‍ियल को करने के बाद और पहले क्‍लींजर, क्रीम और सनस्‍क्रीन का यूज करना न भूलें। इसके ल‍िए आप डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट से सलाह ले सकते हैं।  

क्‍या फायर एंड आइस फेश‍ियल के कोई नुकसान हैं? (Side Effects of Fire And Ice Facial)

  • ज‍िन लोगों को एक्‍ज‍िमा या अन्‍य स्‍क‍िन रोग हैं, उन्‍हें डॉक्‍टर इस फेश‍ियल को करवाने की सलाह नहीं देते।   
  • फायर एंड आइस को करवाने में काफी समय लगता है, कम से कम 1 घंटे में इस फेश‍ियल को पूरा क‍िया जाता है।
  • अगर फायर एंड आइस फेश‍ियल में यूज हुए फेस पैक के केम‍िकल्‍स आपको सूट नहीं करते, तो ये फेश‍ियल न करवाएं।

फेश‍ियल करवाने के बाद और पहले जरूरी सावधान‍ियों को डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट से जान लें।

Disclaimer