शादीशुदा जिंदगी चल रही है खराब तो जरूर लें कपल थेरेपी, जानें क्या है ये थेरेपी

कई बार शादीशुदा जिंदगी में इतनी परेशानियां आने लगती हैं कि रिश्ता टूटने की कगार पर पहुंच जाता है। ऐसे समय में कपल थेरेपी काम आ सकती है।

Written by: Updated at: Oct 01, 2022 16:30 IST
शादीशुदा जिंदगी चल रही है खराब तो जरूर लें कपल थेरेपी, जानें क्या है ये थेरेपी

इंडिया में शादी को लोग पवित्र पवित्र बंधन मानते हैं। इस बंधन के इतना पवित्र और मूल्यवान होने की वजह से कई चीजें आपस में जुड़ जाती हैं। देखा जाए तो आज के समय की पीढ़ी में से ज्यादातर लोगों के लिए शादी एक कॉम्पिलकेटेड और चुनौतीपूर्ण रिलेशनशिप है। जब इस रिश्ते में पति पत्नी बंधते हैं, तो कहा जाता है कि ये डिवाइन रिलेशन हैं, इसे कोई नहीं तोड़ सकता। लेकिन आजकल कि भागदौड़ भरी जिंदगी में पति-पत्नी अपने कामों में इतना बिजी हो गए हैं कि वे एक दूसरे को वक्त, एक दूसरे को समझना, बातें शेयर करना और सेक्स लाइफ को लेकर कभी बात नहीं कर पाते हैं। बता दें कभी-कभी इतने क्लोज और प्यारे रिश्ते को कुछ गलतफहमियां या झगड़े खराब करने लग जाते हैं। ऐसे समय में रिश्ते को बचाने के लिए बातचीत करना पहला विकल्प है। बातचीत से भी बात न बनती दिखे तो फिर कपल थेरेपी लेने की जरूरत पड़ती है। आइए जानते हैं मानस्थली की संस्थापक साइकेट्रिस्ट डॉ ज्योति कपूर से कि क्या है कपल थेरेपी, कब पड़ती है इसकी जरूरत और क्यों करवानी चाहिए? 

क्या है कपल थेरेपी? 

कपल थेरेपी एक तरह से आपके और आपके पार्टनर के रिलेशन को अच्छा और स्ट्रांग बनाने में मदद करता है। बता दें कपल थेरेपी रिलेशन को बेहतर ढंग से समझने और एक-दूसरे के साथ बेटर रिलेशन को डेवलप करने पर केंद्रित होती है। कई बार कपल्स के रिलेशन्स में मुश्किलें आ रही होतीं हैं तो ऐसे में वो अपने रिलेशन को फिर से बनाने के लिए कपल थेरेपी ले सकते हैं। इस थेरेपी से कम्यूनिकेशन इश्यूज, ब्रेकअप, सेक्स रिलेटेड दिक्कतें दूर कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- रिश्ते को मजबूत बनाने और प्यार बढ़ाने के लिए करें कपल एक्सरसाइज, जानें इससे रिलेशनशिप में मिलने वाले फायदे

क्यों करवानी चाहिए कपल थेरेपी? 

कई बार कपल्स के बीच प्रोफेशन को लेकर, आर्थिक स्थिति को लेकर या किसी भी नुकसान आदि के वजह से मनमुटाव शुरू हो जाता है। जिस वजह से उनके बीच कलह शुरू हो जाती है। कभी-कभी झगड़े की स्थिति तलाक में भी बदल जाती है। आपको बता दें ऐसे समय पर आप कपल थेरेपी लें।  ये थेरेपी आपके रिश्ते की कड़वाहट और आपके बीच आई दरार को खत्म करने के साथ आपके रिश्ते को बचा सकती है। चलिए आपको बताते हैं कि आप किन स्थितियों में कपल थेरिपी को ले सकते हैं।

अगर आपका पार्टनर आपसे छुपाने लगे बातें

जब दो लोग एक रिश्ते में बंधते हैं, तो उनकी हरेक चीज एक दूसरे के साथ जुड़ जाती है। लेकिन कई बार रिश्ते में एक साथी दूसरे साथी से कोई बात छुपाता है, झूठ बोलता है या कभी अपनी भावनाओं को छुपाता है। ये सब बातें इस बात की ओर इशारा करती हैं कि आप अपने इस रिश्ते से खुश नहीं हैं। ऐसे मामलों में आपके लिए कपल थेरेपी लेना फायदेमंद रहेगा। 

couple therapy

छोटे-मोटे झगड़ों से रिश्ते में आ जाए खटास

कई मैरीड कपल्स के बीच छोटी-मोटी नोंकझोंक होती रहती है। लेकिन कई बार यही नोंकझोंक बड़ी लड़ाई झगड़े का रूप ले लेती है, जिस वजह से रिश्ते में खटास आ जाती है। अगर ऐसे ही आपके रिश्ते में हो रहा है तो आपको कपल थेरेपी लेनी चाहिए। इससे आपके मन को शांति और रिश्ते को मजबूती मिलेगी। 

एक दूसरे को माफ करना लगे मुश्किल

कई बार मैरीड कपल के बीच तकरार काफी हद तक बढ़ जाती है। इस दौरान बात एक दूसरे से माफी मांगने की आती है, तो कई बार कपल्स एक दूसरे को माफ नहीं कर पाते हैं। ऐसी स्थिति में कपल्स प्रोफेशनल डॉक्टर या साइकेट्रिस्ट से परामर्श करके अपने रिश्ते को अच्छा बना सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- पार्टनर के साथ उम्रभर रिलेशनशिप अच्छा रखना चाहते हैं, तो ये 5 गलतियां भूल से भी न करें वर्ना बिगड़ जाएगी बात

सेक्स लाइफ खराब होने लगे

कई कपल्स के बीच धीरे- धीरे सेक्स लाइफ में इंट्रस्ट खत्म होने लगता है। कई बार कपल्स इस बात को नॉर्मल समझने लगते हैं, लेकिन नॉर्मल नहीं होता है। बता दें सेक्स लाइफ खत्म होने से कपल्स के बीच दूरियां आ सकती हैं। अगर आपकी भी सेक्स लाइफ ऐसे ही है तो यह एक बड़ी समस्या है और इस समस्या का समाधान भी ढूंढना चाहिए। इसके लिए आपको कपल थेरेपी का सहारा लेना चाहिए, साथ ही सेक्सोलॉजिस्ट से भी बात करनी चाहिए। 

अगर ये संकेत दिखें तो जाएं कपल थेरेपी के लिए

  • पार्टनर के साथ बातचीत खराब हो। 
  • अगर आपको अपने रिश्ते को लेकर बोरियत लगने लगे। 
  • हर रोज एक ही बात पर लड़ाई हो रही है। 
  • अपने रिश्ते को और अच्छा बनाने के लिए। 
  • सेक्स लाइफ हो रही है खराब। 
  • अगर आपके पार्टनर का एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर है तो इससे डील करने के लिए। 
  • डिवोर्स लेने के बारे में सोचने पर। 
Disclaimer