गुजरात में मिला रेयर ब्लड ग्रुप, दुनिया का 10वां और देश का पहला व्यक्ति

गुजरात के एक व्यक्ति के शरीर में काफी रेयर ब्लड ग्रुप मिला है. इस ब्लड ग्रुप का नाम ईएमएम निगेटिव (EMM Negative) ब्लड ग्रुप है। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 15, 2022Updated at: Jul 15, 2022
गुजरात में मिला रेयर ब्लड ग्रुप, दुनिया का 10वां और देश का पहला व्यक्ति

अधिकतर लोग सिर्फ 4 ब्लड ग्रुप A, B, AB, O के बारे में जानते हैं। लेकिन आपको बता दें कि इन 4 ग्रुप के अलावा दुनिया में कई अन्य ब्लड ग्रुप्स भी मौजूद हैं। हालांकि, इस तरह से ब्लड ग्रुप काफी रेयर होते हैं। इसलिए अधिकतर लोग इन ब्लड ग्रुप से अनजान हैं। हाल ही में गुजरात के राजकोट में एक 65 वर्षीय बुजुर्ग व्यक्ति में एक बहुत ही दुर्भल ब्लड ग्रुप मिला है। इस ब्लड ग्रुप का नाम ईएमएम निगेटिव है। यह बहुत ही रेयर ग्रुप है, भारत में पहला ऐसा व्यक्ति सामने आया है, जिसके शरीर में ईएमएम निगेटिव ब्लड ग्रुप है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, व्यक्ति दिल की बीमारी से जूझ रहा है। 

क्या है ईमम निगेटिव ब्लड ग्रुप?

यह दुर्लभ ब्लड ग्रुप दुनिया में सिर्फ 10 व्यक्तियों के शरीर में है। वहीं, भारत में अब तक सिर्फ 1 ही व्यक्ति के शरीर में यह ब्लड ग्रुप है। बता दें कि दुनियाभर के अलग-अलग इंसानों में 42 अलग-अलग तरह के ब्लड सिस्टम मौजूद हैं, जिसमें ए, बी, ओ, ए, आरएस (RH), डफी (Duffy) शामिल हैं। लेकिन सामान्यतौर पर 4 ही ब्लड ग्रुप माने जाते हैं, क्योंकि अन्य ब्लड ग्रुप बहुत ही रेयर हैं।

इसे भी पढ़ें - हार्मोन्स को संतुलित रखना चाहते हैं, तो भूलकर भी न खाएं ये 10 फूड्स

वहीं, ईएमएम निगेटिव ब्लड ग्रुप 42वां ब्लड ग्रुप सिस्टम माना जाता है। इस ब्लड ग्रुप के व्यक्ति के शरीर में ईएमम हाई-फ्रिक्वेंसी एंटीजन की कमी होती है। 

इंटरनेशनल सोसाइटी ऑफ ब्लड ट्रांसफ्यूजन (ISBT) ने इस ब्लड ग्रुप का नाम EMM नेगेटिव रखा है। इसका कारण इस ब्लड ग्रुप के रेल ब्लड सेल्स में EMM नहीं होता है।

किसे कर सकते हैं दान?

EMM निगेटिव ब्लड ग्रुप वाला व्यक्ति किसी को न तो खून दान कर सकता है और न ही किसी से खून ले सकता है। यानी अगर व्यक्ति के शरीर में खून की कमी हो जाए, तो इसकी पूर्ति करना काफी मुश्किल हो सकता है।

अन्य रेयर ब्लड ग्रुप

EMM निगेटिव के अलावा कई अन्य ब्लड ग्रुप हैं, जो काफी रेयर हैं। इसमें गोल्डन ब्लड ग्रुप भी शामिल है। यह ब्लड ग्रुप दुनियाभर के सिर्फ 43 व्यक्तियों के शरीर में ही पाया गया है। इस तरह के व्यक्तियों को अगर खून की जरूरत होती है, जो उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ जाता है। गोल्डन ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति के खून में Rh फैक्टर null होता है।  

इसके अलावा कई अन्य ब्लड ग्रुप भी हैं, जो दुनियाभर के लोगों में काफी सीमित मात्रा में हैं। 

 
Disclaimer