क्या आपका टीनएज बच्चा बोलने लगा है झूठ? जानें इसके कारण और ये आदत छुड़ाने के उपाय

टीनएज में बच्चे मां-बाप से बहुत ज्यादा झूठ बोलते हैं। जानें ऐसा करने की क्या वजहें हो सकती हैं और इस स्थिति से कैसे निपटें।

Monika Agarwal
परवरिश के तरीकेWritten by: Monika AgarwalPublished at: May 21, 2022Updated at: May 21, 2022
क्या आपका टीनएज बच्चा बोलने लगा है झूठ? जानें इसके कारण और ये आदत छुड़ाने के उपाय

किशोरावस्था एक ऐसी अवस्था होती है जिसमें बच्चे को नए नए शौक चढ़ते हैं। उसका हर वह काम करने का मन करता है जिसकी वजह से वह अपने हमउम्र बच्चों पर रौब झाड़ सके। इस अवस्था में बच्चे काफी मुसीबतों में भी फंस सकते हैं और वह घर वालों के डर से घर में झूठ भी बोलने लगते हैं और जब माता-पिता को पता लगता है तो वह इस बात से दुखी भी हो सकते हैं। एक युवा बच्चे के मां बाप होने के नाते आपको उन्हें इस स्थिति में पा कर बुरा भला नहीं सुनाना चाहिए बल्कि समझदारी से इस स्थिति को डील करना चाहिए। मदरहुड हॉस्पिटल के सीनियर कंसल्टेंट एंड पीडियाट्रिशन डॉक्टर अमित गुप्ता बताते हैं कि बच्चा उस कच्ची मिट्टी के समान है कि जैसा आप डालोगे वैसा वह ढल जाएगा। बच्चे का झूठ बोलना या बच्चे की झूठ बोलने की आदत कुछ हद तक मां बाप पर भी निर्भर करती है। अगर उसने आपको किसी समय झूठ बोलते हुए देखा है तो उसे झूठ बोलते हुए कोई बुराई नहीं लगेगी, या फिर आप उसे जरूरत से ज्यादा डांटते हैं तो भी झूठ बोल सकता है। सबसे पहले तो बच्चों के झूठ बोलने के लक्षण को पहचानें।

टीनएज बच्चों में झूठ बोलते समय दिख सकते हैं ये संकेत

जल्दी जल्दी पलक झपकाना

अगर वह आम दिनों के मुकाबले ज्यादा जल्दी जल्दी आंखें झपका रहे हैं तो इसका भी यही मतलब है कि वह झूठ बोल रहे हैं।

नजरों से नजरें न मिला पाना

अगर आप अपने बच्चे से किसी स्थिति के बारे में पूछते हैं और वह आपसे नजर न मिला पा कर इधर उधर देखने लगते हैं, तो इसका मतलब है वह आपसे कुछ छुपा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें- इन 5 संकेतों से पहचानें आपका बच्चा बोल रहा है झूठ, जानें कैसे छुड़ाएं बच्चों को झूठ बोलने की आदत

फेशियल एक्सप्रेशन 

उनके चेहरे पर डर का भाव या ऐसे एक्सप्रेशन मानो वह कुछ छिपा रहे हैं, कभी भी नहीं छिप सकते। इनको देख कर आप पता लगा सकते हैं।

उनकी बॉडी लैंग्वेज

उनके शरीर की कुछ गतिविधियों को देख कर आप आसानी से समझ सकते हैं की वह झूठ बोल रहे हैं। अगर वह असामान्य हाथों और मुंह की गतिविधि करने लगें तो इसका मतलब यह भी झूठ है।

lying teenager

टीनएज बच्चों के झूठ बोलने पर कैसे डील करें?

झूठ बोलने का कारण समझें

कई बार बच्चा अपने दोस्तों को बचाने या फिर किसी मुसीबत की स्थिति में फंसने पर ही झूठ बोलता है। यह कोई ऐसा काम हो सकता है जिसमें बच्चे को पकड़े जाने का डर लग सकता है। आपको इस बात की जड़ तक पहुंचना चाहिए और अपनी प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल का प्रयोग करके बच्चे को उस समस्या से बाहर निकलने में मदद करनी चाहिए।

उन्हें शांति से समझाएं

अगर आपका बच्चा झूठ बोल रहा है तो आपको उसे पहले शांति से समझाना चाहिए। बच्चे को सजा देने की बजाए आपको उनके साथ बात करनी चाहिए कि ऐसा क्या कारण था जिसकी वजह से उन्हें झूठ बोलना पड़ा। इस स्थिति में बच्चा सच बोलेगा और आगे भी झूठ बोलने से पहले आपके साथ बात करना ज्यादा सही समझेगा।

इसे भी पढ़ें- बच्चों को बिगाड़ सकती हैं परवरिश से जुड़ी मां-बाप की ये 5 गलतियां, जानें क्यों गलत हैं ये आदतें

रिश्ता मज़बूत करना

अगर आपके बच्चे आपसे डरते हैं तभी वह आपसे ज्यादा झूठ बोल सकते हैं इसलिए आपको उसे उनके साथ एक ईमानदारी और एक नेक रिश्ता बना कर रखना चाहिए।

उनका बाहरी वातावरण

आपको बच्चे के दोस्तों और जिस माहौल में वह रह रहा है उसके बारे में जांच करनी चाहिए। अगर बच्चे का फ्रेंड सर्कल उसे गलत कामों में घसीट रहा है तो आपको इस बारे में बच्चे से बात करनी चाहिए और इसके दुष्परिणामों के बारे में उसे समझाना चाहिए।

बच्चे की झूठ बोलने की आदत उनके भविष्य के लिए भी काफी हानिकारक हो सकती है, इसलिए आपको इस पर ध्यान देना चाहिए।

Disclaimer