Expert

अपने बच्चे को मेंटली स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए सिखाएं ये 7 लाइफ स्किल्स, जीवन में आएंगी बड़े काम

How to make Kids Mentally Strong: बच्चों को मानसिक रूप से मजबूत बनाने के लिए आपको बचपन से ही उसे कुछ स्किल्स सिखानी चाहिए। यहां जानें ऐसी 7 स्किल्स

 
Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: May 18, 2022Updated at: May 20, 2022
अपने बच्चे को मेंटली स्ट्रॉन्ग बनाने के लिए सिखाएं ये 7 लाइफ स्किल्स, जीवन में आएंगी बड़े काम

अपने बच्चे को जीवन में एक अच्छा इंसान बनने के लिए बचपन से ही उसे बहुत चीजों के बारे में सिखाना जरूरी होता है। आपको बच्चे को सिर्फ शारीरिक रूप से ही नहीं, मानसिक व भावनात्मक रूप से भी मजबूत बनाना चाहिए। मानसिक रूप से मजबूत बच्चे दुनिया की चुनौतियों का आसानी से सामना कर लेते हैं। वह जीवन में आने वाली कठिनाइयों का सामना आसानी से कर लेते हैं और समस्याओं का हल ढूंढने में सक्षम होते हैं। जब आपके बच्चे से ही चीजें सीखते हैं और मानसिक रूप से मजबूत बनते हैं तो आगे चलकर जीवन में कठिन व विपरीत परिस्थितियों से भी वे आसानी से बाहर निकल जाते हैं।

अब सवाल यह है कि बच्चे को मानसिक रूप से मजबूत बनाने के लिए उन्हें किन चीजों या लाइफ स्किल्स को सिखाना चाहिए (How to make Kids Mentally Strong in Hindi)? चिंता न करें, इसमें आपकी मदद करने के लिए हम यहां हैं। इस लेख में हम चाइल्ड डेंटिस्ट और सर्टिफाइड पेरेंटिंग कोच डॉ. गरिमा कथूरिया से जानेंगे ऐसी 7 लाइफ स्किल्स (Things To Teach Kids To Make Them Mentally Strong In Hindi), जिन्हें आपको अपने बच्चे को मेंटली स्ट्रोंग बनाने के लिए सिखाना चाहिए।

बच्चे को मेंटली स्ट्रांग बनाने के लिए उन्हें सिखाएं 7 लाइफ स्किल (Things To Teach Kids To Make Them Mentally Strong In Hindi)

1. भावनाओं का संचार करना सिखाएं

भावनाओं का संचार आपके बच्चों को सिखाने के लिए सबसे आवश्यक लाइफ स्किल्स में से एक है। इससे न सिर्फ उनके भावनात्मक रूप से विकास में मदद मिलेगी, बल्कि वे नकारात्मक भावनाओं के से निपटने में भी समर्थ बनेंगे।

2. फेल और रिजेक्ट होने पर स्थिति को कैसे हैंडल करें

फेल और रिजेक्ट हमारे जीवन में सबसे अधिक बार होने वाली और दुर्भाग्यपूर्ण चीजों में से एक है। लेकिन बच्चे इससे निपटने के तरीके जरूर सिखाएं। उसे सिखाएं कि उसे इस स्थिति में क्या करना चाहिए। इससे आपके बच्चे को भविष्य में इस तरह की स्थितियों से निपटने में फायदा मिलेगा, और वे निराश नहीं होंगे।

इसे भी पढें: गर्मी की छुट्टियों में बच्चों को ऐसे बनाएं क्रिएटिव, सीखेंगे नए स्किल्स

3. बच्चे को विभिन्न संस्कृतियों, सामाजिक स्थितियों को समझाएं और उनका अनुभव कराएं

अगर आपको मौका मिलता है तो अपने बच्चे को ज्यादा से ज्यादा संस्कृतियों से परिचित कराएं।  इससे उन्हें कई जीवन कौशल सीखने को मिलेंगे। जिसमें सभी के प्रति उनकी करुणा शामिल है, चाहे उनकी संस्कृति, पृष्ठभूमि या त्वचा का रंग कोई भी हो।

4. देने की कला सिखाएं

बच्चे को सभी को देने के भाव सिखाएं। एक देने वाला हृदय एक हर्षित हृदय होता है।  जब हम देते हैं तो हमें खुशी का अनुभव होता है। हमारे बच्चों को यह आवश्यक स्किल सिखाने से उन्हें करुणा को उसके सच्चे रूप में समझने में मदद मिलेगी।

5. गलती होने पर माफी मांगना सिखाएं

यह सीखने के लिए सबसे विनम्र और चुनौतीपूर्ण स्किल है। हमारा मानव स्वभाव जन्म के समय से ही स्वार्थ से भरा हुआ होता है।  हम जरूरतमंद हैं, और जरूरत पड़ने पर हम एक दूसरे को भूल जाते हैं।  हम भूल जाते हैं कि हमारे कार्यों से दूसरों को दर्द हो सकता है। लेकिन अगर आपने अनजाने में किसी के साथ गलत किया है तो उसे स्वीकारना आना चाहिए और उसके लिए माफी भी मांगनी चाहिए। यह बच्चों को जरूर सिखाएं।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by DrGarima Kathuria (@the_doctor_mum)

6. उन्हें सीमाएं पहचानना सिखाएं

इसे भी पढें: बच्चों को जिद्दी बना सकती हैं पेरेंट्स की ये छोटी-छोटी गलतियां, परवरिश में रखें इनका ध्यान

7. सभी का आदर करना सिखाएं

बच्चों को सभी का आदर करना सिखाना जरूरी है। बच्चों को यह कला उदाहरण के जरिए समझाएं। जब हम अपने आस-पास के लोगों, खासकर अपने परिवार के प्रति सम्मान दिखाते हैं, तो हमारे बच्चे भी इस पर ध्यान देंगे और इस कला को सीखेंगे।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer