हरे मटर खरीदने से पहले करें इसकी शुद्धता की जांच, FSSAI से जानें इसके लिए आसान ट्रिक

क्या आप सर्दियों में ढेर सारे मटर खाने की तैयारी कर रहे हैं? तो खरीदने से पहले जरूर करें इसके शुद्धता की जांच। जाने यह आसान तरीका

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Oct 01, 2021
हरे मटर खरीदने से पहले करें इसकी शुद्धता की जांच, FSSAI से जानें इसके लिए आसान ट्रिक

सर्दियों का सीजन शुरू होने वाला है। इस सीजन में आपको तरह-तरह की सब्जियां खाने का मौका मिलता है। क्योंकि सर्दियों में सब्जियों की कई वैरायटी आपको आसानी से मिल जाती हैं। जो लोगों को काफी पसंद भी होती हैं। खासतौर पर हरी मटर। कई लोगों को हरी मटर काफी ज्यादा पसंद होती है। इसलिए सर्दियों में तैयार होने वाले कई डिशेज में मटर का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे- पुलाव, सब्जी, पराठा इत्यादि। मटर के छोटे-छोटे दानों का स्वाद काफी लाजबाव होता है। साथ ही यह सेहत के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि यह कई पोषक तत्वों जैसे. विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन ई, विटामिन के, फाइटोन्यूट्रिएंट्स, ल्यूटिन इत्यादि से भरपूर होता है। साथ ही इसमें फैट की मात्रा भी न के बराबर होती है। लेकिन सेहत से भरपूर इन मटर को खरीदने से पहले आपको जरा सावधानी बरतने की जरूरत है। जी हां, क्योंकि मार्केट्स में मौजूद हरे-भरे मटर नकली भी हो सकते हैं। जो आपकी सेहत के लिए काफी ज्यादा नुकसानदेय हो सकता है। इसलिए मटर को खरीदते समय इसकी शुद्धता की जांच जरूर करें। 

मिलावटी मटर की पहचान करने के लिए हाल ही में भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है। दरअसल, इन दिनों बाजार में खाद्य पदार्थों में कई तरह के केमिकल्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। जो सेहत के लिहाज से नुकसानदायक है। खाद्य पदार्थों की शुद्धता की जांच के लिए FSSAI ने #Detectingfoodadulterants नामक पहल शुरू की है। जिसमें वह वीडियो के माध्यम से खाद्य पदार्थों के शुद्धता की जांच करने का आसान तरीका बता रहे हैं। हर सप्ताह FSSAI एक वीडियो शेयर करती है, जिसमें अलग-अलग चीजों की शुद्धता जांचने का तरीका बताया जाता है। इस सप्ताह उन्होंने मटर की शुद्धता जांचने का तरीका बताया है। चलिए जानते हैं कैसे करें मटर की शुद्धता की जांच- 

कैसे करें मिलावटी मटर की जांच

FSSAI ने मटर की शुद्धता जांचने का काफी सरल तरीका बताया है। जिसे कोई भी आसानी से जांच सकता है। -

  • सबसे पहले मटर के दानों को लें। 
  • अब इसे किसी ट्रांसपेरेंट गिलास के अंदर डाल लें। 
  • इसके बाद इसमें पानी भरकर करीब 30 मिनट के लिए छोड़ दें। 
  • 30 मिनट के बाद अगर पानी का रंग हरा हो जाए, तो समझ जाएं कि आपके मटर में केमिकल का इस्तेमाल किया गया है। जिसे खाने से आपके शरीर को नुकसान हो सकता है। 

केमिकल्स युक्त मटर खाने से होने वाले नुकसान

केमिकल्स युक्त मटर या फिर अन्य सब्जियों का सेवन करवे से सेहत को कई तरह के नुकसान हो सकते हैं। जैसे-

  • पेट से जुड़ी बीमारियां होने की आशंका
  • कैंसर होने का खतरा
  • लिवर से जुड़ी बीमारियां होने की संभावना
  • किडनी क्षतिग्रस्त होने का खतरा
  • महिला और पुरुषों की फर्टिलिटी पर असर। इत्यादि।

अन्य खाद्य सामाग्री को जांचने का तरीका

हींग जांचने का तरीका

कई बार हींग में पत्थरों की मिलावट होती है। इसकी शुद्धता जांचने के लिए आप 1 गिलास पानी लें। इसमें 1 चम्मच हींल डालकर घोल दें। अगर हींग शुद्ध है, तो इसमें किसी भी तरह का कण नहीं दिखेगा। वहीं, अगर हींग शुद्ध नहीं है, तो इसमें आपको कुछ कंकड़ या फिर मिट्टी जैसा पदार्थ दिख सकता है। 

इसके अलावा हींग की शुद्धता को जांचने के लिए थोड़ी सी हींग लें। अब इसे जलाएं। अगर हींग पूरी तरह से जल जाए, तो समझ जाएं आपकी हींग शुद्ध है। लेकिन अगर न जले तो अशुद्ध। लेकिन ध्यान रखें कि इसमें हाई फ्लेम नजर नहीं आता है। 

इसे भी पढ़ें - मिलावटी नमक खाने से हो सकती हैं कई बीमारियां, FSSAI से जानें कैसे करें असली नमक की पहचान

धनिया की शुद्धता की जांच

इन दिनों मार्केट में कई तरह के मिलावटी धनिया पाउडर बिक रहे हैं। धनिया पाउडर की शुद्धता को परखने के लिए 1 चम्मच धनिया पाउडर लें। अब इसे 1 गिलास पानी में भिगो दें। अगर इसमें गोबर या फिर कोई अन्य चीज मिलाई गई होगी, तो पानी से बदबू आने लगेगा। वहीं, धनिया जैसी सुगंध है, तो इसमें मिलावट नहीं किया गया है। 

ध्यान रखें कि मार्केट से खाद्य पदार्थों को खरीदने से पहले उसकी शुद्धता की जांच करें। ताकि इसमें मौजूद केमिकल्स से होने वाले नुकसान से आप बच सकें। यह केमिकल्स आपके और आपके परिवार के अन्य सदस्यों के लिए काफी ज्यादा खतरनाक भी हो सकता है।

 

Disclaimer