स्मोकिंग करने वाली महिलाओं में बढ़ता है इन 5 बड़े रोगों का खतरा, जानें क्या हैं यें

इस बात में कोई दोराय नहीं है कि महिलाओं की शारीरिक संरचना पुरुषों से काफी अलग होती है। इसके अलावा महिलाओं के अंगों पर बुरी चीजों का प्रभाव पुरुषों की जुलना में ज्यादा जल्दी पड़ता है। सिगरेट पीना वैसे तो महिला और पुरुष दोनों के लिए हानिकार है लेकिन

Rashmi Upadhyay
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Rashmi UpadhyayPublished at: Mar 13, 2019
स्मोकिंग करने वाली महिलाओं में बढ़ता है इन 5 बड़े रोगों का खतरा, जानें क्या हैं यें

इस बात में कोई दोराय नहीं है कि महिलाओं की शारीरिक संरचना पुरुषों से काफी अलग होती है। इसके अलावा महिलाओं के अंगों पर बुरी चीजों का प्रभाव पुरुषों की जुलना में ज्यादा जल्दी पड़ता है। सिगरेट पीना वैसे तो महिला और पुरुष दोनों के लिए हानिकार है लेकिन इसके प्रभाव में महिलाएं जल्दी आती हैं। स्मोकिंग से सिर्फ फेफड़ो की बीमारी ही नहीं बल्कि कई अन्य बड़ी बीमारियों का खतरा भी बढ़ता है। आज हम सिगरेट से महिलाओं को होने वाले नुकसान के बारे में बता रहे हैं। तो आइए जानते हैं महिलाओं के लिए क्यों नुकसानदायक होता है ज्यादा सिगरेट पीना।

जल्दी आता है बुढ़ापा

महिलाओं की स्किन पुरुषों की तुलना में अधिक नाजुक और सेंसटिव होती है। इसलिए महिलाओं की स्किन जल्दी प्रभावित भी होती है। जो महिलाएं रोजाना सिगरेट पीती हैं उन्हें बुढ़ापा आने और स्किन में झुर्रियां पड़ने की संभावना भी बढ़ जाती है। क्योंकि सिगरेट पीने से स्किन में रक्त प्रवाह कम हो जाता है और स्किन को ऑक्सीजन, पोषक तत्व नहीं मिल पाते जिसके कारण चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती है।

इसे भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान ट्रैवेल करती हैं तो ध्यान रखें ये 5 बातें, खतरे से रहेंगी दूर

गर्भावस्था और स्तनपान

सिगरेट और बीड़ी का सेवन करने वाली महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान भी कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा सिगरेट से महिलाओं में इनफर्टिलिटी और गर्भपात का खतरा बढ़ने की भी संभावना रहती है। सिगरेट से बच्चे के प्रजनन पर बुरा असर पड़ता है उसका भ्रूण पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाता। सिगरेट पीने से महिला के स्तन में दूध की मात्रा कम होती है। इससे उनके बच्चे पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

हड्डियां होती हैं कमजोर

अमेरिकन केमिकल सोसाइटी ने दावा किया है कि सिगरेट पीने वालों की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। सोसाइटी ने अपने अध्ययन में पाया कि सिगरेट पीने से शरीर में दो प्रोटीनों का निर्माण ज्यादा होने लगता है जिससे अस्थि ऊतकों को हटाने वाली अस्थि कोशिकाओं ‘ओस्टेओक्लास्टस’ के निर्माण में वृद्धि हो जाती है।

बच्चा बन सकता है ओबेसिटी का शिकार

यामानाशी विश्वविद्यालय में स्कूल आफ मेडीसिन के प्राध्यापक जेंतारो यामागाता ने एक रिपोर्ट में कहा कि यदि मां, गर्भधारण के शुरुआती दिनों में भी धूम्रपान करती है तो उसका असर आगे जाकर बच्चे के मोटापे के रूप में सामने आ सकता है। हालांकि शोधकर्ता अभी तक धूम्रपान और मोटापे के बीच संबंध का पता लगाने में असफल रहे हैं पर उन्होंने इस बात से भी इंकार नहीं किया है, कि मां यदि सिगरेट पीती है तो इस बात की संभावना बढ़ जाती है कि बच्चे को गर्भ में उचित पोषण न मिल पाता हो।

किडनी को भी खराब करती है सिगरेट

धूम्रपान आपके फेफड़ों और दिल ही नहीं, बल्कि गुर्दे के लिए भी खतरनाक है। अभी तक यही माना जाता था कि सिगरेट पीने से फेफड़े और दिल की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। लेकिन, ताजा अध्‍ययन बताते हैं कि सिगरेट गुर्दे पर इस हद असर डालता है कि वे काम करना बंद भी कर सकते हैं। एक अध्ययन में कहा गया है कि प्रति दिन एक पैकेट से अधिक सिगरेट का सेवन गुर्दे के गंभीर रूप से खराब होने के खतरे को 51 प्रतिशत तक बढ़ाता है। किशोरों में धूम्रपान उनके गुर्दे को और भी अधिक नुकसान पहुंचाता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Women Health In Hindi

Disclaimer