Doctor Verified

कई स्किन लाइटनिंग और एंटी-एजिंग क्रीम्स में पाया गया मरकरी, डॉक्टर से जानें ये क्यों है आपके लिए घातक

हाल ही में र‍िलीज हुई स्‍टडी के मुताब‍िक गोरा करने वाली क्रीम ओर एंटी-एज‍िंंग क्रीम में मरकरी पाया जाता है

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Mar 28, 2022Updated at: Mar 28, 2022
कई स्किन लाइटनिंग और एंटी-एजिंग क्रीम्स में पाया गया मरकरी, डॉक्टर से जानें ये क्यों है आपके लिए घातक

हाल ही में एक स्‍टडी आई है ज‍िसके मुताब‍िक ज‍िन क्रीम को गोरा होने के ल‍िए इस्‍तेमाल क‍िया जाता है या जो क्रीम बनाने वाली कंपनी ये दावा करती हैं क‍ि इनका यूज करने से एज‍िंग की समस्‍या दूर होगी वो अपनी क्रीम में मरकरी का इस्‍तेमाल कर रही हैं। इस स्‍टडी में 271 उत्‍पादों को चेक‍ क‍िया गया था ज‍िसके बाद ये दावा क‍िया जा रहा है क‍ि ज्‍यादातर में मानक लेवल से ऊपर पारा इस्‍तेमाल क‍िया है। आइए जानते हैं क्‍या कहती है स्‍टडी और क्‍या है पारा इस्‍तेमाल करने के नुकसान। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की। 

cream with mercury  

image source: hearstapps

गोरा करने वाली और एंटी-एज‍िंग क्रीम में हो रहा है मरकरी का इस्‍तेमाल (Mercury used in creams)

एक स्‍टडी के मुताब‍िक स्‍क‍िन को गोरा करने वाली क्रीम और एंटी-एज‍िंग क्रीम में मरकरी यानी पारा पाया गया है। मरकरी की बात करें तो ये सबसे जहरीली धातुओं में से एक मानी जाती है। भारत समेत दुन‍िया भर में एक्‍सपोर्ट-इंपोर्ट की जाने वाली इन क्रीम में अगर पारा मौजूद है तो इसकी आशंका है क‍ि आपने भी इसे यूज क‍िया हो। इन उत्‍पादों के उपयोग शरीर और त्वचा के ल‍िए घाटत साब‍ित हो सकते हैं। जीरो मरकरी वर्कि‍ंग ग्रुप ने इस स्‍टडी को पूरा क‍िया है ज‍िसके ल‍िए उन्‍होंने 271 प्रोडक्‍ट्स टेस्‍ट क‍िए गए थे जो कुल 15 अलग-अलग देशों से उठाए गए थे, इन प्रोडक्‍ट्स में से आधे से ज्‍यादा का पीपीएम स्‍तर 1 से ऊपर पाया गया। 

इसे भी पढ़ें- Face Clean Up: जानें घर पर फेस क्लीन अप करने का आसान तरीका, निकल जाएगी सारी गंदगी और डेड स्किन सेल्स 

मरकरी के कारण होने वाले नुकसान (Side effects of mercury for health)

  • अगर पारा आपकी त्‍वचा में संपर्क में आ जाए तो आपको रैशेज की समस्‍या हो सकती है। 
  • पारा स्‍क‍िन के जर‍िए आपकी स्‍क‍िन में चला जाता है ज‍िसके कारण आपको क‍िडनी इंफेक्‍शन के लक्षण हो सकते हैं।
  • मरकरी के ज्‍यादा इस्‍तेमाल से नर्वस स‍िस्‍टम डैमेज हो सकता है।
  • पारा स्‍क‍िन के जर‍िए आपकी इम्‍यून‍िटी पर भी हमला कर सकता है। 
  • मरकरी के ज्‍यादा इस्‍तेमाल से आपका आईक्‍यू स्‍तर भी कम हो सकता है। कई देशों में इसका इस्‍तेमाल उत्‍पादों में करना बैन वहीं भारत जैसे कई देश ऐसे भी हैं जहां ये उत्‍पाद बाहर से मंगवाए जाते हैं। 
  • 2019 के एक केस की बात करें तो स्‍क‍िन को गोरा करने वाली क्रीम को इस्‍तेमाल करने के कारण एक महि‍ला कोमा में चली गई थी, डॉक्‍टर ने उसकी कंडीशन की पुष्‍ट‍ि की थी ज‍िसके बाद ये बहस और भी बढ़ गई क‍ि आख‍िर मरकरी शरीर के ल‍िए क‍ितनी घातक हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- पीली ही नहीं काली हल्दी भी है स्किन के लिए फायदेमंद, इन तरीकों से तैयार करें फेस मास्क

स्‍क‍िन प्रोडक्‍ट्स में क्‍यों क‍िया जाता है मरकरी का इस्‍तेमाल? (Why mercury used in skin products)

skin ageing cream

image source: bestconsumerreviews

स्‍क‍िन में पारा का इस्‍तेमाल इसल‍िए क‍िया जाता है क्‍योंक‍ि इसके इस्‍तेमाल से मेलान‍िन का प्रोडक्‍शन ब्‍लॉक होता है ज‍िससे त्‍वचा को रंग म‍िलता है ज‍िससे स्‍पॉट्स, र‍िंकल्‍स की समस्‍या दूर होती है। ज‍ितने भी प्रोडक्‍ट्स में पारा था उनमें से ज्‍यादातर पाक‍िस्‍तान, चाइना, मेक्‍स‍िकन देश आद‍ि में बनाए गए थे। स्‍क‍िन के ल‍िए ज‍िन क्रीम में पारा है उन्‍हें खुलेआम अमेजन, अलीबाबा, ईबे जैसे बड़ी ईकॉमर्स वेबसाइट के जर‍िए बेचा जा रहा है। जीरो मरकरी वर्क‍िंग ग्रुप ने कुल 271 प्रोडक्‍ट्स टेस्‍ट क‍िए थे जो क‍ि 15 अलग-अलग देशों से कलेक्‍ट क‍िए गए थे इन सभी में पारा का स्‍तर 1 पीपीएम यानी पार्ट पर म‍िल‍ियन के स्‍तर से ऊपर पाया गया।     

पारा के इस्तेमाल से बचने के ल‍िए आपको बाजार में म‍िलने वाले इन उत्‍पादों का ज्‍यादा इस्‍तेमाल नहीं करना चाह‍िए।  

Study: https://www.fda.gov/consumers/consumer-updates/mercury-poisoning-linked-skin-products

main image source: tkcdn.net

Disclaimer