फिट रहने के लिए सुबह उठकर खाते हैं सौंफ तो जरा ठहरिए सौंफ के हैं कई नुकसान भी, जानें सौंफ के साइड इफेक्टस

सौंफ का सेवन एक सही इलाज हो सकता है लेकिन केवल जब तक आप सेवन को सीमित करते हैं। इससे जुड़े साइड इफेक्ट के बारे में जानें।

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Apr 09, 2020
फिट रहने के लिए सुबह उठकर खाते हैं सौंफ तो जरा ठहरिए सौंफ के हैं कई नुकसान भी, जानें सौंफ के साइड इफेक्टस

भोजन समाप्त करने के बाद सौंफ खाना किसे पसंद नहीं और ये भोजन समाप्त करने का एक शानदार तरीका होता है, लेकिन सौंफ का बहुत अधिक सेवन आपके शरीर और स्वास्थ्य पर भारी पड़ सकता है और इसलिए इसके दुष्प्रभाव के बारे में जानना सबसे अच्छा है। हम सभी अपने भोजन के बाद इस स्वादिष्ट महक वाली सौंफ को चबाते हैं। यह स्वास्थ्य लाभ के लिए जाना जाती है और आपके भोजन को समाप्त करने का इसका अच्छा और बेहतर तरीका कोई नहीं है क्योंकि सौंफ़ के बीज पाचन को गति देने के लिए जाने जाते हैं और आपके पेट के स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं। इसे औषधीय गुणों के लिए भी जाना जाता है और इसका उपयोग घरेलू उपचार और उम्र के लिए पारंपरिक चिकित्सा के लिए किया जाता है। सौंफ को अपनी डेली डाइट में शामिल करने में कुछ भी गलत नहीं है, लेकिन यह याद रखना बहुत महत्वपूर्ण है कि सब कुछ हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है जब तक कि इसे कम मात्रा में खाया जाए। सौंफ के बारे में जैसा लोग जानते हैं इसके अधिक सेवन से होने वाले साइड इफेक्ट्स भी वे बिल्कुल अनजान होते हैं। यही कारण है कि अपने स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए एक सही निर्णय लेना महत्वपूर्ण है। सौंफ का सेवन एक सही इलाज हो सकता है लेकिन केवल जब तक आप सेवन को सीमित करते हैं। इससे पहले कि आप सौंफ को अपने दैनिक आहार में शामिल करें और बहुत अधिक मात्रा में सौफ का सेवन करें आप इससे जुड़े साइड इफेक्ट के बारे में जान लें क्योंकि कहीं अच्छे स्वास्थ्य के लिए लेने के देने न पड़ जाएं। 

saunf

लेख में जानें सौंफ से होने वाले साइड इफेक्ट

महिलाओं के लिए घातक हो सकता है सौंफ का सेवन

सौंफ़ के बीज में ऐसे पदार्थ पाए जाते हैं जो आपके हार्मोन के स्तर को प्रभावित कर सकते हैं। इसमें प्रोलैक्टिन होता है और यह एस्ट्रोजन को प्रभावित कर सकता है। सौंफ का अधिक सेवन महिलाओं के शरीर में परेशानी पैदा कर सकता है। अगर आप ओवेरियन कैंसर, एंडोमेट्रियोसिस या गर्भाशय फाइब्रॉएड या ऐसी किसी भी स्थिति से पीड़ित हैं, जो एस्ट्रोजेन या प्रोलैक्टिन द्वारा प्रभावित हो सकती है, तो सौंफ़ के बीज से बचना सबसे अच्छा है। गर्भवती महिलाओं के लिए भी यह हानिकारक हो सकता है।

इसे भी पढ़ेंः ब्रोंकाइटिस, टॉन्सिलिस, निमोनिया जैसी समस्याओं में आराम देती है मुल्लेन हर्बल चाय, जानें इसके 5 जबरदस्त फायदे

खेलें ये क्विज और परखे अपनी हेल्थ से जुड़ी जानकारी

Loading...

सनबर्न का कारण बन सकते हैं सौंफ के बीज

सौंफ के बीजों में एक ऐसा यौगिक पाया जाता है, जो आपकी त्वचा को सूरज की रोशनी के प्रति संवेदनशील बना सकता है। इसमें फोटोटॉक्सिक यौगिक होते हैं जो आपको सनबर्न के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकते हैं या सूजन और फफोले पैदा कर सकते हैं। यह फाइटोफोटोडर्माटाइटिस नामक त्वचा की स्थिति को भी जन्म दे सकता है। यह संपर्क जिल्द की सूजन भी पैदा कर सकता है जो त्वचा की एक और परेशान करने वाली स्थिति है।

इसे भी पढ़ेंः मक्खन, घी या तेल कौन है आपकी सेहत के लिए वरदान? जानें कितनी चम्मच का सेवन आपके स्वास्थ्य को नहीं पहुंचाता नुकसान

fennel seeds

दवाईयों के साथ न खाएं सौंफ के बीज

सौंफ के बीजों में ऐसे पदार्थ होते हैं जो कुछ दवाओं के संपर्क में आ सकते हैं और आपके स्वास्थ्य को खराब कर सकते हैं। अगर आप डॉक्टर की लिखी कोई दवा खा रहे हैं तो अपनी डाइट में सौंफ के बीज शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करना सबसे अच्छा है।

प्रीमैच्योर ब्रेस्ट डेवलपमेंट कर सकते हैं सौंफ के बीज

एक शोध के अनुसार, बहुत अधिक सौंफ के बीजों का सेवन करने से लड़कियों में समय से पहले स्तन का विकास हो सकता है। इस स्थिति को समय से पहले होने वाला दर्द कहा जाता है।

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer