हड्डियों को मजबूत रखने के लिए शिल्पा शेट्टी करती हैं ये योगासन, जानें फायदे

Shilpa Shetty Yoga Poses: शिल्पा शेट्टी 47 साल की उम्र में भी अपनी फिटनेस और डाइट का बहुत ध्यान रखती हैं। फिटनेस के लिए शिल्पा रोजाना योग करती हैं।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Aug 08, 2022Updated at: Aug 08, 2022
हड्डियों को मजबूत रखने के लिए शिल्पा शेट्टी करती हैं ये योगासन, जानें फायदे

Shilpa shetty Yoga Benefits For Health: हेल्दी लाइफ जीना आज हर किसी का पहला गोल हो गया है। हेल्दी और फिट रहने के लिए कई लोग योग करते हैं, तो कुछ एक्सरसाइज और डाइट का सहारा लेते हैं। परफेक्ट फिगर पाने की चाहत में लोग बहुत कुछ करते हैं। हालांकि एक वक्त के बाद हड्डियों का कमजोर पड़ना और वजन का बढ़ना लाजमी माना जाता है। अगर आप भी फिट और हेल्दी रहने के लिए कुछ ट्राई करना चाहते हैं एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी को फॉलो कर सकते हैं। 47 साल की उम्र में भी शिल्पा खुद को फिट रखने के लिए योग और डाइट का सहारा लेती हैं। एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी स्वास्थ्य पाने का मूल मंत्र वे योगा को मानती हैं। शिल्पा का मानना है कि बढ़ती उम्र के बाद हड्डियों का कमजोर होना एक आम बात है। अपनी बॉडी को स्लिम और हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए शिल्पा कुछ खास योगासन करती हैं। आइए जानते हैं इन योगासन के बारे में...

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Shilpa Shetty Kundra (@theshilpashetty)

बालासन

नियमित तौर पर बालासन करने से मांसपेशियों के दर्द से राहत मिलती है। कमर दर्द, कंधे, गर्दन, पीठ तथा जोड़ों के दर्द के लिए बालासन करने की सलाह दी जाती है। शिल्पा शेट्टी के मुताबिक बालासन करने से दिमाग को शांत करने और तनाव को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। आमतौर पर सुबह खाली पेट बालासन करने की सलाह दी जाती है। एक दिन में बालासन के आप 2 से 3 सेट लगा सकते हैं।

 इसे भी पढ़ेंः Raksha Bandhan 2022: रक्षाबंधन से पहले ऐसे करें फेस क्लीनअप, बढ़ेगा चेहरे का ग्लो

विपरीत शलभासन

वजन घटाने और बॉडी को स्लिम रखने के लिए विपरीत शलभासन करने की सलाह दी जाती है। छाती, कंधों, बांह, टांगों, पेट के निचले हिस्से को मजबूत बनाने के लिए विपरीत शलभासन करने से काफी फायदेमंद माना जाता है। आप विपरीत शलभासन के 4 से 5 सेट एक दिन में कर सकते हैं। अगर आपको कमर में दर्द या मांसपेशियों में किसी तरह की परेशानी है, तो विपरीत शलभासन करने से पहले ट्रेनर की सलाह जरूर लें।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Shilpa Shetty Kundra (@theshilpashetty)

नौकासन

पेट की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए नौकासन करने की सलाह दी जाती है। नौकासन करने से संतुलन और पाचन में सुधार करने के लिए इस योगासन के लाभ हैं। आपके हैमस्ट्रिंग को स्ट्रेच करने के लिए इस योग का अभ्यास फायदेमंद है। रीढ़ और कूल्हे के फ्लैक्सर्स की बढ़ती समस्याओं के जोखिम को कम करने में इसके लाभ हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः आंखों के पास मस्से होने पर आजमाएं ये घरेलू उपाय, मिलेगा छुटकारा

उत्कटासन

उत्कटासन को अंग्रेजी में चेयर पोज भी कहा जाता है। इस आसन में आपको अपने शरीर का संतुलन बनाते हुए कुर्सी पर बैठने का अभ्यास करना होता है। लेकिन इस आसन में आपको बैठने के लिए कोई कुर्सी नहीं दी जाती है। आपको सिर्फ कुर्सी को ध्यान में रखकर उस पर बैठने जैसी पोजीशन में रहना होता है। 

 
Disclaimer