कोरोना से बचाव के लिए किस उम्र के बच्चों को मास्क पहनना है जरूरी? ऐसे समझाएं मास्क पहनने के नियम

मास्क पहनना हर उम्र के बच्चों के लिए जरूरी है। अगर आपके बच्चे मास्क पहनने के लिए आनाकारी करते हैं, तो आप उन्हें इन उपायों से समझाएं।

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: May 14, 2021
कोरोना से बचाव के लिए किस उम्र के बच्चों को मास्क पहनना है जरूरी? ऐसे समझाएं मास्क पहनने के नियम

कोरोना महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनना जरूरी है। लेकिन कई वयस्क मास्क पहनने के नियमों को फॉलो नहीं करते हैं। इसी कारण कोरोना की दूसरी लहर लोगों को इस तरह से प्रभावित कर रही है। कोरोना से सुरक्षित रहने  के नियमों को अगर सही तरीके से फॉलो किया गया, तो काफी हद तक कोरोना से बचाव किया जा सकता है। कोरोना की दूसरी लहर से बचाव के लिए डबल मास्क पहनना जरूरी हो गया है, लेकिन हम में से कई लोग ऐसे हैं, जो मास्क पहनने पर ध्यान नही देते हैं। साथ ही अपने बच्चों को भी मास्क पहनाने पर जोर नहीं देते, ऐसे में सोचिए कोरोना (Covid-19 and Kids) किस तरह से हमें और हमारे बच्चों को प्रभालित कर सकता है। कोरोना से बचाव का सबसे बेहतरीन उपाय मास्क पहनना है।

मास्क पहनने से इंफेक्शन की चपेट में आने और फैलने का खतरा कम हो जाता है। हालांकि, अभी लॉकडाउन है और इस बजह से हम में से अधिकतर लोग घर में बंद हैं। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि घर में मास्क पहनना जरूरी नहीं है और नही बच्चों को मास्क पहनने के महत्व को बताता जरूरी। बच्चो के सेहत से जुड़े नियमों को आप उन्हें कभी भी बता सकते हैं। साथ ही लॉकडाउन खुलने पर मास्क पहनने में जरा सी भी लापरवाही न बरतें। अगर आपके बच्चे मास्क पहनने के लिए आनाकानी कर रहे हैं, तो उन्हें समझाएं कि मास्क पहनना कितना जरूरी है। इस दौर में मास्क पहनने की आदत डालना काफी जरूरी (Mask for kids) हो चुका है।

बच्चों को क्यों जरूरी है मास्क पहनना?

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, दो साल से अधिक उम्र के हर एक बच्चे और व्यक्तियों को मास्क पहनना जरूरी है। नवजात या फिर 2 साल से कम उम्र के बच्चों को मास्क पहनना जरूरी नहीं है। अगर आप ऐसा करते हैं, तो उन्हें सांस लेने में परेशानी हो  सकती है। 2 साल से अधिक उम्र के बच्चों को बताएं कि मास्क पहनने से कोरोना का फैलाव कम किया जा सकता है। मास्क पहनना एक अच्छी आदत है, जिससे कोरोना से संक्रमित होने का खतरा कम होता है। अगर आपके बच्चे मास्क नहीं पहन रहे हैं, तो उनकों जरूरी नियम समझाएं और मास्क पहनने में उनकी मदद करें। 

इसे भी पढ़ें - कोरोना मरीजों में देखे जा रहे हैं 'डबल निमोनिया' के मामले, डॉक्टर से जानें क्या हैं इसके लक्षण, कारण और इलाज

बच्चों को कैसे डाले मास्क पहनने की आदत

मास्क पहनने के फायदे बताएं

अगर आपके बच्चे मास्क नहीं पहन रहे हैं, तो उन्हें समझाएं कि मास्क पहनकर रखना क्यों जरूरी है। उन्हें बताएं कि मास्क पहनने से कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश नहीं करता है। इससे आप खुद को और दूसरों को भी सेफ रख सकते हैं। इस बीच बच्चे आपसे जो भी सवाल करें, उन सवालों के अच्छे से जबाव दें। ताकि उन्हें अच्छे से समझ आए कि मास्क पहनना जरूरी क्यों है।

अपने हाथों से बनवाएं मास्‍क

बच्चों को अपने हाथों की हर एक चीज काफी पसंद आती है। अगर आपका बच्चा 5 साल से अधिक उम्र का है,तो उनके हाथ मिलकर हैंडमैड मास्क बनाएं। मास्क बनाते समय उन्हें मास्क पहनने के जरूरी नियमों को समझाएं। अपने हाथों से बनाई चीजों का इस्तेमाल करना बच्चों को काफी ज्यादा पसंद आता है। 

खुद पहनकर दिखाएं मास्क

अगर आपके बच्चे मास्क नहीं पहन रहे हैं, तो उन्हें आप मास्क पहनकर दिखाएं। ऐसा करने से वे भी मास्क पहनने लगेंगे। क्योंकि अधिकतर बच्चे अपने माता-पिता की कॉपी करना पसंद करते हैं। मास्क पहनने के नियम अगर आप भी फॉलो करेंगे, तो आपके बच्चे खुद-ब-खुद उन नियमों को फॉलो करने लगेंगे। खुद मास्क पहनने के बाद बच्चे को मास्क पहनने के लिए कहें। ऐसा करने से वे ज्यादा सवाल किए बिना मास्क पहन लेंगे।

इसे भी पढ़ें - Covid-19 Symptoms : अब स्किन पर फैल रहा है कोरोना, ये लक्षण दिखने पर तुरंत करवाएं अपना कोविड-19 टेस्ट

बच्चों को इन जरूरी नियमों को भी सिखाएं

  • मास्क पहनने के साथ-साथ बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को भी बताएं।
  • नाक-कान अच्छी तरह ढकने के लिए कहें।
  • मास्क को धोना जरूरी है, इस बात का भी ख्याल रखने के लिए कहें।
  • बार-बार हाथ धोने के लिए कहें।
  • लोगों से दूरियां बनाने के लिए कहें।
  • बाहर खेलने से मना करें।
  • सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के लिए कहें।

ध्यान रखें कि कोरोनाकाल में मास्क पहनना बहुत ही जरूरी हो चुका है। ऐसे में बच्चों को और खुद को मास्क पहनाएं। अगर आपके घर में कोई कोरोना मरीज है, तो घर के अंदर भी मास्क पहनें। कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। ऐसे में बच्चों को कोरोना से बचाव के लिए जरूरी नियमों को समझाना जरूरी हो चुका है।

Read More Articles On Tips For Parents In Hindi

Disclaimer