महज 15 मिनट में आपके पूरे दिन का तनाव दूर कर देगा ध्यान लगाने का ये तरीका, जानें इसे करने का तरीका

मौजूदा वक्त में तनाव की वजह बहुत है लेकिन उसका निदान सिर्फ एक और वह है ध्यान। ध्यान लगाने के कई तरीके हैं लेकिन शेकिंग मेडिटेशन ध्यान लगाने का सबसे दिलचस्प तरीका है। चौंकिए नहीं इसे करने का तरीका जानिए।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Nov 20, 2019
महज 15 मिनट में आपके पूरे दिन का तनाव दूर कर देगा ध्यान लगाने का ये तरीका, जानें इसे करने का तरीका

हम सभी की ध्यान लगाने के बारे में अलग-अलग समझ है। लेकिन हममें से ज्यादातर लोग यह समझते हैं कि ध्यान लगाने का मतलब है कि एक कोने में शांत होकर जमीन पर बैठ जाएं और तनाव दूर हो जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं है। ध्यान कई तरीकों से लगाया जा सकता है। क्या आपने कभी सुना है कि एक ऐसी पॉजिशन, जिसमें आपकी मांसपेशियां हिलनी शुरू होती है और आपकी बॉडी शेक करती है। अगर आपने इस तरह से ध्यान लगाने के बारे में नहीं सुना तो चौंकिए मत। शेकिंग मेडिटेशन में आपको इसी तरह से ध्यान लगाने के बारे में सिखाया जाता है।

shaking meditation

क्या है शेकिंग मेडिटेशन

इस ध्यान लगाने की प्रक्रिया को औपचारिक रूप से तनाव मुक्त करने वाली एक्सरसाइज कहते हैं। आप ये जरूर सोच रहे होंगे कि हिलते-कूदते हुए कैसे ध्यान लगाया जा सकता है? दरअसल शेकिंग वार्म अप की एक प्रक्रिया है, जिससे आप अपने दिमाग और शरीर से टेंशन को बाहर निकाल सकते हैं। हालांकि ज्यादातर ध्यान लगाने की मुद्राओं में आपको स्थिर रहना पड़ता है और बार-बार हिलने से बचना पड़ता है। जबकि शेकिंग मेडिटेशन एक ऐसी मुद्रा है, जिसमें आपको शरीर को हिलने देना होता है।

कैसे काम करता है शेकिंग मेडिटेशन

आपने कभी गौर किया है कि सभी जानवर शेक करते हैं। आपने देखा होगा कि जब एक कुत्ता सोकर उठता है या फिर किसी नए हालात का सामना करता है तो वह हिलता है। हिलने से वह पुरानी ऊर्जा और तनाव को दूर कर देता है। हम इंसान तब शेक करते हैं जब हम लड़ रहे होते हैं या हमारी धड़कन बहुत तेज हो जाती है। इसका मतलब ये है कि जब हम किसी मानसिक आघात में या फिर खतरे में होते हैं तो हम हिलने लगते हैं। शेकिंग इससे मुक्ति पाने का एक आसान तरीका है।

इसे भी पढ़ेंः बालों को मजबूत बनाने के लिए सिर पर लगाते हैं जमकर तेल, फायदा नहीं होंगे ये नुकसान

15 मिनट शेक करने से दूर होगा तनाव

अपने शरीर को 15 मिनट हिलाकर आप पूरे दिन की थकान उतार सकते हैं और अपने मन को शांत कर सकते हैं। शेक करने से हमारा तंत्रिका तंत्र सक्रिया हो जाता है और हमारे मस्तिष्क को शांत, आराम करने का संकेत भेजता है। शेक करने से हमारी लसिका प्रणाली भी सक्रिय हो जाती है , जो हमें विषाक्त पदार्थों से छुटकारा दिलाने में मदद करती है।

shaking meditation

कैसे करें शेकिंग मेडिटेशन

शेक करने का कोई गलत तरीका नहीं है। शेकिंग मेडिटेशन करने के लिए आप बिल्कुल सीधे खड़े हो जाएं और अपने पैर खोल लें। इसके बाद अपने घुटने को ढीला छोड़ दें और अपने कंधे ढीले छोड़ दें। हिलना शुरू करें और धीरे-धीरे कूदे। इसके साथ ही आपके हाथों और कंधों में झनझनाहट होने लगेगी। धीरे-धीरे पूरी बॉडी को हिलाएं और पूरी बॉडी को हिलने दें। अगर आप चाहें तो संगीत लगाकर भी ऐसा कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः विटामिन C,E फूड और 1 छोटा सा एलोवेरा पौधा आपको जहरीली हवा से बचाने में है कारगर, जानें फायदे

मेडिटेशन करने का सही वक्त और जगह

शेकिंग मेडिटेशन एक एक्टिव प्रैक्टिस है और यह उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है जिन्हें एक जगह बैठे रहना पसंद नहीं है या फिर वह बैठने में सक्षम नहीं हैं। शेकिंग तंत्र उन लोगों के लिए बेहद फायदेमंद है, जो किसी आघात, दर्द या फिर फोबिया की परेशानी से जूझ रह हैं। बेवश होकर शेक करने आपकी मांसपेशियों के लिए अच्छा होता है क्योंकि मांसपेशियां सीधे आपके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र से जुड़ी होती है। यह संकेत आपके मस्तिष्क के भीतर नए रास्ते तैयार करते हैं। आप इसे दिन में 5 से 20 मिनट तक कर सकते हैं। इसके लिए किसी उपकरण की जरूरत नहीं होती और आप इसे कभी भी, कही भी कर सकते हैं।

Read More Articles On Mind and Body In Hindi

Disclaimer