Doctor Verified

प्रेगनेंसी में शिशु की हलचल (क्विकनिंग) कब से महसूस होती है?

प्रेगनेंसी में शिशु की हलचल महसूस होने को क्विकनिंग के नाम से जाना जाता है। जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Sep 24, 2022 10:00 IST
प्रेगनेंसी में शिशु की हलचल (क्विकनिंग) कब से महसूस होती है?

प्रेगनेंसी एक खास और नाजुक समय होता है। इस दौरान गर्भवती मह‍िला को हर एक मूवमेंट पर गौर करना चाह‍िए। गर्भस्‍थ श‍िशु के मूवमेंट या लात मरने की प्रक्र‍िया को प्रेगनेंसी में क्विकिंग (quickening in pregnancy) के नाम से जाना जाता है। कई बार श‍िशु के लात मारने के कारण गैस की समस्या भी हो सकती है। लेक‍िन हर मां को शारीर‍िक समस्‍या हो, ये जरूरी नहीं है। आगे जान‍िए प्रेगनेंसी में क्विकिंग को व‍िस्‍तार से। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के झलकारीबाई अस्‍पताल की गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ दीपा शर्मा से बात की।   

quickening in pregnancy

क्या होती है प्रेगनेंसी में क्विकिंग?

पहली बार श‍िशु की लात या हरकत महसूस करना ही प्रेगनेंसी में क्विकिंग के नाम से जाना जाता है। जब श‍िशु गर्भ में ज्‍यादा जगह बनाने की कोश‍िश करता है, तो वो लात मारता है या मूवमेंट करता है। क्विकिंग के दौरान गर्भवती मह‍िला को खुशी महसूस होती है। ये वो खास पल होता है जब आप होने वाले बच्‍चे को महसूस कर पाते हैं। ऐसा कहा जाता है क‍ि जब गर्भस्‍थ श‍िशु लात मारता है, तब वो आपको सुन पाता है। हर मां में ये हलचल अलग ढंग से महसूस होती है। 

इसे भी पढ़ें- कर रही हैं मां बनने की प्लानिंग? डॉक्टर से जानें प्रेगनेंसी के पहले मन में उठने वाले सभी सवालों के जवाब

बच्चे की पहली हरकत कब महसूस होती है?

प्रेगनेंसी के चौथे या पांचवे महीने से श‍िशु का लात मारना मां को महसूस होने लगता है। कुछ मह‍िलाओं में ये एहसास जल्‍दी भी महसूस हो सकता है। पहली बार मां बनने वाली मांओं में ये एहसास, अध‍िक समय ले सकता है। श‍िशु के लात मारने पर मांओं को ऐसा महसूस होता जैसे शरीर का छोटा ह‍िस्‍सा ह‍िल रहा है। इस दौरान मां को दर्द महसूस नहीं होता। 

हरकत न होने पर डॉक्‍टर से म‍िलें

ऐसा नहीं है क‍ि आपको हर बार श‍िशु के ह‍िलने या करवट लेना महसूस हो। केवल कुछ सेकेंड के ल‍िए श‍िशु की हलचल महसूस होती है। करीब 25वे हफ्ते में आपको श‍िशु की ह‍िचक‍ियां भी महसूस हो सकती हैं। अगर आपको 24वे हफ्ते तक श‍िशु की हलचल महसूस न हो, तो आपको डॉक्‍टर से संपर्क करना चाह‍िए। 

दूसरी प्रेगनेंसी  

दूसरी प्रेगनेंसी के दौरान श‍िशु की हलचल 16 से 18वे हफ्ते के बीच महसूस हो सकती है। अगर आपको पहली प्रेगनेंसी के दौरान श‍िशु की हलचल ज्‍यादा महसूस हो, तो घबराएं नहीं। हर मह‍िला का प्रेगनेंसी अनुभव अलग होता है। अगर गर्भाशय के सामने वाली दीवार प्‍लेसेंटा से ढकी हुई है, तो हलचल महसूस होने पर मुश्‍क‍िल हो सकती है। शुरुआत के समय में गर्भाशय की न‍िचली सतह पर श‍िशु की लात महसूस होती है, महीने बढ़ने के साथ पेट में भी ये एहसास महसूस क‍िया जा सकता है।  

श‍िशु की हलचल के तरीकों पर गौर करें, अगर आपको कोई अलग लक्षण महसूस हो, तो तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें।  

Disclaimer