रिटायरमेंट से आता है जीवनशैली में सकारात्‍मक बदलाव

रिटायरमेंट व्यक्ति के लिए अपने खराब जीवनशैली को सुधारने का यह अच्छा मौका हो सकता है। स्वस्थ रहने के लिए इस मौके का फायदा उठाया जा सकता है, आइए जानें कैसे।

Pooja Sinha
लेटेस्टWritten by: Pooja SinhaPublished at: Mar 25, 2016
रिटायरमेंट से आता है जीवनशैली में सकारात्‍मक बदलाव

क्‍या आप जानते हैं कि एक उम्र के पड़ाव के बाद काम से रिटायरमेंट व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक बदलावों की बहार लेकर आती है। यह बात हम नहीं कह रहे बल्कि एक नए शोध में यह दावा किया गया है। लगातार काम करने वाले व्यक्ति की तुलना में एक सीमा के बाद काम से रिटायरमेंट हो जाने वाला व्यक्ति शारीरिक रूप से सक्रिय रहता है और धूम्रपान का सेवन भी कम करता है। यह शोध 'प्रेसेंटेटिव मेडिसिन' पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

retirement in hindi
ऑस्ट्रेलिया की यूनिवर्सिटी ऑफ सिडनी से इस अध्ययन के मुख्य शोधकर्ता मेलोडी डिंग ने बताया, "सेवानिवृत्ति व्यक्ति के लिए अपने खराब जीवनशैली को सुधारने का यह अच्छा मौका हो सकता है। स्वस्थ रहने के लिए इस मौके का फायदा उठाया जा सकता है।"

 

शोध के निष्कर्षो के अनुसार, सेवानिवृत्त होने के बाद व्यक्ति सप्ताह में 93 मिनट की अतिरिक्त शारीरिक गतिविधियां करने लगता है। वहीं निष्क्रिय समय प्रति दिन के हिसाब से 67 मिनट घट जाता है, और नींद अवधि में 11 मिनट की वृद्धि होती है। डिंग ने कहा, "जीवनशैली में यह परिवर्तन उन लोगों में अधिक महत्वपूर्ण होते हैं, जो पूरा समय काम करने के बाद रिटायर होते हैं।"

Image Source : Getty

Read More Articles on Health News in Hindi

Disclaimer