जायफल और सरसों का तेल: दर्द से लेकर जुकाम ठीक करने तक, इन 5 समस्याओं में फायदेमंद है सरसों का तेल और जायफल

जायफल और सरसों तेल का मिश्रण शरीर की कई परेशानियों को दूर करने में प्रभावी हो सकता है। इससे जोड़ों में दर्द और सर्दी-जुकाम की परेशानी दूर हो सकती है। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: May 08, 2022Updated at: May 08, 2022
जायफल और सरसों का तेल: दर्द से लेकर जुकाम ठीक करने तक, इन 5 समस्याओं में फायदेमंद है सरसों का तेल और जायफल

भारतीय किचन में कई तरह के मसालों का इस्तेमाल किया जाता है। यह मसाले न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाते हैं, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद हैं। जायफल भी इन्हीं मसालों में से एक है। जायफल खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ कई आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर होता है। शरीर की कई परेशानियों जैसे- जोड़ों का दर्द, सर्दी-जुकाम, घाव इत्यादि की परेशानी को दूर करने के लिए जायफल का इस्तेमाल किया जाता है। खासतौर पर जायफल और सरसों तेल का मिश्रण आपकी इन परेशानियों को दूर करने में लाभकारी हो सकता है। आज हम इस लेख में जायफल और सरसों के तेल के फायदों के बारे में जानेंगे। आइए जानते हैं जायफल और सरसों का तेल के फायदों (Nutmeg and Mustard oil benefits) के बारे में-

जायफल और सरसों के तेल के फायदे 

गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी का कहना है कि जायफल और सरसों तेल का मिश्रण काफी लंबे समय से इस्तेमाल किया जा रहा है। यह एक पुरानी चिकित्सा पद्धति है। बच्चों को सर्दी-खांसी होने पर जायफल और सरसों तेल का मिश्रण दिया जाता है। वहीं, यह मिश्रण शरीर की अन्य परेशानी जैसे- जोड़ों में दर्द, कमजोर इम्यूनिटी को बूस्ट कर सकता है। हालांकि, ध्यान रखें कि गर्मियों में इसका इस्तेमाल कम मात्रा में करना चाहिए। वहीं, अगर आप अपने शिशु को यह मिश्रण दे रहे हैं, तो एक बार एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।

जायफल और सरसों के तेल का इस्तेमाल करने से जोड़ों और मांसपेशियों में होने वाले दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके अलावा इसके कई अन्य फायदे हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में-

इसे भी पढ़ें - चेहरे पर जायफल का तेल लगाने से दूर होती हैं ये 7 समस्याएं, जानें कैसे करें इस्तेमाल

1. जोड़ों के दर्द में राहत

जायफल और सरसों के तेल का इस्तेमाल करने से जोड़ों में दर्द की परेशानी को दूर किया जा सकता है। दरअसल, जायफल में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण पाया जाता है, जो कई तरह की बीमारियों को दूर करने में प्रभावी है। अगर आप जोड़ों में दर्द की परेशानी से जूझ रहे हैं, तो जायफल और सरसों का तेल आपके लिए लाभकारी हो सकता है। नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करने से जोड़ों में दर्द को दूर किया जा सकता है। 

इसका इस्तेमाल करने के लिए सरसों के तेल में 2 जायफल को डालकर रातभर के लिए भिगोकर छोड़ दें। सुबह इस तेल से अपने ज्वाइंट्स की मालिश करें। नियमित रूप से इस तेल से मालिश करने से जोड़ों में दर्द की परेशानी दूर हो सकती है। 

2. मांसपेशियों के दर्द से राहत

जायफल और सरसों का तेल जोडों में दर्द के साथ-साथ मांसपेशियों के दर्द से भी राहत दिला सकता है। दअसल, इस सरसों तेल में जायफल का पाउडर डालकर मालिश करने से मांसपेशिय़ों के सूजन को कम किया जा सकता है। साथ ही इसमें दर्द निवारक गुण होता है, जो मांसपेशियों के दर्द को कम करता है। 

3. सर्दी-जुकाम से राहत

बच्चों और शिशुओं को सर्दी-जुकाम की परेशानी होने पर जायफल और सरसों का तेल किया जा सकता है। यह एक आजमाया हुआ नुस्खा है। इसका इस्तेमाल करने के लिए जायफल लें। अब इसमें सरसों तेल लगाकर किसी पत्थर या फिर सिलबट्टे पर चंदन की तरह घिस लें। अब इस पेस्ट को शिशु को चटाएं। इससे बच्चों को होने वाली सर्दी-जुकाम की परेशानी दूर होती है। 

4. घाव के निशान करे कम

जायफल और सरसों का तेल घाव के निशान को कम करने में प्रभावी हो सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए 1 चम्मच जायफल पाउडर लें। अब इसमें 1 चम्मच सरसों का तेल मिक्स कर लें। इसके बाद इसे अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे घाव का निशान दूर होगा। जायफल पाउडर के बजाय आप जायफल तेल को भी सरसों तेल में मिक्स करके प्रभावित हिस्से पर लगा सकते हैं। 

5. फटी एड़ियों से राहत

जायफल और सरसों के तेल का इस्तेमाल करने से से फटी एड़ियों की परेशानी दूर हो सकती है। इसका इस्तेमाल करने के लिए जायफल पाउडर को सरसों तेल में मिक्स कर लें। अब इस तेल को एड़ियों पर लगाएं। नियमित रूप से एड़ियों पर इस तेल को लगाने से फटी एड़ियों की परेशानी दूर हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - शहद और जायफल का मिश्रण दूर करता है ये 5 समस्याएं, आयुर्वेदाचार्य से जानें इस्तेमाल का तरीका

जायफल और सरसों तेल का इस्तेमाल करने से सेहत से जुड़ी कई परेशानी दूर हो सकती है। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आप पहली बार इस मिश्रण का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो डॉक्टर या किसी एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।

Disclaimer