मानसून में क्यों जरूरी है नाखूनों की खास देखभाल? जानें खराब होते नाखूनों के लिए 5 घरेलू उपाय

अगर आप भी मानसून के मौसम में अपने नाखूनों की केयर करना भूल जाती हैं तो ऐसा न करें, क्योंकि यह आपकी खराब सेहत का एक कारण बन सकते हैं। 

Monika Agarwal
घरेलू नुस्‍खWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jul 25, 2021Updated at: Jul 25, 2021
मानसून में क्यों जरूरी है नाखूनों की खास देखभाल? जानें खराब होते नाखूनों के लिए 5 घरेलू उपाय

मानसून का मौसम किसे पसंद नहीं होता। पर क्या इस मौसम में आपके नाखून ज्यादा टूटते हैं या ड्राई रहते हैं, जिस कारण आप परेशान रहती हैं। हो सकता है कि आप इस मौसम में अपने नाखूनों की उतनी देखभाल न कर पा रही हों जितनी त्वचा की करती हैं। असल में यह मौसम आपके नाखूनों के लिए बहुत खराब है, क्योंकि इस मौसम में नाखूनों में बैक्टेरिया या जर्म्स रुक कर इंफेक्शन कर सकते हैं। इसके अलावा आपके नाखून टूट भी सकते हैं या वह कई बार ड्राई भी हो जाते हैं। यह सब आपके मन पसंदीदा मौसम की ही देन हैं। इतना सुन कर हो सकता है की आप परेशान हो जायें। लेकिन ऐसा करने से पहले एक बार रुकें। क्योंकि आज हम आपके लिए कुछ ऐसी टिप्स लाएं हैं जो मानसून के दौरान आपके नाखूनों को खराब होने से बचा सकती हैं और उन्हें हेल्दी रखने में मदद भी करेंगी। इन टिप्स के द्वारा आपके नाखून भी सुरक्षित रहेंगे और मानसून मौसम के लिए आपका प्रेम भी। 

inside1rainyseasonnailacare

मानसून में नाखूनों की देखभाल-Nail care tips for monsoon

1. जूते निकालने के बाद साफ करें अपने नाखून (Clean Your Nails After Removing Your Shoes)

अगर आप कहीं बाहर जा रही हैं या बाहर से आ रही हैं तो जूते निकलते समय या जूते पहनते समय कोशिश करें कि आपकी उंगलियों का प्रयोग ज्यादा हो और नाखूनों का कम। इसके बाद आप अपने नाखूनों को साबुन से अच्छे से धो लें। ताकि सभी टॉक्सिन बाहर निकल सकें और आपके नाखून क्लीन हो सकें। इससे बहुत सारे बैक्टीरिया आदि को जन्म होने से रोका जा सकेगा और फिर नाखून भी नहीं टूटेंगे

2. अपने नाखूनों को छोटा रखें (Keep Your Nails Short)

हां हम मानते हैं कि लंबे और नेल आर्ट किए गए नाखून सुंदर तो बहुत लगते हैं लेकिन वह सुंदरता भी किस काम की जो आपको बीमार कर दे। लंबे नाखूनों में बैक्टेरिया आसानी से पनप जाते हैं। जिस कारण आपका इंफेक्शन होने का रिस्क बढ़ जाता है। इसलिए आपको हमेशा ही या कम से कम बारिश के मौसम के दौरान अपने नाखूनों को छोटा ही रखना चाहिए। नाखूनों के जल्दी टूटने का कारण ज्यादा लंबे नाखून भी हैं।

इसे भी पढ़ें : इन 6 तरीकों से करें पुदीने की पत्तियों का इस्तेमाल, दूर होंगी रोजमर्रा की कई समस्याएं

3. अपने क्यूटिकल्स का भी रखें ख्याल (Take Care of Your Cuticles Too)

अगर आप भी अपनी क्यूटिकल को ज्यादा आकर्षित बनाने के लिए उसे अधिक सजा धजा लेती हैं तो बारिश के दौरान ऐसा न करें। उन्हें जितना सिंपल रखेंगी उतना ही अधिक आपके लिए लाभदायक रहेगा। उन्हें साफ और मॉइश्चराइज करने के लिए आप क्यूटिकल और मैनीक्योर ऑयल का प्रयोग कर सकती हैं जो आसानी से आस पास की दुकानों पर उपलब्ध होगा। ऐसा करने से आपके नाखून ज्यादा ड्राइ भी नहीं रहेंगे और उनके टूटने की स्पीड भी कम होगी।

inside2mosoonnailscare

4. पानी में थोड़ी देर के लिए भीगो कर रखें (Soak in Water For a While)

अगर आप वीकेंड पर अपने सारी शरीर की केयर करती हैं तो नाखूनों की क्यों नहीं? अगर आप अपने नाखूनों को हेल्दी और स्वस्थ बनाना चाहती है तो कम से कम हफ्ते में एक बार गर्म पानी में 2 चम्मच सेंधा नमक, 3 से 4 चम्मच नींबू का रस और कुछ बूंदें लेवेंडर एसेंशियल ऑयल की मिला लें और अपने नाखूनों और पैरों को आधे घंटे के लिए इस सॉल्यूशन में डूबो कर रखें। इसके बाद नाखूनों को साफ पानी के साथ भी धो लें ताकि झाग आदि उतर सकें।

इसे भी पढ़ें : नाभि में जलन और दर्द होने पर अपनाएं ये 5 आसान घरेलू नुस्खे

5. न भूलें मॉइश्चराइज करना (Moisturise Them)

अगर आपके नाखून भी अधिकतर समय ड्राई महसूस करते हैं तो आपको यह नहीं भूलना चाहिए कि उन्हें भी हाइड्रेशन और मॉइश्चराइजेशन की आवश्यकता होती है। इसलिए जब भी आप अपनी स्किन को मॉइश्चराइज करती हैं तो अपने नाखूनों पर भी इसका प्रयोग करना न भूलें। यह आपको क्यूटिकल्स के आस पास की फटी हुई स्किन से राहत दिलाता है ताकि आपके लिए यह स्थिति और अधिक दर्दनाक न हो।

खराब नाखूनों के लिए टिप्स का प्रयोग मानसून के मौसम के दौरान जरूर करें। क्योंकि इस मौसम में आपको अपनी सेहत का एक्स्ट्रा ख्याल रखना चाहिए और आपके लंबे और गंदे नाखून भी आपकी बीमार सेहत का या इन्फेक्शन होने का एक कारण बन सकते है। इसलिए अपनी सेफ्टी सुनिश्चित करें ,ताकि आप महामारी के साथ मानसून को भी हरा सकें। इस बार खतरे दो हैं तो सुरक्षा भी डबल होनी चाहिए।

Read more articles on Home-Remedies in Hindi

Disclaimer