पीलिया में बहुत फायदेमंद मानी जाती है मुलेठी, जानें सेवन करने का सही तरीका

बदलते मौसम में लोगों को कई तरह की बीमारियां होती हैं, इन्हीं में से एक है पीलिया। पीलिया में जीभ, आंख और स्किन का पीला पड़ना जैसे लक्षण नजर आते हैं।

सम्‍पादकीय विभाग
विविधWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
पीलिया में बहुत फायदेमंद मानी जाती है मुलेठी, जानें सेवन करने का सही तरीका

जब-जब मौसम में बदलाव होता है, तब-तब लोग बीमार पड़ते हैं। घर के बड़े बुजुर्ग, बच्चे और कमजोर इम्यूनिटी वालों को बदलते मौसम में ज्यादा बीमारियां और इंफेक्शन होने का खतरा रहता है। सर्दी, खांसी, बुखार के अलावा बदलते मौसम में कोई बीमारी सबसे ज्यादा परेशान करती है वो है पीलिया यानी जॉन्डिस। अगर सही वक्त पर पीलिया से बचाव न किया जाए तो यह घातक रूप ले सकती है। कई बार बदलते मौसम में लाइफस्टाइल, खान पान और रहन सहन में बदलाव न करने के कारण भी पीलिया जैसी बीमारी होने का खतरा रहता है। अगर आप भी पीलिया से परेशान हैं तो आज हम आपको इसे ठीक करने का एक ऐसा देसी नुस्खा बताने जा रहे हैं, जिससे आपको आराम मिल सकता है।

क्या है पीलिया के लक्षण (Symptoms of jaundice)

डॉक्टरों के मुताबिक पीलिया होने पर किसी भी इंसान के शरीर में यह बदलाव देखे जाते हैं।

  • मूल का रंग पीला होना
  • जीभ, आंख और स्किन का पीला पड़ना
  • पेट के ऊपरी हिस्से में हमेशा दर्द रहना
  • अधिकांश समय कब्ज, बुखार और उल्टी जैसा महसूस होना
  • वजन का कम होना
  • भूख न लगना जैसी समस्या हो सकती है।

मुलेठी से खत्म होगा पीलिया (Mulethi Benefits in Jaundice)

पीलिया को ठीक करने के देसी नुस्खों में पहला नाम आता है मुलेठी का। प्रोटीन, कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड जैसे पोषक तत्वों से भरपूर मुलेठी का सेवन की सलाह अक्सर सर्दी, खांसी जैसी बीमारियों में दी जाती है। ज्यादातर लोगों को इस बात की जानकारी ही नहीं होती है कि मुलेठी में मौजूद पोषक तत्व पीलिया को भी ठीक करने में मददगार होती है।

इसे भी पढ़ेंः क्या पीलिया में दूध पी सकते हैं या पीलिया कितने पॉइंट होना चाहिए? जानें इस रोग से जुड़े ऐसे 8 सवालों के जवाब

पीलिया में कैसे करें मुलेठी का सेवन (How to consume liquorice in Jaundice)

मुलेठी का स्वाद खाने में थोड़ी सी मीठी और कड़वी होती है इसलिए ज्यादातर लोगों को यह पसंद नहीं आता है। पीलिया में इसका सेवन आप शहद के साथ कर सकते हैं। सबसे पहले थोड़ी सी मुलेठी को लेकर इसका पाउडर बना लें। कम से कम 1 चम्मच मुलेठी का पाउडर होना चाहिए। अब मुलेठी के पाउडर में 1 चम्मच शहद डालकर मिक्स करें और खाएं। 

आप चाहे तो 1 चम्मच मुलेठी पाउडर को गर्म पानी के साथ भी ले सकते हैं। इसके लिए 1 चम्मच मुलेठी पाउडर को आधा गिलास पानी में 1 मिनट के लिए गर्म करें। इसके बाद इसे छन्नी से छानकर, उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर गुनगुना पिएं। मुलेठी को गर्म पानी के साथ लेते वक्त ध्यान दें कि यह ठंडा न हो पाए। अगर आप इस घोल को ठंडा करके पिएंगे तो यह फायदेमंद साबित नहीं होगा।

इन लोगों को नहीं करना चाहिए मुलेठी का सेवन (People should not consume Jaundice)

मुलेठी के स्वास्थ्य लाभ तो हैं लेकिन कुछ लोगों को इसका सेवन करने की मनाही होती है। जानकारों का मानना है कि हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, किडनी और जिन महिलाओं को पीरियड्स में किसी भी तरह की समस्या है उन्हें मुलेठी का सेवन नहीं करना चाहिए। इस तरह की बीमारियों से ग्रस्ति लोग यदि मुलेठी का सेवन करते हैं तो यह उनके लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है। 

मुलेठी सर्दी, खांसी, बुखार, पेट की परेशानियों और पीलिया जैसी कई बीमारियों में फायदेमंद साबित हो सकती है, लेकिन अगर इसका ज्यादा सेवन किया जाए तो मांसपेशियों, क्रोनिक थकान, सिरदर्द, सूजन, एडिमा, सांस की तकलीफ, पैरों में दर्द जैसी समस्या हो सकती है। अगर आप पीलिया से ग्रस्ति हैं और मुलेठी का सेवन करने की सोच रहे हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें। 

इसे भी पढ़ेंः छीलकर या बिना छीले? खीरा खाने का सही तरीका क्या है

पीलिया में मूली का रस भी है फायदेमंद

पीलिया जैसी बीमारी में आप मूली का रस भी ट्राई कर सकते हैं। इसके लिए 2 से 4 मूली और इसके पत्तों का रस निकाल लें। मूली और इसके पत्तों के रस में अपने स्वादानुसार काला नमक मिलाकर पिएं। मूली के रस का सेवन करने से पीलिया को जल्द खत्म करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा पाचन तंत्र भी सही रहेगा।

 
Disclaimer