नहीं रहे 'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह, महीने भर कोरोना से जूझने के बाद देर रात हुआ निधन

60 के दशक में देश और दुनिया का दिल जीतने वाले भारतीय धावक मिल्खा सिंह 91 साल की उम्र में कोरोना वायरस संक्रमण से हारकर दुनिया को अलविदा कह गए।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jun 19, 2021Updated at: Jun 19, 2021
नहीं रहे 'फ्लाइंग सिख' मिल्खा सिंह, महीने भर कोरोना से जूझने के बाद देर रात हुआ निधन

'फ्लाइंग सिख' के नाम से मशहूर भारतीय धावक मिल्खा सिंह का कोरोना संक्रमण के कारण कल देर रात 11:30 बजे चंडीगढ़ में निधन हो गया। 4 दिन पहले ही रविवार को उनकी पत्नी और निर्मल कौर भी कोविड के कारण ही जिंदगी की जंग हार गई थीं। 91 वर्षीय मिल्खा सिंह और उनकी पत्नी लगभग एक महीने पहले 20 मई को कोरोना संक्रमित हुए थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक ये संक्रमण उन्हें उनके रसोइये से मिला, जो इसके थोड़े दिन पहले सी संक्रमित पाया गया था। कोरोना के लक्षणों के सामने आने के बाद मिल्खा सिंह का इलाज चल रहा था। शुरुआती इलाज के बाद 30 मई को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी क्योंकि उनकी रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी। लेकिन 3 जून को उनका ऑक्सीजन लेवल अचानक गिरने लगा तो उन्हें दोबारा हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक 2 दिन पहले गुरुवार तक उनकी स्थिति सामान्य बताई जा रही थी, लेकिन कल शाम उनकी स्थिति एक फिर फिर बिगड़ी और वो देश-दुनिया को अलविदा कह गए।

मिल्खा सिंह; जिन्हें जीत ने नहीं, हार ने बना दिया था पॉपुलर

milkha singh death news

मिल्खा सिंह भारत के कुछ ऐसे स्पोर्ट्स पर्सन में गिने जाते थे, जो युवाओं के लिए हमेशा प्रेरणास्रोत रहेंगे। मिल्खा सिंह को 1958 में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक लाने के लिए तो याद किया ही जाता है। लेकिन उन्हें चर्चा और प्रसिद्धि तब ज्यादा मिली थी जब 1960 के रोम ओलंपिक में एक सेकेंड के 100वें हिस्से की वजह से वो पदक से चूक गए थे और चौथे स्थान पर आए थे। इस सेकेंड के सौवें हिस्से की हार ने उन्हें रातों-रात खूब चर्चा दिलाई थी। मिल्खा सिंह ने साल 1956 और 1964 में ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया था। स्पोर्ट्स की दुनिया में मिल्खा सिंह हमेशा एक सुपरस्टार की तरह याद किए जाएंगे। मिल्खा सिंह के बारे में अक्सर ये कहा जाता है कि वो दौड़ते नहीं थे, उड़ते थे। उन्हें फ्लाइंग सिख की उपाधि पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री फील्ड मार्शल अयूब खान ने दी थी। मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल कौर भी एक एक स्पोर्ट्स विमेन थीं। वो भारतीय वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान थीं।

इसे भी पढ़ें: दूसरी लहर लाने वाला कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट हुआ म्यूटेट, डेल्टा+ वैरिएंट को बताया जा रहा ज्यादा खतरनाक

पीएम मोदी समेत कई हस्तियों ने जताया शोक

मिल्खा सिंह के आकस्मिक निधन पर देशभर में शोक की लहर है। पीएम नरेंद्र मोदी समेत देश-दुनिया की कई बड़ी हस्तियों ने उन्हें याद करते हुए अपना दुख व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने उन्हें याद करते हुए कुछ तस्वीरों का कोलॉज शेयर किया और कहा, "हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया है।" इसके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह, क्रिकेटर और सांसद गौतम गंभीर, बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार और फुलबॉलर सुनील छेत्री समेत ढेर सारी हस्तियों ने उन्हें याद किया है।

फिल्म भाग मिल्खा भाग से नई पीढ़ी के बीच दोबारा हुए थे पॉपुलर

मिल्खा सिंह ने अपने जीवनकाल में भारत का मस्तक दुनिया में उंचा करने के कई मौके दिए हमें दिए थे। अपने जमाने में शोहरत की बुलंदी पर पहुंचने वाले मिल्खा सिंह के बारे में नई पीढ़ी के लोग ज्यादा नहीं जानते थे। लेकिन साल 2013 में आई फरहान अख्तर की फिल्म भाग मिल्खा भाग की रिलीज के बाद नई पीढ़ी ने इस सुपरस्टार स्पोर्ट्सपर्सन के संघर्ष और मेहनत को जब बड़े पर्दे पर देखा और पहचाना। मिल्खा सिंह के निधन पर फरहान अख्तर ने भी एक भावुक करने वाला ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा कि आप हमेशा हमारे साथ रहेंगे। आपकी मेहनत, ईमानदारी और लगन हमेशा लोगों को प्रेरणा देती रहेगी।

Read More Articles on Health News in Hindi

Disclaimer