बच्चों को शारीरिक कमजोरी दूर करे दाई मां की रोहण (मांसरोहिणी) जड़ी-बूटी, जानें इसके अन्य 5 फायदे

मांसरोहिणी कई गुणों से भरपूर होती है। यह बच्चों की शारीरिक कमजोरी दूर करने के साथ-साथ कई परेशानियों से छुटकारा दिलाता है। 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Sep 09, 2022Updated at: Sep 09, 2022
बच्चों को शारीरिक कमजोरी दूर करे दाई मां की रोहण (मांसरोहिणी) जड़ी-बूटी, जानें इसके अन्य 5 फायदे

Mansarohini: आधुनिक समय में हम कई ऐसी चीजों को पीछे छोड़ते चले जा रहे हैं जिसमें कई तरह की जड़ी-बूटियां शामिल हैं। इन्हीं जड़ी-बूटियों में से एक है रोहण या मांसरोहिणी। मैं भी इस जड़ी-बूटी के बारे में ज्यादा नहीं जानती थी, लेकिन मैंने अपनी मम्मी से इस जड़ी-बूटी के बारे में जाना है। उन्होंने बातों-बातों में बताय था कि पहली दी दाई मां बच्चों को रोहण जड़ी-बूटी देती थीं, जिससे बच्चों का शरीर हष्ट-पुष्ट हो जाता था. अब इस तरह की जड़ी-बूटी के बारे में लोग जानते तक नहीं है. आइए जानते हैं आखिर क्या है रोहण और इसका कैसे किया जा सकता है इस्तेमाल? 

क्या है मांसरोहिणी

मांसरोहिणी एक तरह का जंगली वृक्ष है, जिसका इस्तेमाल आयुर्वेद में सदियों से किया जा रहा है। गांव के कई इलाकों में बच्चों को हष्ट-पुष्ट बनाने के लिए इसे दूध में घिसकर दिया जाता है. आइए जानते हैं इसके फायदों के बारे में-

इसे भी पढ़ें - शिशु को दूध में मिलाकर पिलाएं ये ड्राई फ्रूट्स, सेहत होगी दुरुस्त

मांसरोहिणी के फायदे

गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी का कहना है कि यह औषधीय वनस्पति है। स्वाद में हल्का मीठा,  तीखा और कषाय होता है। वहीं, इसमें शीत गुण होता है, जो शरीर में शक्ति को बढ़ावा देता है। इससे घाव भरने में मदद मिलती है। साथ ही यह पाचन के लिए भी अच्छा होता है। 

1. मलेरिया बुखार

मलेरिया बुखार की परेशानी को कम करने के लिए मांसरोहिणी का इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए 1 ग्राम रोहण की छाल से तैयार चूर्ण लें। अब इस चूर्ण को गर्म पानी के साथ सेवन करें। इससे शरीर को लाभ मिलेगा। 

2. दस्त से राहत

दस्त और अपच की परेशानियों को दूर करने के लिए मांसरोहिणी काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। इसका सेवन करने के लिए इसकी छाल के चूर्ण को ठंडे पानी के साथ पिएं। इससे अपच, कब्ज और दस्त की परेशानी दूर होगी। 

3. यूरिन संबंधी समस्याएं करे दूर

यूरिन में जलन, दर्द और रूक-रूक कर पेशाब आने की परेशानी को दूर करने के लिए आप मांसरोहिणी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका सेवन करने के लिए इसकी छाल का चूर्ण लें। अब इसमें सेंधा नमक मिक्स करके इसका सेवन करें। इससे आपको यूरिन से जुड़ी परेशानियों से छुटकारा मिल सकता है। 

4. स्तन संबंधी परेशानी

स्तान संबंधी समस्याओं को दूर करने में यह आपकी मदद कर सकता है। इसके लिए नियमित रूप से 10 मिलीग्राम मांसरोहिणी क्वाथ का सेवन करें। इससे आपको स्तन में होने वाली खुजली, ड्राईनेस से छुटकारा मिलेगा। साथ ही ब्रेस्ट मिल्क भी बढ़ सकता है। 

5. घाव को भरे

मांसरोहिणी की मदद से आपको घाव भरने में मदद मिल सकती है। इशके लिए मांसरोहिणी क्वाथ से घाव को धोएं। कुछ दिनों तक इस क्रिया को अपनाने से घाव जल्दी भर सकते हैं। 

6. बच्चों के लिए है प्रभावी

बच्चों की शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए मांसरोहिणी दिया जा सकता है। इसके लिए रोहिणी की छाल को चंदन घिसने वाले पर थोड़ा सा दूध डालकर घिसें. अब इसे अपने बच्चे को चटाएं। नियमित रूप से इस तरह रोहण देने से आपके बच्चे की कमजोरी दूर होगी। साथ ही शरीर का विकास भी बेहतर होगा। 

मांसरोहिणी या रोहण एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है। इसका इस्तेमाल शरीर की कई समस्याओं को दूर कर सकता है। हालांकि, अगर आप इस जड़ी-बूटी से अच्छी तरह परिचित नहीं है तो एक्सपर्ट एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही इसका सेवन करें। 

Disclaimer