क्या कोविड वैक्सीन हार्ट को नुकसान पहुंचा सकती है? क्या हार्ट के मरीजों के लिए वैक्सीन सुरक्षित है?

कुछ लोगों का कहना है कि कोविड वैक्सीन के कारण हार्ट अटैक जैसे मामले बढ़ रहे हैं। क्या वाकई ऐसा है? जानें डॉक्टर की राय।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Sep 25, 2022 08:30 IST
क्या कोविड वैक्सीन हार्ट को नुकसान पहुंचा सकती है? क्या हार्ट के मरीजों के लिए वैक्सीन सुरक्षित है?

कोरोना वायरस का प्रभाव पूरी दुनिया पर पड़ा है। जिन लोगों को पहले पुरानी बीमारी थी, उन लोगों को ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ा। कोविड 19 हार्ट वाले रोगियों के लिए और भी ज्यादा खतरनाक साबित हुआ। दिल के रोगियों में अचानक मौत और संक्रमण का डर आम लोगों से कहीं ज्यादा था। पिछले साल की रिपोर्ट के अनुसार जिन लोगों को दिल की बीमारी थी, कोविड से मरने वालों में उनकी संख्या ज्यादा थी। कोविड की दूसरी लहर के दौरान कार्डियक अरेस्ट हार्ट रोगियों में सबसे आम साइड इफेक्ट्स में से एक था और इसी कारण की वजह से कोविड के कारण अचानक से मौतें हुईं। इसलिए डॉक्टरों ने सलाह दी कि जिन लोगों को दिल से जुड़ी समस्या है, उन लोगों को पहले वैक्सीन लगवाना चाहिए। लेकिन कुछ लोगों ने कोविड वैक्सीन को लेकर तरह-तरह की अफवाहें भी फैलाईं। 

क्या कोविड वैक्सीन दिल के मरीजों के लिए सुरक्षित है?

कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद कुछ लोगों को गुलेन-बैरे सिंड्रोम, ब्लड के थक्कों में वृद्धि, मायोकार्डिटिस, दिल की मांसपेशियों की सूजन या एनाफिलेक्सिस एक एंटीजन के लिए तीव्र एलर्जी जैसी समस्याओं का कुछ लोगों को सामना करना पड़ा। ज्यादातर लोगों में ये सभी इंफेक्शन वैक्सीन लगवाने के एक सप्ताह के अंदर-अंदर देखने को मिले। 

इसे भी पढ़ें- कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज लगवाने पर दिखाई दे सकते हैं ये साइड इफेक्ट्स, जानें बचाव के टिप्स

क्या है एक्सपर्ट की राय?

अगत्सा के मेडिकल एडवाइजर डॉक्टर अन्बू पांडियन के मुताबिक वैक्सीन के कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं, जो हमारे स्वास्थ्य या फिर हृदय की सेहत के लिए लंबे समय में हानिकारक हैं। कोविड 19 की वैक्सीन दिल के रोगियों के साथ-साथ सभी लोगों के लिए जरूरी है। कोरोना वायरस से उभरते रूपों का खतरा बढ़ रहा है। ऐसे में दिल के रोगियों को जल्द से जल्द अपने टीके लगवा लेने चाहिए।

  • अगर कोई व्यक्ति इंजेक्शन लगवाने के बाद भी अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा, तो उसको यह ध्यान रखना चाहिए कि कोविड का इंजेक्शन सभी उम्र के लोगों के लिए सुरक्षित है। 
  • जिन लोगों को दिल से जुड़ी बीमारी है या पहले कभी दिल का दौरा या स्ट्रोक आ चुका है, ऐसे लोगों को जल्द से जल्द इंजेक्शन लगवाना चाहिए क्योंकि वे आम लोगों की तुलना में वायरस से अधिक खतरे में हैं। 
COVID Vaccine in Hindi

कोविड वैक्सीन लगवाने के बाद ध्यान रखें ये बातें

वैक्सीन लगवाने के बाद ध्यान रखने योग्य बात यह है कि कुछ लोगों में वैक्सीन के कारण समान्य बुखार, थकान, सिरदर्द और जोड़ों में दर्द की समस्या होना आम है। इसके अलावा, इंजेक्शन वाली जगह पर दर्द भी देखा जा सकता है। अगर कोई व्यक्ति स्वस्थ है या फिर दिल का रोगी है, तो ये इफेक्ट्स उनमें भी दिख सकते हैं। लेकिन अगर आपको किसी तरह की शंका है, तो अपने डॉक्टर से बात करें और उनकी सलाह लें। वैक्सीन लगवाने के बाद लगातार चेकअप कराते रहें ताकि आपके शरीर में होने वाले बदलावों की आपको और आपके डॉक्टर को जानकारी हो।

इसे भी पढ़ें- क्या गर्भवती महिलाएं लगवा सकती हैं कोविड वैक्सीन का बूस्टर डोज? जानें डॉक्टर की राय

  • वैक्सीन लगवाने का मतलब यह नहीं है कि कोई व्यक्ति वायरस से संक्रमित होने से सुरक्षित है, बल्कि ये वैक्सीन आपको वायरस के संक्रमण के बाद होने वाली परेशानियों से बचा सकती है इसलिए मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना और हाथ साफ करना बहुत जरूरी है। 
  • कोविड वैक्सीन लेने के बाद संक्रमित होने पर आपके अस्पताल में भर्ती होने की संभावना कम हो सकती है। हालांकि नए रूपों के साथ वर्तमान समय में संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। इसलिए शारीरिक दूरी बनाना, मास्क पहनना, हाथों की स्वच्छता बनाए रखना और घर पर रहना बेहद जरूरी है।

कोविड वैक्सिन से आपको पहले से ही मौजूद बीमारियों का कोई खतरा नहीं बढ़ने वाला। इसलिए घबराएं नहीं और अपने आस पास के लोगों को भी इस विषय में जानकारी देकर उन्हें जागरूक बना सकते हैं। कोविड वैक्सिन का हृदय पर भी कोई प्रभाव नहीं है।

Disclaimer