World Health Day 2021: फिटनेस फ्रीक लोगों के बीच पॉपुलर हैं ये 5 डाइट प्लान्स, लेकिन क्या ये वाकई हेल्दी हैं?

इन द‍िनों कई डाइट्स पॉपुलर हो रही हैं, पर इन्‍हें फॉलो करने से पहले आपको ये जान लेना चाह‍िए क‍ि क्‍या ये सेहत के ल‍िए वाकई फायदेमंद हैं या नहीं

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Apr 05, 2021 16:45 IST
World Health Day 2021: फिटनेस फ्रीक लोगों के बीच पॉपुलर हैं ये 5 डाइट प्लान्स, लेकिन क्या ये वाकई हेल्दी हैं?

7 अप्रैल को पूरी दुन‍िया में वर्ल्ड हेल्‍थ डे मनाया जाएगा। इस समय दुन‍िया वैश्‍व‍िक महामारी की चपेट में है, ऐसे वक्‍त में लोगों ने अपनी सेहत पर ध्‍यान केंद्र‍ित क‍िया है। सेहत को चलते फ‍िटनेस फ्रीक्‍स भी अलग-अलग डाइट्स को फॉलो कर रहे हैं। वजन कम करने की चाह रखने वाले लोगों के बीच फैड डाइट बहुत कॉमन है। ये डाइट्स इस बात का दावा करती हैं क‍ि इनको करने से वजन जल्‍दी कम होगा। हालांक‍ि इसके पीछे कोई साइंट‍िफ‍िक कारण नहीं है। कभी-कभी इन डाइट्स को फॉलो करने से वजन तो कम हो जाता है पर आपके शरीर में न्‍यूट्र‍िएंट्स की कमी हो जाती है। इतना ही नहीं बल्‍क‍ि कुछ डाइट्स एक समय के बाद बॉडी पर अपना असर द‍िखाना बंद कर देती हैं। आपको ऐसी डाइट फॉलो करनी है ज‍िससे आपका वजन तो घटे पर आपके शरीर में पोषक तत्‍वों की मात्रा बनी रहे। इस बात को ध्‍यान में रखते हुए आज हम आपको बताने जा रहे हैं 5 पॉपुलर और इस समय की ट्रैंडी डाइट्स के बारे में ताक‍ि आप ये फैसला क‍र पाएं क‍ि क्‍या सच में ये डाइट प्‍लान आपके ल‍िए फायदेमंद है भी या नहीं। इन डाइट्स में फूडमैप, सर्ट फूड डाइट, जीएम डाइट, पैल‍ियो और कीटो डाइट शाम‍िल हैं। ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के वेलनेस डाइट क्‍लीन‍िक की डाइटीश‍ियन डॉ स्‍म‍िता सिंह से बात की। 

fod map diet

1. दुन‍िया भर में फेमस है फूड मैप डाइट (Fod map diet) 

बीते तीन महीनों की बात करें तो फूड मैप डाइट दुन‍िया भर में इंटरनेट पर सर्च की जाने वाली टॉप 10 डाइट में से एक है। फूडमैप का मतलब है कॉर्ब्स और शुगर की शॉर्ट चेन। इस डाइट को लेने वाले ये दावा करते हैं क‍ि उनका वजन कम होता है और पेट संबंधी श‍िकायतें दूर होती हैं। फूड मैप डाइट में प्रोबायोट‍िक्स को शाम‍िल क‍िया जाता है। वैसे तो इसमें सब्‍ज‍ियां, फल, प्रोटीन, सी फूड्स, स्‍टार्च, अनाज और फैट को शाम‍िल क‍िया जाता है पर अगर इस डाइट को डॉक्‍टर की गाइडेंस में न ल‍िया जाए तो इससे वजन बढ़ भी सकता है क्‍योंक‍ि इसमें फैट को शाम‍िल क‍िया जाता है। कॉर्ब्स की मात्रा ज्‍यादा होने पर ये शरीर को नुकसान पहुंचा सकती है। इसल‍िए सोच समझकर ही डाइट को फॉलो करें। आपको इस डाइट को फॉलो करने के दौरान लहसुन, प्‍याज, ब्‍लैकबेरी, ब्रेडेड मीट आद‍ि से बचना है। 

2. क्या है ट्रेंड‍िंग सर्टफूड डाइट? (Sirt food diet)

sirt food diet

सर्टफूड डाइट इन द‍िनों काफी फ‍िटनेस फ्र‍ीक्‍स के बीच काफी पॉपुलर है। इंटरनेट पर इस डाइट की पॉपुलेरेटी आप इस बात से समझें क‍ि दुन‍ियाभर में हेल्‍थ पर सर्च क‍िए गए कीवर्डस में ये डाइट टॉप 10 में शाम‍िल है। लोग इस डाइट के बारे में जानना चाहते हैं। वजन घटाने के ल‍िए सर्टफूड डाइट का इस्‍तेमाल लोग दुन‍िया भर में कर रहे हैं। अमेर‍िकी स‍िंगर अडेल ने साल की शुरूआत में इस डाइट पर चर्चा की थी। सर्ट डाइट में प्रोटीन की एक चेन बनाई जाती है ज‍िससे मेटाबॉल‍िज्‍म बढ़ता है, इंफ्लेमेशन कंट्रोल होता है और वजन घटता है। इस डाइट में पहले 3 द‍िन स‍िर्फ 1 हजार कैलोरीज ही लेनी होती है। बाक‍ि के द‍िन 15 हजार कैलोरीज ले सकते हैं। बेशक इस डाइट से वजन कम होगा पर इस डाइट को लेने का नुकसान ये है क‍ि इसमें खाने के ऑप्‍शन बहुत कम होते हैं इसल‍िए लोग इस डाइट को लंबे समय तक नहीं कर पाते। 

इसे भी पढ़ें- वजन घटाने के लिए दुनियाभर में पॉपुलर हैं ये 5 डाइट, आपको भी कम करना है मोटापा तो अपनाएं इन्हें

3. 7 द‍िन में वजन कम करने वाली जीएम डाइट (7 days weight loss GM diet plan)

gm diet plan 

जीएम डाइट प्‍लान की बात करें तो भारत में लोगों ने इसे गूगल पर इतना सर्च क‍िया है क‍ि इस समय जीएम डाइट ट्रैंड कर रही है। ये मोस्‍ट सर्चड डाइट की सूच‍ी में टॉप 5 में शाम‍िल है। ये डाइट इसल‍िए इतनी पॉपुलर हो रही है क्‍योंक‍ि ये डाइट एक हफ्ते में 7 क‍िलो वजन कम करने का दावा करती है। इसके ल‍िए आपको 7 डेज डाइट प्‍लान फॉलो करना होगा। इस डाइट का मकसद शरीर को ड‍िटॉक्‍स करके व‍िषैले पदार्थ बाहर न‍िकालना है। इस डाइट में लो कैलोरी फूड शाम‍िल क‍िए जाते हैं। इस डाइट में फल, सब्‍ज‍ियां, दूध, मीट आद‍ि शाम‍िल क‍िया जाता है। 7 द‍िन के फूड आइटम अलग-अलग होते हैं। वहीं 8 से 10 ग‍िलास पानी पीने की सलाह दी जाती है। इस डाइट पर एक्‍सर्ट का कहना है क‍ि आप इसे एक से दो हफ्तों तक ही फॉलो कर सकते हैं हमेशा इस डाइट पर रहना सही नहीं है क्‍योंक‍ि इसमें हाई प्रोटीन और कम कॉर्ब्स वाली डाइट लेनी होती है वहीं एक्‍सर्पट्स इस डाइट से 7 द‍िन में वजन कम होने का दावा भी नहीं करते। 

इसे भी पढ़ें- कैसे पता करें आपके किचन में मौजूद मसाले और खाद्य पदार्थ असली हैं या नकली? जानें आसान तरीके

4. दुन‍ियाभर में सबसे पॉपुलर कीटो डाइट के नुकसान भी जान लें (Avoid Keto diet without doctor's advice) 

keto diet disadvantages

ये डाइट इस समय भारत समेत दुन‍ियाभर में पॉपुलर है। लोग इसके बारे में गूगल सर्च कर रहे हैं यही वजह है क‍ि डाइट कैटेगरी में ये नंबर वन है। पर क्‍या आप जानते हैं इतनी पॉपुलर डाइट के कई नुकसान भी हैं। इस डाइट से वजन कम करने वाले लोग वजन बढ़ने जैसी समस्‍या का भी श‍िकार हो जाते हैं क्‍योंक‍ि इस डाइट में फैट की मात्रा 70 प्रत‍िशत होती है। इस डाइट में आपको फैट र‍िच फूड को खाना होता है। ये डाइट डॉक्‍टर न्‍यूरो के मरीजों को देते हैं पर अगर आप इसे बि‍ना सलाह के लेंगे तो ये डाइट आपको नुकसान पहुंचा सकती है। कीटो डाइट से शरीर में थकान, पोषक तत्‍वों की कमी भी हो सकती है। इसमें फैट का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है इसल‍िए अगर आप डॉक्‍टर की सलाह के बि‍ना इस डाइट को फॉलो करते हैं तो आपको वजन घटने के बजाय बढ़ भी सकता है। इसके अलावा इस डाइट से इलेक्‍ट्रोलाइट के स्‍तर पर असर पड़ता है। एक्‍सपर्ट्स का मानना है क‍ि लंबे समय तक आप कीटो डाइट को फॉलो न करें। 

5. थॉयरॉइड है तो मत करें पैल‍िया डाइट (Paleo diet health benefits)

पैल‍ियो डाइट भारत और दुन‍िया में मोस्‍ट सर्चड कीवर्ड्स में टॉप 5 में से एक है। लोग इस डाइट के बारे में ज्‍यादा से ज्‍यादा पढ़ रहे हैं पर क्‍या आप जानते हैं ये डाइट क्‍यों पॉपुलर है। इस डाइट में प्रोसेस्‍ड फूड्स का सेवन कम करके वजन घटाया जाता है। ये डाइट प्रोटीन र‍िच होती है इसल‍िए अगर आपको थायरॉइड है तो आप इस डाइट को फॉलो नहीं कर पाएंगे। पर अगर आप लंबे समय तक फ‍िट रहना चाहते हैं तो इस डाइट को फॉलो कर सकते हैं। इस डाइट में मछली, सीड्स, नट्स आद‍ि शाम‍िल क‍िए जाते हैं। ब्‍लड ल‍िप‍िड प्रोफाइल, शुगर लेवल को कंट्रोल करने के ल‍िए ये एक हेल्दी डाइट है। 

इन डाइट्स को फॉलो करने से पहले आपको डॉक्‍टर से सलाह लेनी जरूरी है क्‍योंक‍ि हर डाइट का असर प्रत्‍येक व्‍यक्‍त‍ि पर अलग तरह से होगा इसल‍िए आप ब‍िना सलाह कोई भी डाइट फॉलो न करें। 

Read more on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer