क्या चावल को अच्छे से न पकाकर खाने से बढ़ता है कैंसर का खतरा? जानें इस पर डायटीशियन की राय और नई रिसर्च

हाल ही में एक स्टडी सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि सही से न पके चावल का सेवन करने से कैंसर हो सकता है। चलिए जानते हैं इस बारे में विस्तार से-

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Sep 21, 2021
क्या चावल को अच्छे से न पकाकर खाने से बढ़ता है कैंसर का खतरा? जानें इस पर डायटीशियन की राय और नई रिसर्च

चावल हमारे भोजन का मुख्य आहार है। कई राज्यों जैसे- बिहार, ओडिशा, पश्चिम बंगाल में इसका सेवन अनिवार्य रूप से किया जाता है। कुछ लोगों को चावल काफी ज्यादा पसंद होता है। तो वहीं, कुछ लोग इसका सेवन कम करना पसंद करते हैं। चावल का इस्तेमाल कई तरह के डिशेज को तैयार करने के लिए किया जाता है। चावल को लेकर कुछ लोगों का मानना है कि इसके अधिक मात्रा में सेवन करने से वजन बढ़ता है। लेकिन हाल ही में एक चौंका देने वाली स्टडी सामने आई है। इस स्टडी के मुताबिक अगर आप सही से न पके हुए चावल का सेवन करते हैं, तो इससे आपको कैंसर का खतरा हो सकता है। चलिए इस लेख में डायट मंत्रा क्लीनिक की डायटीशियन कामिनी कुमारी से विस्तार से जानते हैं कि क्या सही से न पके हुए चावल को खाने से कैंसर हो सकता है? साथ ही ऐसे चावल को खाने से सेहत को अन्य क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं?

क्या कहती है स्टडी?

इंग्लैंड में क्वीन्स यूनिवर्सिटी बेलफास्ट में हाल ही में एक अध्ययन हुआ है। इस अध्ययन के मुताबिक, चावल की उपज को बढ़ाने के लिए मिट्टी में औद्योगिक विषाक्त पदार्थों और कीटनाशकों का इस्तेमाल किया जाता है। कई ऐसे मामले सामने आए हैं, जिसमें चावल में आर्सेनिक पाया गया है। आर्सेनिक की वजह से कई तरह की बीमारियां होने का खतरा रहता है। जैसे- कैंसर, पेट में दर्द और दस्त जैसी परेशानी हो सकती है। 

क्वीन्स के वैज्ञानिकों द्वारा चेतावनी दी गई है कि चावल को गलत तरीके से पकाकर खाने से लाखों लोग खुद को खतरे में डाल रहे हैं। उनका कहना है कि चावल को सिर्फ पैन में उबालकर खा लेने से इसमें मौजूद आर्सेनिक नष्ट नहीं होता है। दरअसल, चावल में आर्सेनिक की मात्रा काफी हाई होती है, ऐसे में सिर्फ उबालकर खाने से इसका आर्सेनिक नष्ट नहीं होता है। अगर आप इस तरह के चावल का सेवन करते हैं, तो आपको हृदय रोग, डायबिटीज, तंत्रिका तंत्र की क्षति और कैंसर सहित कई अन्य स्वास्थ्य से जुड़ी बीमारी हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - गुड़ असली है या नकली? जानें कैसे करें गुड़ में केमिकल्स के मिलावट की पहचान

क्या है आर्सेनिक? 

आर्सेनिक कई तरह के खनिजों में मौजूद होता है। यह एक केमिकल है, जिसका इस्तेमाल कई तरह के औद्योगिक कीटनाशक और दवाइयों को तैयार करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा कई ऐसे देश है, जिसके भूजल में आर्सेनिक की मात्रा काफी ज्यादा होती है। अगर आप शरीर में लंबे समय तक आर्सेनिक जाता है, तो इससे आपके शरीर में आर्सेनिक विषाक्तता हो सकती है। आर्सेनिक विषाक्तता होने से आपको कई तरह की परेशानी जैसे उल्टी, दस्त, कब्ज, पेट में दर्द, सीने में जलन और कई अन्य खतरनाक समस्याएं हो सकती हैं।

चावल में मौजूद आर्सेनिक को कैसे करें खत्म?

क्वीन्स यूनिवर्सिटी बेलफास्ट के मुताबिक, चावल में मौजूद आर्सेनिक को खत्म करने के लिए सबसे सुरक्षित तरीका यह है कि चावल को पूरी रात भिगोकर रखें। अगले दिन इसे तब तक धोएं, जब तक पानी साफ न दिखने लगे। इसके बाद चावल को उबालने के लिए 1 बर्तन में 5 भाग पानी और 1 भाग चावल डालें। अब इस चावल को अच्छी तरह से उबालें। जब चावल पक जाए, तो चावल को छानकर अलग कर लें। इस विधि से चावल को पकाने से करीब 80 फीसदी तक आर्सेनिक को खत्म किया जा सकता है। 

क्या कहती हैं डायटीशियन

दुनियाभर के कई हिस्सों में चावल का सेवन किया जाता है। मिट्टी की उत्पादन क्षमता को बढ़ाने के लिए कई तरह के केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाने लगा है। जिसका असर खाद्य पदार्थों पर भी होता है। इसके अलावा अनाजों की पॉलिशिंग के लिए भी कई तरह के केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है। इन केमिकल्स में आर्सेनिक भी शामिल है। आर्सेनिक जैसे खतरनाक विषाक्त खाद्य पदार्थों में मौजूद होने से सेहत को कई गंभीर नुकसान हो सकते हैं। डायट मंत्रा क्लीनिक की डायटीशियन कामिनी कुमारी कहना है कि 1 Kg पॉलिश्ड चावल में करीब 0.2 मिलीग्राम आर्सेनिक मौजूद हो सकता है। ऐसे में अगर आप चावल को सही से धोकर नहीं खाते हैं, तो इससे कई तरह की बीमारियां होने का खतरा रहता है। जिसमें कैंसर सबसे गंभीर बीमारी हो सकती है। 

 

इसे भी पढ़ें - टोमाटो केचअप ज्यादा खाने से सेहत को होते हैं ये 10 नुकसान, डायटीशियन से जानें कैसे बनता है केचअप

सही से न पके हुए चावल को खाने से होने वाले नुकसान

फूड पॉइज़निंग- अधपके या फिर सही से न पके हुए चावल को खाने से आपको फूड पॉइजनिंग की समस्या हो सकती है। दरअसल, चावल में आर्सेनिक के अलावा बैसिलस सिरस नामक बैक्टीरिया भी मौजूद होता है। ऐसे में अगर आप सही से चावल को उबालकर या फिर धोकर नहीं खाते हैं, तो इससे आपको फूड पॉइजनिंग हो सकती है। 

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्याएं - चावल में मौजूद आर्सेनिक की वजह से आपको पेट से जुड़ी परेशानी हो सकती है। इसके अलावा चावल में लेक्टिन नामक प्रोटीन मौजूद होता है। प्राकृतिक कीटनाशक और एंटीन्यूट्रिएंट्स के रूप में कार्य करता है। ऐसी स्थिति में अधपके या फिर सही से न धुले चावल का सेवन करने से आपको गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्याएं से जुड़ी परेशानी हो सकती है। 

ध्यान रखें कि चावल पकाते वक्त चावल को अच्छे से धोएं और सही से चावल को पकाएं। इसके अगर आपको किसी तरह की परेशानी है, तो चावल का सेवन कम मात्रा में करें। 

Read More Articles on Healthy Diet in  Hindi

Disclaimer