गुड़ असली है या नकली? जानें कैसे करें गुड़ में केमिकल्स के मिलावट की पहचान

इन दिनों मार्केट्स में केमिकल्स युक्त गुड़ काफी ज्यादा मिल रहे हैं। ऐसे में स्वस्थ शरीर के लिए मिलावटी गुड़ की पहचान करना बेहद जरूरी है।

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Sep 20, 2021
गुड़ असली है या नकली? जानें कैसे करें गुड़ में केमिकल्स के मिलावट की पहचान

भारतीय घरों में गुड़ का इस्तेमाल कई तरह के मीठे व्यंजनों को तैयार करने के लिए किया जाता है। यह  स्वास्थ्य के लिए हेल्दी माना जाता है। इसलिए अधिकतर एक्सपर्ट चीनी के विकल्प के तौर पर गुड़ खाने की सलाह देते हैं। लेकिन इन दिनों बाजार में कई तरह के गुड़ उपबल्ध हैं, जिसमें कई तरह के केमिकल्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। इन केमिकल्स युक्त गुड़ को खाने से शरीर को फायदे की जगह नुकसान होने लगता है। ऐसी स्थिति में यह जानना बेहद जरूरी है कि आप जो गुड़ खा रहे हैं, वह असली गुड़ या नकली गुड़। कहीं आपके द्वारा खाए जा रहे गुड़ में केमिकल्स की मिलावट तो नहीं है? इसी विषय की जानकारी देने के लिए हाल ही में मास्टर शेप पंकज भदौरिया ने अपने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है। 

पंकज भदौरिया ने अपने इस वीडियो में असली और नकली गुड़ पहचानने के कुछ बेहतरीन हैक्स बताए हैं। इस ट्रिक्स की मदद से आप केमिकल्स युक्त गुड़ की पहचान कर सकते हैं। बता दें कि गुड़ को साफ-सुथरा दिखाने के लिए इसमें सोडा का काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। सोडा के इस्तेमाल से गुड़ अधिक सफेद दिखने लगता है। ऐसे में जो गुड़ आपके दिखने में बहुत ही अच्छा दिख रहा हो, हो सकता है वह केमिकल्स से भरा हुआ हो। चलिए जानते हैं कैसे करें केमिकल्स युक्त गुड़ की पहचान?

पानी के इस्तेमाल से करें असली गुड़ की पहचान

केमिकल्स युक्त गुड़ स्वाद में नमकीन और कड़वा होता है। ऐसे में इसकी मिठास को बढ़ाने के लिए इसमें शुगर क्रिस्टल का इस्तेमाल किया जाता है। इस स्थिति में गुड़ की पहचान करने के लिए 1 बर्तन में पानी लें। अब इसमें गुड़ डालकर घोलें। अगर गुड़ पानी के नीचे बैठ जाता है, तो आपका गुड़ नकली हो सकता है। वहीं, गुड़ अच्छे से घुल जाए, तो गुड़ असली हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - टोमाटो केचअप ज्यादा खाने से सेहत को होते हैं ये 10 नुकसान, डायटीशियन से जानें कैसे बनता है केचअप

रंग से करें गुड़ की पहचान

रंगों से भी गुड़ की पहचान की जा सकती है। जैसे ज्यादा पीले और सफेद गुड़ केमिकल्स युक्त हो सकते है। असली गुड़ का रंग डार्क ब्राउन या फिर काला होता है। गुड़ का रंग जितना गहरा होता है, इसके शुद्ध होने की संभावना उतनी अधिक होती है। ऐसे में गुड़ खरीदते वक्त गुड़ के रंगों पर विशेष ध्यान दें। 

वजन से किया जा सकता गुड़ की पहचान

नकली गुड़ में कैल्शियम कार्बोनेट और सोडियम बाइकार्बोनेट की मिलावट की जाती है। दरअसल, गुड़ के लुक को अच्छा करने के लिए कैल्शियम कार्बोनेट से पॉलिश की जाती है। इसके कारण गुड़ का वजन भारी हो जाता है। यानि अगर गुड़ ज्यादा भारी है, तो यह नकली हो सकता है। मिलावटी गुड़ के सेवन से स्वास्थ्य को कई नुकसान हो सकते हैं। इसलिए गुड़ खरीदते वक्त इन बातों का ध्यान जरूर रखें। 

इसे भी पढ़ें - गुड़ या ब्राउन शुगर: सेहत के लिए इनमें से क्या है ज्यादा हेल्दी, डायटीशियन से जानें इन दोनों के फायदे-नुकसान

अलसी नकली गुड़ पहचानने के अन्य तरीके-

  • आपका गुड़ असली है या नकली यह जनाने के लिए गुड़ को अच्छे से देखें। इसपर क्रिस्टल की जांच करें। अगर गुड़ के ऊपर किसी भी तरह के क्रिस्टल की मौजूदगी है, तो यह नकली गुड़ होने का संकेत हो सकता है। 
  • गुड़ स्वाद में अगर कड़वा लगे, तो समझ जाएं कि इसमें कारमेलिजेशन की प्रक्रिया से गुजारा गया है। 
  • गुड़ खरीदते समय उसकी सख्ती पर ध्यान दें। गुड़ जितना सख्त होगा, उसके शुद्धता की गारंटी उतनी अधिक होती है।

ध्यान रखें कि नकली गुड़ में कई तरह के केमिकल्स की मिलावट होती है, जो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। केमिकल्स युक्त गुड़ खाने से वजन बढ़ने से लेकर कैंसर जैसी बीमारियां होने का खतरा होता है। ऐसी स्थिति में बाजार में गुड़ खरीदते वक्त इन जरूरी बातों का ध्यान जरूर रखें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer