आंखों का ऑपरेशन कराने के बाद जरूरी हैं ये 6 सावधानियां, डॉक्टर से जानें क्या करें और क्या नहीं

आंख का ऑपरेशन कराने के बाद लोगों को कुछ खास सावधानियों को बरतना चाहिए। आई स्पेशलिस्ट से जानें क्या करें और क्या नहीं, जानने के लिए पढ़ें आर्टिकल।

Satish Singh
Written by: Satish SinghPublished at: Sep 27, 2021
आंखों का ऑपरेशन कराने के बाद जरूरी हैं ये 6 सावधानियां, डॉक्टर से जानें क्या करें और क्या नहीं

वैसे हर तरह के ऑपरेशन के बाद कई तरह की सावधानियां बरतनी होती हैं। लेकिन आंख के ऑपरेशन या मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद सबसे ज्यादा सावधानी बरतनी चाहिए, क्योंकि आंख  शरीर का बहुत ही नाजुक अंग होता है। जब आंख का पारदर्शी लेंस धुंधला हो जाता है या इंसान को कम दिखना शुरू होता है तब लोग आंख का ऑपरेशन कराते हैं। इसे मोतियाबिंद का ऑपरेशन कहते हैं। बढ़ते उम्र के साथ यह समस्या आती है। इस आर्टिकल के जरिए जमशेदपुर साकची के आई स्पेशलिस्ट डॉ. अमजद खान से जानेंगे आंख के ऑपरेशन के बाद कौन-कौन सी पांच सावधानियां बरतनी चाहिए। जानने के लिए पढ़ें ये आर्टिकल।

ऑपरेशन के बाद खान-पान हेल्दी रखें

डॉक्टर बताते हैं कि आंखों के ऑपरेशन के बाद हेल्दी और प्रोटीन-विटामिन युक्त भोजन करें। विटामिन सी और ई वाले पोषक तत्वों को विशेषकर दिन में बार तीन बार सेवन करें। अंडा, मांस और मछली खाएं। इसमें पाए जाने वाले विटामिन मोतियाबिंद में बचाव के लिए काफी ज्यादा मददगार होते हैं। स्मोकिंग से सिर्फ कैंसर जैसी बीमारी नहीं होती है। स्मोकिंग आंखों की कोशिकाओं को खराब करता है। इसलिए ऑपरेशन के बाद हमें स्मोकिंग नहीं करनी चाहिए।

Eye Safety

क्यों पड़ती है ऑपरेशन की जरूरत

डॉक्टर बताते हैं कि मोतियाबिंद जैसी बीमारी में आपके आंख के लेंस खराब हो जाते हैं। इससे धुंधला दिखाई देता है, जिससे दैनिक जरूरी कार्य को भी करने में परेशानी होती है। जैसे पढ़ने, ड्राइव करने, टीवी देखने में परेशानी होती है। तब डॉक्टर मोतियाबिंद के ऑपरेशन की सलाह देते हैं। इस ऑपरेशन के बाद कुछ घंटे के अंदर में सब कुछ साफ दिखाई देने लगता है। वहीं कुछ मामलों में कई दिनों तक ऑपरेशन के बाद भी साफ नहीं दिखाई देता है।

इन सावधानियों को बरतना चाहिए

No Bathing

1. हमेशा सिर के नीचे पानी डालकर नहाएं, आई मेकअप नहीं करें और नशे का त्याग करें

डॉक्टर बताते हैं कि नहाते समय हमेशा ध्यान रखें कि आंखों में पानी या साबुन न जाएं। इसलिए जब ही नहाए आंखों को बंद करके नहाएं या सिर के नीचे में पानी डालकर नहाएं। महिलाएं अपनी बाल को बांध के नहाए जिससे वह आंखों पर ना जाएं। किसी तरह का आई मेकअप नहीं करें अगर करनी है तो एक बार डॉक्टर से सलाह लें। आंख के ऑपरेशन के बाद नशे का सेवन नहीं करें। आंखों के ऑपरेशन के बाद बाइक या कार ड्राइव ना करें। हमेशा मजबूरन करनी पड़ रही है तो कार चलाएं बाइक बिल्कुल भी ना चलाएं क्योंकि इससे धूल कण इत्यादि आपके आंखों में जा सकती है।

2. गर्म पानी से नहीं नहाएं, स्विमिंग से परहेज करें

डॉक्टर बताते हैं कि ऑपरेशन के बाद एक माह तक स्वीमिंग से परहेज करें। हॉट वॉटर का भी इस्तेमाल नहीं करें। अगर हम ऑपरेशन के बाद स्वीमिंग करेंगे तो पानी में पाए जाने वाले कीटाणु हमारे आंखों में चले जाएंगे जो नुकसान पहुंचाएंगे। अगर आपको ऑपरेशन के एक सप्ताह बाद भी मोतियाबिंद का लक्षण महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

इसे भी पढ़ें : सूरज की तेज रोशनी के कारण आंखों में हो सकती हैं ये 5 बीमारियां, जानें बचाव के टिप्स

3. एक्सरसाइज न करें

एक्सपर्ट बताते हैं कि रूटीन कामों को करने से बचें। ऑपरेशन के बाद कुछ दिन तक ऑफिस नहीं जाएं। घर में हमेशा डॉक्टर द्वारा दिया काला चश्मा लगाकर बैठें। कुछ दिन तक जिम जाना और एक्सरसाइज करना बंद कर दें। डॉक्टर के सलाह के बाद ही एक्सरसाइज करना शुरू करें।

No Excercise

4. वॉक कम करें, उल्टी नहीं करें

ऑपरेशन के बाद कुछ दिन तक हवा के संपर्क में न आएं और घर में ही रहें। आंखों के ऑपरेशन के बाद आराम से बैठे रहें, ज्यादा टहलें नहीं क्योंकि इससे दरवाजा या अन्य चीजों में टकराकर आपके आंख में चोट लग सकती है। जो ऑपरेशन के बाद खतरनाक साबित हो सकता है। सर्जरी के बाद उल्टी और छीकें नहीं। अगर ऐसी समस्या आ रही है तो इसकी दवा खाकर इसे बंद करवाएं।

5. समय-समय पर आई ड्राप डालें, जिससे आंखों में खुजली न हो

डॉक्टर बताते हैं कि आंखों के ऑपरेशन के बाद आंखों में खुजली होती है। गलती से भी आंख को खुजली होने पर मलें नहीं। अगर खुजली हो रही है तो आंखों में आई ड्राप डालें। इसके लिए डॉक्टर से दिशा-निर्देश लेते रहें। आई ड्राप डालने पर ही मोतियाबिंद ऑपरेशन की सफलता निर्भर करती है।

इसे भी पढ़ें : आंख की बीमारी ‘केराटोकोनस’ क्या है? डॉक्टर से जानें क्या होते हैं इसके शुरुआती लक्षण

6. रात को भी काला चश्मा पहन कर रखें

ऑपरेशन के बाद डॉक्टर आंखों के लिए स्पेशल काला चश्मा देते हैं। जिसे हमें हमेशा पहने रखना चाहिए। यह आंख को धूल के कणों और सूरज की किरणों से प्रोटेक्ट करता है। आप रात को भी चश्मा लगाकर ही सोएं, जिससे आपके आंख में कोई चीज जाए न। अगर ऑपरेशन के बाद आंखों में खुजली हो रही है और सिर दर्द कर रहा है तो इससे घबराना नहीं है। आप सीधे डॉक्टर से संपर्क करें। काला चश्मा पहनने से आंखों में खुजली और जलन जैसी समस्या नहीं होती है।

डॉक्टरी सलाह है बेहद जरूरी

आर्टिकल में दी जानकारी सिर्फ परामर्श के लिए। अगर आपने आंखों का ऑपरेशन कराया है तो इन परामर्श को मानें और डॉक्टर से सलाह लें। क्योंकि ये संभव है कि ऑपरेशन के बाद यदि आपने अपने आंखों की उचि देखभाल न की तो समस्या और विकट हो सकती है। 

Read More Articles On Other Diseases

Disclaimer