कोविड महामारी के दौरान डायबिटीज़ के मरीज किस प्रकार रखें अपना ख्याल? जानें डायबिटीज विशेषज्ञ स्वाती बाथवाल से

आज हमारी एक्सपर्ट डॉक्टर स्वाती बाथवाल आपको बताएंगी कि कोविड के दौरान डायबिटीज के मरीज किस प्रकार खुद का ध्यान रख सकते हैं? 

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Nov 10, 2020
कोविड महामारी के दौरान डायबिटीज़ के मरीज किस प्रकार रखें अपना ख्याल? जानें डायबिटीज विशेषज्ञ स्वाती बाथवाल से

महामारी ने पूरी दुनिया में आतंक मतचा रखा है। केस थमने का नाम नहीम ले रहे हैं। ऐसे अब दीवाली का त्योहार, लोग इस कशमकश में है कि खुशी मनाएं या घर पर सुरक्षित रहें। वहीं डायबटीज के मरीजों के लिए त्योहार औऱ इस महामारी के माहौल में खुद को सुरक्षित रखना और भी चैलेंज भरा टास्क है।  ध्यान दें कि वर्ल्ड डायबिटीज डे पर हमने एक सीरीज चलाई है जो 9 से 13 नवंबर तक हर रोज शाम 4:00 बजे फेसबुक लाइव और इंस्टाग्राम के माध्यम से आप लोगों तक पहुंचाई जाएगी। इस सीरीज में हमारी मुख्य अतिथि और एक्सपर्ट ऑस्ट्रेलियन डायबिटीज एजुकेटर एसोसिएशन ऑस्ट्रेलिया द्वारा मान्यता प्राप्त डायबिटीज विशेषज्ञ स्वाती बाथवाल आप लोगों का मार्गदर्शन करेंगी। हम बात कर रहे हैं आज के विषय की। आज हमार एक्सपर्ट ने बताया कि कोविड के दौरान डायबिटीज के मरीज किस प्रकार खुद का ध्यान रख सकते हैं पढ़ते हैं आगे...

कोविड-19 के मरीजों को किस तरीके से नुकसान पहुंचा सकता है?

डायबिटीज लोगों की इम्युनिटी को भी कमजोर करता है अगर हम 60 से 70 साल तक के लोगों की बात करें तो इन लोगों की इम्युनिटी पहले से ही कमजोर होती है और जो डायबिटीज का शिकार होते हैं उनपर कोविड-19 महामारी बहुत नकारात्मक प्रभाव डालती है।

बता दें कि महामारी के इंफेक्शन खतरा डायबिटीज के लोगों को ज्यादा हो सकता है। वहीं अगर किसी डायबिटीज पीड़ित को कोविड-19 है तो उस परिस्थिति को मैनेज करना बहुत मुश्किल हो जाता है। यही कारण है कि टाइप टू डायबिटीज मरीजों को सतर्कता बरतने के लिए कहा गया है। साथ ही ये भी कहा गया है कि वह खुद घर पर रखें और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करें।

इंसुलिन का उपयोग

अगर आप एक्सरसाइज करेंगे तो आपका इंसुलिन अच्छे से उपयोग में आएगा। एक्सरसाइज के अलावा अगर आप योगा कर सकते हैं, आप अपने घर का काम कर सकते हैं, डांस कर सकते हैं, तब भी आपका इंसुलिन यूज में आएगा। ध्यान दें कि ग्लूकोस के लिए इंसुलिन चाहिए। क्योंकि इसी के माध्यम से शुगर ब्लड में जाता है। और हमें एनर्जी मिलती है। यही कारण होता है कि इंसुलिन की अच्छे से उपयोग में ना आने से डायबिटीज से संबंधित बीमारियां हो जाती हैं।

इसे भी पढ़ें- डायबिटीज से बचाव के लिए बच्चों को कैसे करें जागरुक? जानिए क्या है आसान तरीके

मॉर्निग ग्लूकोज

बता दें कि आज कल की लाइफस्टाइल के चलते लोगों को एंग्जायटी की समस्या हो रही है, लोगों को तनाव हो रहा है, नींद ना पूरी होने के कारण अनेक बीमारियां बढ़ रही हैं। इससे अलग हम रात को अच्छे से नहीं सो पाते हैं तो हमारा मॉर्निंग शुगर, जिससे मॉर्निंग ग्लूकोस भी कहा जाता है वह बढ़ने लगता है। ऐसे में सोना अच्छी नींद लेना बहुत ज्यादा जरूरी है।

इसे भी पढ़ें- आपके खाने में कितनी है शुगर की मात्रा? जानें डायबिटीज विशेषज्ञ स्वाती बाथवाल से

  • आप अश्वगंधा हंसी का सेवन करके खुद को तनाव मुक्त रख सकते हैं। इससे लेने का तरीका है सुबह 500 मिली और शाम को 500 मिली। इसके अलावा आप दूध में जायफल डाल कर लेंगे तब भी आप रिलैक्स महसूस करेंगे।
  • योग को भी अपनी दिनचर्या में जोड़ें।
  • धूप से मिलने वाला विटामिन डी सेहत के लिए बहुत अच्छा है। इससे शुगर दूर होती है। और अगर आप ऐसी जगह पर है जहां प्रदूषण ज्यादा है तो आप विटामिन डी के लिए सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं।
  • अपने घर पर ही 100 कदम जरूर चलें।
  • अगर आप पूरे दिन स्क्रीन के आगे बैठे रहते हैं तो जरूरी है ब्रेक लेना।
  • डायबिटीज के मरीज को 150 मिनट एक्सरसाइज हर हफ्ते करनी जरूरी होती है। और आप चाहे तो इससे ज्यादा भी एक्सरसाइज कर सकते हैं। इनकी डायबिटीज के मरीजों का मसल लॉस भी होता है इसीलिए एक्सरसाइज का चुनाव सोच समझ कर करें।
  • लेकिन जो लोग इंसुलिन लेते हैं वह एक्साइज करने से पहले एक्सपर्ट की राय लें। चूंकि हो सकता है ऐसा करने से उनके शुगर में ड्रॉप आ जाए और जिन लोगों को कोई बड़ी समस्या नहीं है या उन्हें दिल से संबंधित कोई परेशानी नहीं है तो एक्सरसाइज घर पर बिना किसी सलाह के कर सकते हैं। इसके अलावा आप डांस, योग या होम बेस्ड एक्टिविटीज भी अपनी दिनचर्या में जोड़ सकते हैं। 
  • मूवमेंट इज द की टू कंट्रोल योर शुगर इस वाक्यांश को ध्यान में रखकर घर खुद को मूव करवाएं, इससे आपकी शुगर कंट्रोल में रहेगी। 

Read More Articles on Diabetes in Hindi

Disclaimer