सोंठ के सेवन से शरीर को मिलते हैं ये 9 फायदे, जानें इसके नुकसान भी

सोंठ के सेेवन से सेहत को तंदुरुस्त बनाया जा सकता है। इस लेख के माध्यम से जानें इसके फायदे और इसकी अधिकता से होने वाले नुकसान

Garima Garg
Written by: Garima GargUpdated at: Jan 06, 2021 22:42 IST
सोंठ के सेवन से शरीर को मिलते हैं ये 9 फायदे, जानें इसके नुकसान भी

जिंजर पाउडर को सोंठ भी कहा जाता है। इसका पाउडर ताजा अदरक को सुखाकर बनता है। अदरक हर घर में आती है। ऐसे में अदरक के प्रयोग से हर समस्या को दूर किया जा सकता है। आज हम बात अदरक के पाउडर की कर रहे हैं। अदरक का पाउडर दिखने में सफेद और स्वाग में तीखा होता है। बता दें कि इसके अंदर एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इन्फ्लेमेटरी, beta-carotene आदि तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। ऐसे में इसके सेवन से अनेक समस्याओं को दूर किया जा सकता है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि सोंठ के फायदे क्या-क्या है? और इसके अधिक सेवन से सेहत को कैसे नुकसान पहुंच सकता है? पढ़ते हैं आगे... 

ginger powder

सोंठ के फायदे (Ginger Powder benefits )

सिर दर्द को रखे दूर

अगर आपको माइग्रेन, सिर दर्द की परेशानी है तो बता दें कि सोंठ के अंदर पाए जाने वाले सूजन को कम करने वाले यौगिक इसमें राहत पहुंचा सकते हैं। बता दें कि जिन लोगों को सिर दर्द माइग्रेन रहता है उनके सिर में छोटे कोशिकाओं में सूजन आ जाती है इसलिए तनाव पैदा शुरू हो जाता है। ऐसे में यह पाउडर तनाव को कम कर सकता है।

इम्यूनिटी को बढ़ाएं

बता दें कि पाउडर के अंदर कैप्साइसिन और करक्यूमिन जैसे एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं। ऐसे में इसके सेवन से इम्यूनिटी सिस्टम पर दबाव कम पड़ता है और इम्यूनिटी प्रणाली मजबूत होती है ऐसे में आप आज ही इसका सेवन शुरू करें। 

इसके सेवन से वजन घटाएं

अदरक के पाउडर से वजन को कम किया जा सकता है। ऐसे में आप गर्म पानी में आधा चम्मच पाउडर को मिलाएं और एक काढ़ा तैयार करें। इससे ना केवल चयापचय बेहतर होगा बल्कि शरीर से फैट भी दूर रहेगा। ऐसे में हम कह सकते हैं कि वजन घटाने में जिंजर पाउडर की मदद ले सकते हैं। 

सूजन का है इलाज

शरीर में सूजन किसी भी समस्या के कारण आ सकती है ऐसे में इस अवसर को दूर करने में अदरक का पाउडर बेहद मददगार है। इसके अंदर गठिया को कम करने के गुण भी पाए जाते हैं ऐसे में आप दो-तीन चम्मच पाउडर को पानी में उबालें और इसका सेवन करें। ऐसा करने से घुटने का दर्द, जोड़ों में आई सूजन आदि दूर हो सकते हैं। आप इसका पेस्ट भी जोड़ों में लगा सकते हैं।

चेस्ट पेन हो जाए बंद

अगर आपकी छाती में दर्द है तो सूखी अदरक का प्रयोग किया जा सकता है। इसके लिए आप नारियल पानी अदरक का पाउडर और चीनी को मिलाएं और इसका सेवन करें। ऐसा करने से छाती का दर्द दूर हो जाता है।

इसे भी पढ़ें-देसी स्टाइल में ओट्स से बनाएं ये 5 इंडियन डिशेज, स्वाद और सेहत दोनों मिलेंगे एक साथ

जुकाम में दिलाए राहत

जिंजर का पाउडर आसानी से रसोई में पाया जा सकता है। ऐसे में अगर आप सर्दी, फ्लू, जुकाम आदि से परेशान हैं तो आप प्रतिदिन अदरक के पाउडर का सेवन चाय में कर सकते हैं। आप लॉन्ग, जिंजर पाउडर और नमक का पेस्ट भी बना सकते हैं और आप दिन में 2 बार सेवन कर सकते हैं। ऐसा करने से सर्दी जुकाम दूर हो जाते हैं।

मेटाबॉलिज्म है अच्छा

बता दें कि जिंजर पाउडर में थर्मोजेनिक एजेंट पाया जाता है जो वसा को जलाने और मोटापे को दूर करने में बेहद मददगार है ऐसे में चयापचय दर को अगर बढ़ाना चाहते हैं तो जिंजर पाउडर का सेवन करें। यह शरीर में जमा फैट को बाहर निकालता है और कोलेस्ट्रॉल ट्राइग्लिसराइड स्तर को कम करने में भी मददगार है।

मधुमेह का इलाज है सोंठ

ब्लड में शुगर की समस्या आम होती नजर आ रही है। ऐसे में लेकिन अगर आप ब्लड में शुगर को नियंत्रित रखना चाहते हैं तो इसका प्राकृतिक तरीका सोंठ है। आप नमक के साथ 2 ग्राम अदरक पाउडर का सेवन करें। आप इसका सेवन बिना पानी के साथ या पानी के साथ भी कर सकते हैं। अगर आप खाली पेट करते हैं तो इसका असर जल्दी दिखने लगेगा।

इसे भी पढ़ें-सर्दियों के दौरान घर पर इन 4 हेल्दी डेसर्ट को अपनाएं, आहार विशेषज्ञ स्वाती बाथवाल से जानें बनाने का तरीका

सोंठ से होने वाले नुकसान (Ginger powder side effects)

1- अगर सोंठ का अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो यह दिल की सेहत के लिए अच्छा नहीं होता। साथ ही ये पेट में जलन, मुंह में जलन और दस्त आदि समस्याओं को पैदा कर सकता है।

2- सोंठ का अधिक सेवन दिल की धड़कन को बढ़ा देता है और इसे एलर्जी हो सकती है।

3- बता दें कि ऐसा माना जाता है कि अदरक के अंदर ब्लड को पतला करने के गुण होते हैं। ऐसे में इसका अधिक सेवन बिल्डिंग डिसऑर्डर का कारण बन सकता है।

4- पथरी से परेशान है तो आपको अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसके अंदर रक्त में शुगर को कम करने के गुण मौजूद होते हैं इसीलिए इसका सेवन हाइपोग्लाइसीमिया का कारण बन सकता है।

Read More Articles on healthy diet in hindi

Disclaimer