मस्तिष्क से लेकर वजन घटाने तक फायदेमंद है तिलापिया मछली (Tilapia Fish) का सेवन, एक्सपर्ट से जानें इसके 7 फायदे

अगर आप भी पूर्ण रूप से खुद को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो एक्सपर्ट से जानिए आपके लिए तिलापिया मछली कैसे है फायदेमंद।

Vishal Singh
स्वस्थ आहारWritten by: Vishal SinghPublished at: Jan 22, 2021
मस्तिष्क से लेकर वजन घटाने तक फायदेमंद है तिलापिया मछली (Tilapia Fish) का सेवन, एक्सपर्ट से जानें इसके 7 फायदे

मछली स्वास्थ्य के लिए कितनी फायदेमंद होती है ये तो आप में से ज्यादातर लोग जानते ही होंगे, मछली आपको कई गंभीर बीमारियों से बचाने के साथ आपको पर्याप्त पोषण देने और लंबे समय तक स्वस्थ रखने का काम करती है। ऐसे ही तिलापिया मछली (Tilapia Fish) है जो मछलियों में सबसे ज्यादा स्वस्थ और पोषण से भरपूर होती है, इतना ही नहीं ये आपको कई बीमारियों से भी बचाने का काम करती है। हालांकि, कई लोगों को तिलापिया मछली के बारे में जानकारी नहीं है न ही इसके स्वास्थ्य फायदों की जानकारी है। लेकिन आपको इसमें घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम आपको इस लेख के जरिए ये बताएंगे कि तिलापिया मछली कैसे आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है और इसका सेवन कैसे आपके लिए सुरक्षित है। इसके लिए हमने बात की हेल्दीफाई सॉल्यूशन के संस्थापक, होलिस्टिक एवं क्लीनिकल आहार विशेषज्ञ डॉक्टर शीनू संजीव से। 

Tilapia Fish

तिलापिया मछली के स्वास्थ्य फायदे (Health Benefits Of Tilapia Fish In Hindi)

1. मानसिक स्वास्थ्य के लिए है अच्छा

अक्सर आप कई ऐसे खाद्य पदार्थों की तलाश करते रहते हैं जो आपके मस्तिष्क को स्वस्थ रखें और आपके मानसिक कार्यों को बढ़ावा दें। ऐसे ही तिलापिया मछली है जिसका सेवन कर आप अपने मानसिक स्वास्थ्य को लंबे समय तक स्वस्थ और एक्टिव रख सकते हैं। एक्सपर्ट और डॉक्टर शीनू संजीव बताती हैं कि  इस मछली में भारी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो आपके मानसिक कार्यों को बढ़ावा देने का काम करता है। इसके साथ ही ये आपके रक्त प्रवाह में ऑक्सीजन के स्तर को भी बढ़ाता है जो आपके मस्तिष्क पर सीधा सकारात्मक प्रभाव डालता है। इसी वजह से एक्सपर्ट की सलाह है कि अगर आप अपने मानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ और एक्टिव बनाए रखना चाहते हैं तो आप अपनी डाइट में तिलापिया मछली को शामिल जरूर करें। 

2. हृदय स्वास्थ्य रहता है सुरक्षित

हृदय रोग आजकल तेजी से लोगों के बीच बढ़ता जा रहा है, जिसके कारण हजारों लोग हर साल दिल की बीमारी से ग्रसित होते हैं। ऐसे में एक्सपर्ट लोगों को सलाह देते हैं कि वो अपने खानपान को इस तरीके से रखें जो हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हों। इस कड़ी में आपके पास भी एक ऐसा विकल्प है जिसको आप आसानी से अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं और अपने हृदय स्वास्थ्य को बेहतर रख सकते हैं। जी हां, तिलापिया मछली आपके हृदय स्वास्थ्य को लंबे समय तक स्वस्थ और बीमारी से दूर रख सकती है। एक्सपर्ट की मानें तो तिलापिया में ओमेगा-3 एस उच्च मात्रा में होता है जिसकी मदद से रक्तचाप को कम करने के साथ स्ट्रोक जैसी समस्या को कम किया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज के मरीजों के लिए कितना फायदेमंद है कॉर्नफ्लैक्स? एक्सपर्ट से जानिए सही जानकारी

3. हड्डियों को बनाता है मजबूत

हड्डियों को चोट या फ्रैक्चर से बचाने के लिए जरूरी है कि आप अपनी डाइट में कैल्शियम औ फास्फोरस जैसे तत्वों को शामिल करें जो आपकी हड्डियों को मजबूत बना सकें। ऐसे ही तिलापिया मछली है जिसका नियमित रूप से सेवन करने पर आप अपनी हड्डियों को आसानी से मजबूत बना सकते हैं साथ ही इससे बच्चों की हड्डियों में बेहतर विकास होता है। इसके अलावा तिलापिया मछली आपके सेल्स को पुनर्जीवित करने में सहायक होती है। तिलापिया का सेवन हड्डियों के लिए बच्चे से लेकर बड़े तक आसानी से किया जा सकता है। 

Tilapia Fish

4. वजन घटाने में है मददगार

वजन कम करना भी आजकल एक समस्या बन गई है, जिसके लिए ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं और अपने वजन को कम करने के लिए अपनी डाइट में तरह-तरह के बदलाव करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं तिलापिया मछली भी आपके वजन को कम करने में काफी मददगार होती है। जी हां, आप अपनी डाइट में तिलापिया मछली को शामिल कर खुद को दुबला कर सकते हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक, तिलापिया मछली में प्रोटीन की मात्रा काफी होती है और इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है जिसकी मदद से आसानी से कोई भी तेजी के साथ वजन घटा सकता है। इसके साथ ही जो लोग अक्सर वजन कम करने के लिए अनजाने में अन्य पोषण का त्याग करते हैं उन लोगों के लिए तिलापिया मछली की मदद से पर्याप्त पोषण मिल सकता है। 

5. थायराइड के मरीजों के लिए है फायदेमंद

थायराइड के मरीजों को अपनी डाइट में किसी भी चीज को शामिल करने से पहले एक्सपर्ट की राय जरूरी होती है, जिससे कि वो अपनी डाइट में किसी गलत चीजों को न शामिल करें। लेकिन तिलापिय मछली को आप आसानी से अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। जी हां, एक्सपर्ट का कहना है कि तिलापिया में सेलेनियम होता है जो आपके थायराइड ग्रंथि के लिए बहुत जरूरी होता है और ये आपके हार्मोनल कार्यों को भी बढ़ावा देने का काम करता है। इसके अलावा तिलापिया मछली का नियमित रूप से सेवन करने पर आप अपने चयापचय को आसानी से बढ़ावा दे सकते हैं जिसकी मदद से आपका वजन भी कम हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें: वजन कम करने में बहुत फायदेमंद है 'इडली का सेवन', एक्सपर्ट से जानिए इसकी खासियत

6. कैंसर के खतरे को करता है कम

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है जिसके कारण हर साल हजारों लोगों की मौत होती है, इससे बचाव के लिए आपको शुरुआत से ही अपनी डाइट में उन चीजों को शामिल जरूर करना चाहिए जो आपको कैंसर के खतरे से बचाते हों। ऐसे ही तिलापिया मछली है जिसकी मदद से आप कैंसरर जैसी जानलेवा बीमारी से खुद को बचा सकते हैं। एक्सपर्ट और डॉक्टर शीनू संजीव बताती हैं कि तिलापिया मछली में ऐसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो आपको कैंसर से लड़ने में और दिल की बीमारी को दूर करने में मदद करते हैं। इसके अलावा जो लोग कैंसर से पीड़ित है उन लोगों को जल्द स्वस्थ करने में तिलापिया मछली काफी असरदार होती है। 

7. त्वचा के लिए भी है फायदेमंद

तिलापिया में भारी मात्रा में विटामिन ई तत्व पाए जाते हैं जो आपकी त्वचा को लंबे समय तक स्वस्थ रखने के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। तिलापिया में मौजूद तत्व आपकी त्वचा में आने वाली सूजन को कम करने के साथ आपकी त्वचा से तनाव को कम करता है। इतना ही नहीं ये आपकी त्वचा से नष्ट कणों को बाहर करने के साथ आपकी त्वचा की रंगत को सुधारने का काम करती है। नियमित रूप से तिलापिया का सेवन करने से आप खुद की त्वचा को लंबे समय तक स्वस्थ, चमकदार और त्वचा संबंधित विकार होने के खतरे से बाहर रख सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ये मछली आपकी त्वचा की कोशिकाओं को हमेशा सक्रिय करने का काम करती है। 

जरूरी बातें

एक्सपर्ट और डॉक्टर शीनू संजीव का कहना है कि तिलापिया मछली वैसे तो स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है और आप इसका सेवन आसानी से कर सकते हैं, लेकिन जिन लोगों को किसी न किसी बीमारी से गुजरना पड़ रहा है उन लोगों को इसके सेवन की मात्रा को जानना जरूरी है। इसके लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर पता करें कि आपके लिए तिलापिया मछली का सेवन कितना सही है। 

Read more on Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer