Doctor Verified

क्‍या प्रेग्नेंसी में डिप्रेशन की दवाएं लेना सुरक्षित है? डॉक्‍टर से जानें जरूरी बातें

प्रेगनेंसी में डिप्रेशन की दवा का सेवन करने से पहले आपको इससे जुड़ी जानकारी को समझ लेना चाह‍िए 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Mar 10, 2022Updated at: Mar 10, 2022
क्‍या प्रेग्नेंसी में डिप्रेशन की दवाएं लेना सुरक्षित है? डॉक्‍टर से जानें जरूरी बातें

आज के समय में ड‍िप्रेशन के केस बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में लोग जल्‍दी ड‍िप्रेशन (depression) के श‍िकार हो जाते हैं। वहीं बात प्रेगनेंट मह‍िलाओं की करें तो उन्‍हें होने वाले बच्‍चे की च‍िंता सताती है या वो इस दौरान जल्‍दी तनाव में आ जाती हैं, कुछ मह‍िलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान गंभीर ड‍िप्रेशन हो जाता है ज‍िसे कम करने के ल‍िए उन्‍हें एंटीडिप्रेसेंट दवा खाने की सलाह दी जाती है पर क्‍या ये उनकी सेहत के ल‍िए सेफ हैं या नहीं  इसके बारे में हम आगे जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के झलकारीबाई अस्‍पताल की गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ दीपा शर्मा से बात की।

pills and pregnancy  

image source: spectrum

प्रेग्नेंसी में एंटीडिप्रेसेंट दवा का सेवन सेफ है? (Antidepressant pills are safe during pregnancy or not)

एंटीडिप्रेसेंट दूसरी दवाओं के साथ रिएक्ट करती हैं इसलिए आपको दवाओं पर चेक रखना चाह‍िए। कुछ खास दवा जैसे सेरोटोन‍िन, नॉरपेनेफ्रिन और ब्यूप्रोपाईन का सेवन प्रेगनेंट मह‍िलाओं के ल‍िए सुरक्ष‍ित माना जाता है। अगर आप स्‍मोक‍िंंग करती हैं तो ड‍िप्रेशन की दवा उसके साथ र‍िएक्‍ट कर सकती है। प्रेगनेंट मह‍िलाओं में धूम्रपान का सेवन अवॉइड करना चाह‍िए। आपको तनाव महसूस होने पर डॉक्‍टर से संपर्क करना चाह‍िए, प्रेग्नेंसी के दौरान ड‍िप्रेशन आम समस्‍या है ज‍िसका इलाज थेरेपी के जर‍िए भी संभव है। इस आधार पर कहा जा सकता है क‍ि ड‍िप्रेशन होने पर डॉक्‍टर की सलाह पर ड‍िप्रेशन की दवा का सेवन सेफ है पर ये मरीज की कंडीशन पर न‍िर्भर करता है।  

इसे भी पढ़ें- मेनोपॉज से जुड़े 5 पॉपुलर मिथक (भ्रामक बातें) और उनकी सच्चाई

क‍िन मह‍िलाओं को प्रेग्नेंसी में एंटीडिप्रेसेंट दवा खाने की सलाह म‍िलती है?

  • ज‍िन मह‍िलाओं को मानस‍िक तनाव के कारण ज्‍यादा कमजोरी या थकान महसूस हो। 
  • प्रीनेटल ड‍िप्रेशन (depression during pregnancy) के कारण गर्भवती मह‍िला को एंटीडिप्रेसेंट प‍िल्‍स (Antidepressant pills) खाने की सलाह दी जा सकती है। 
  • अगर मह‍िला ब‍िना बात रो देती है तो ये अच्‍छा संकेत नहीं है, ऐसे में दवा की जरूरत पड़ सकती है। 
  • अन‍िद्रा की समस्‍या होने पर भी डॉक्‍टर एंटीडिप्रेसेंट दवा का सेवन करने की सलाह देते हैं। 
  • अगर मह‍िला न‍िराश या तनाव महसूस करे तो डॉक्‍टर उसे तनाव कम करने क दवा दे सकते हैं। 
  • अगर आप प्रेगनेंट हैं और आपको तनाव महसूस हो रहा हो तो आपको डॉक्‍टर दवा दे सकते हैं।   

कहीं आप प्रीनेटल ड‍िप्रेशन का श‍िकार तो नहीं? (Prenatal depression in hindi)

pills and pregnancy in hindi

image source: https://media.npr.org/ 

प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं ज‍िसका असर मूड पर पड़ता है और अगर आपको तनाव के गंभीर लक्षण नजर आ रहे हैं तो आपको ब‍िना देरी क‍िए डॉक्‍टर के पास जाना चाह‍िए क्‍योंक‍ि ज्‍यादा तनाव का कारण प्रीनेटल ड‍िप्रेशन भी हो सकता है ज‍िसका इलाज समय पर जरूरी है। प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़ते वजन के कारण या ड‍िलीवरी के दौरान होने वाले दर्द के बारे में सोचकर कई मह‍िलाओं को ड‍िप्रेशन का अहसास होता है ज‍िसे जल्‍दी से जल्‍दी दूर करना जरूरी है।  

इसे भी पढ़ें- महिलाएं कैसे रखें अपनी मेंटल हेल्थ का ख्याल? कैसे पहचानें आपको स्ट्रेस या डिप्रेशन है? जानें डॉक्टर से

प्रेग्नेंसी में एंटीडिप्रेसेंट दवा का ज्‍यादा करने के नुकसान (Side effects of antidepressant pills during pregnancy)

प्रेग्नेंसी के दौरान एंटीडिप्रेसेंट दवा (Antidepressant pills during pregnancy) का ज्‍यादा सेवन करने से थायराइड, माइग्रेन, इंफर्ट‍िल‍िटी आद‍ि समस्‍याएं बढ़ सकती है इसल‍िए आपको डॉक्‍टर की सलाह के ब‍िना इनका सेवन पूरी तरह से अवॉइड करना चाह‍िए। अगर आप डॉक्‍टर की सलाह के बगैर ज्‍यादा दवा का सेवन कर लेंगे तो आपको हाई बीपी की समस्‍या भी हो सकती है। एंटीडिप्रेसेंट दवा का सेवन ज्‍यादा करने से मां और बच्‍चे दोनों के स्‍वास्‍थ्‍य पर बुरा असर पड़ सकता है।   

प्रेग्नेंसी में ड‍िप्रेशन से कैसे बचें? (How to prevent depression in pregnancy)

  • प्रेग्नेंसी में ड‍िप्रेशन से से बचने के ल‍िए ये ट‍िप्‍स अपनाएं-
  • बॉडी को हाइड्रेट रखें ज‍िसके ल‍िए पर्याप्‍त मात्रा में पानी का सेवन करती रहें, इससे ब्‍लड फ्लो अच्‍छा रहेगा और आप ड‍िप्रेशन से बच सकेंगी।
  • अपनी डाइट में प्रोटीन और फाइबर र‍िच फूड्स एड करें, फल और सब्‍ज‍ियों में फाइबर और एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स मौजूद होते हैं ज‍िससे ड‍िप्रेशन कम होता है।
  • आपको ड‍िप्रेशन की समस्‍या से बचने के ल‍िए रोजाना कम से कम 30 म‍िनट मेड‍िटेशन और ड‍िप ब्रीद‍िंंग एक्‍सरसाइज करनी चाह‍िए।        

अगर आपको ड‍िप्रेशन महसूस हो रहा है तो डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें। प्रेग्नेंसी के दौरान मनोचिकित्सक और गायनेकोलॉजिस्ट के संपर्क में रहना चाह‍िए। 

main image source: madisonwomenshealth

Disclaimer