क्या रात में कपालभाति प्राणायाम कर सकते हैं? जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें

वजन कम करने के ल‍िए कारगर माना जाने वाला कपालभात‍ि प्राणायम न‍िश्‍च‍ित समय पर क‍िया जाए तो ज्‍यादा फायदेमंद होता है, आइए जानते हैं इससे जुड़ी बातें

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 27, 2021
क्या रात में कपालभाति प्राणायाम कर सकते हैं? जानें इससे जुड़ी जरूरी बातें

कपालभात‍ि प्राणायाम एक तरह की ब्रीद‍िंग एक्‍सरसाइज है। कपालभाति को बैठकर क‍िया जाता है। कपालभाति को वजन कम करने के ल‍िए फायदेमंद माना जाता है पर कुछ लोगों के मन में शंका होता है क‍ि क्‍या हम कपालभात‍ि प्राणायाम को शाम में कर सकते हैं। दरअसल ऑफ‍िस या काम के चलते कई लोग सुबह जल्‍दी उठकर एक्‍सरसाइज नहीं कर पाते और शाम के समय वो एक्‍सरसाइज को करें तो क्‍या ये फायदेमंद होगा? लखनऊ के रवींद्र योगा क्लीनिक के योगा एक्सपर्ट डॉ रवींद्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया क‍ि आपको योगा को शाम तक पूरा कर लेना चाह‍िए क्‍योंक‍ि बॉडी शाम के बाद थकने लगती है, कुछ एक्‍सरसाइज या योग आपकी बॉडी को एनर्जी देते हैं ऐसे में इन्‍हें रात में करने से आपकी स्‍लीप‍िंग साइक‍िल खराब हो सकती है। इस लेख में हम कपालभात‍ि से जुड़े सवालों पर चर्चा करेंगे।

kapalbhati precautions

(image source:asmy.org)

क्‍या रात के समय कपालभात‍ि कर सकते हैं? (Is it ok to do kapalbhati at night) 

आपको कपालभात‍ि को रात के दौरान करना अवॉइड करना चाहि‍ए। कपालभात‍ि को करना है तो आप उसे शाम‍ तक कर लें और योग व खाने के बीच कुछ घंटों का फर्क जरूर रखें। कपालभात‍ि को करने से पहले क‍िसी योग एक्‍सपर्ट से बात कर लें ताक‍ि आपको योग करने से सही तरीका पता चल जाए। अगर आप अस्‍थमा या ब्रोन्‍काइट‍िस जैसी बीमार‍ियों के मरीज हैं तो क‍िसी ट्रेन्‍ड व्‍यक्‍त‍ि के अंडर ही योग करें।

इसे भी पढ़ें- कपालभाति प्राणायाम से शरीर को होते हैं ये 10 फायदे, जानें इसे करने का सही समय और तरीका

रात को कपालभात‍ि करने के नुकसान (Side effects of doing Kapalbhati at night) 

  • अगर आप रात को कपालभात‍ि प्राणायाम करते हैं तो आपकी नींद खराब हो सकती है ज‍िससे आप पूरे द‍िन थकान महसूस करेंगे। 
  • योगा या मेड‍िटेशन को सही ढंग से करने के ल‍िए आपको अच्‍छी नींद की जरूरत होती है अगर आप नींद नहीं पूरी करेंगे तो योगा ठीक ढंग से नहीं कर पाएंगे।
  • ज‍िन लोगों को हाइपरटेंशन की समस्‍या यानी हाई बीपी की समस्‍या होती है उन्‍हें कपालभात‍ि प्राणायम नहीं करना चाह‍िए।

कपालभात‍ि करने का सही समय (Right time to do Kapalbhati) 

kapalbhati at night

(image source:blogspot.com)

आपको सुबह के समय कपालभात‍ि करना चाह‍िए क्‍योंक‍ि इस प्राणायाम को करने से शरीर को एनर्जी म‍िलती है ज‍िसकी जरूरत आपको सुबह होगी। आप शाम के समय खाली पेट कपालभात‍ि प्राणायाम कर सकते हैं। अगर आप शाम के समय कपालभात‍ि अवॉइड करना चाहते हैं तो उसकी जगह अनुलोम-व‍िलोम या भ्रामरी प्राणायम भी कर सकते हैं। इससे आपका द‍िमाग भी शांत होगा और आप गहरी नींद सो सकेंगे। आप कपालभात‍ि को दौड़ने के पहले और बाद में भी कर सकते हैं पर इसे करने का सबसे अच्‍छा तरीका है क‍ि आप इसे सुबह खाली पेट करें।

इसे भी पढ़ें- मोटापा कम होता है कपाल भाति से

कपालभात‍ि करने के तुरंत बाद खाना खा सकते हैं? (Eating immediately after Kapalbhati) 

आप कपालभात‍ि करने के कम से कम पांच घंटे बाद खाना खाएं। अगर आप तुरंत खा लेंगे तो कपालभात‍ि प्राणायाम से म‍िली एनर्जी खाने और डाइजेशन में कन्‍ज्‍यूम हो जाएगी। हालांक‍ि कपालभात‍ि करने में आपको ज्‍यादा समय नहीं लगता पर इसे सही तरीके से करना जरूरी है। 

रात में प्राणायाम करते समय इन बातों का ध्‍यान रखें (Points to remember while doing yoga during night)

  • अगर आप रात के समय कपालभात‍ि कर रहे हैं तो आपको ये ध्‍यान देना होगा क‍ि आप खाने के तुरंत बाद योग न करें। 
  • खाने और योगा करने में कम से कम चार से पांच घंटों का गैप होना चाह‍िए। 
  • अगर आप खाना 8 बजे खा लेते हैं तो आप 11 बजे के आसपास योगा कर सकते हैं। 
  • अगर आपकी बॉडी थकी हुई है तो आपको योगा करने का फायेदा नहीं म‍िलेगा, इसल‍िए रात को योग अवॉइड करें। 

अगर आप हार्ट के मरीज हैं तो कपालभात‍ि को करते समय आप हल्‍के-हल्‍के सांस छोड़ें और इस क्र‍िया को गर्भवती मह‍िला न करें।

(main image source:cdnparenting)

Read more on Yoga in Hindi 

Disclaimer